• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • संघर्षों से निकलीं संगीता बलवंत, जानिए क्यों है खास पूर्वांचल की सियासत में इनका मंत्री बनना

संघर्षों से निकलीं संगीता बलवंत, जानिए क्यों है खास पूर्वांचल की सियासत में इनका मंत्री बनना

पूर्वांचल की सियासत में अहम है संगीता बलवंत का मंत्री बनना.

पूर्वांचल की सियासत में अहम है संगीता बलवंत का मंत्री बनना.

Sangeeta Balwant: संगीता बलवंत वर्ष 2017 में विधायक बनने से पहले गाजीपुर जिला पंचायत सदस्य भी रह चुकी हैं. गाजीपुर पीजी कालेज से पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद यूपी कालेज वाराणसी से एलएलबी किया. यहां तक पहुंचने के लिए उन्होंने काफी संघर्ष किया है.

  • Share this:

गाजीपुर. गाजीपुर (Ghazipur) सदर विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक संगीता बलवंत (Sangeeta Balwant) को योगी सरकार में मंत्री बनाये जाने पर उनके परिजनों में खुशी का माहौल है. उन्हें राज्यमंत्री बनाया गया. इस खबर के बाद संगीता बलवंत के समर्थकों में खासा उत्साह दिखा.

गाजीपुर सदर सीट से बीजेपी एमएलए संगीता बलवंत छात्र जीवन से ही राजनीति में सक्रिय रही हैं. बीजेपी विधायक संगीता बलवंत गाजीपुर पीजी कालेज छात्रसंघ उपाध्यक्ष निर्वाचित हुई थीं. संगीता बलवंत वर्ष 2017 में विधायक बनने से पहले गाजीपुर जिला पंचायत सदस्य भी रह चुकी हैं. गाजीपुर पीजी कालेज से पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद उन्होंने यूपी कालेज वाराणसी से एलएलबी किया. उन्होंने पीएचडी की उपाधि भी हासिल की है. फिलहाल उनके मंत्री बनने की खबर से उनके परिवार के लोग खुश नजर आ रहे हैं.

संघर्षपूर्ण रहा जीवन

करंडा ब्लाक के बड़सरा गांव निवासी पाेस्टमैन रामसूरत की बेटी विधायक डा. संगीता बलवंत का जीवन संघर्षपूर्ण रहा है. छात्र जीवन से ही वह राजनीति में जुड़ी रहीं. लु्र्दस कांवेन्ट बालिका इंटर कालेज से इंटरमीडिएट करने के बाद उन्होंने स्नातकोत्तर महाविद्यालय में प्रवेश लिया. 1997 में पीजी कालेज से छात्रसंघ का चुनाव लड़ा, जिसमें उपाध्यक्ष चुनी गईं. वर्ष 2005 में सदर तृतीय से जिला पंचायत का चुनाव लड़ीं और रिकार्ड तोड़ 6600 मत पाकर जीत दर्ज की. वर्ष 2017 में सदर विधानसभा भाजपा के टिकट पर विधायक चुनी गईं. संघर्षों की बदौलत ही उन्हें नेशनल वीमेन वेलफेयर दिल्ली में प्रदेश का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला. उन्हें महिला आयोग समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया गया. 20 फरवरी 2020 को दिल्ली के विज्ञान भवन में उन्हें आदर्श युवा विधायक सम्मान से सम्मानित किया गया. इस वर्ष यह सम्मान पाने वाली डा. संगीता प्रदेश में इकलौती विधायक थीं.

पोस्टमैन थे पिता

डॉ. संगीता बलवंत का जन्म गाजीपुर में हुआ. इनके पिता स्व. रामसूरत बिंद रिटायर्ड पोस्टमैन थे. छात्र जीवन से ही उनको राजनीति का शौक रहा है. इसके साथ-साथ उन्हें पढ़ाई और कविता का बहुत शौक है. इनका विवाह स्थानीय जमानियां कस्बा में डॉ. अवधेश से हुआ है, जो पेशे से होम्योपैथिक चिकित्सक हैं. डॉ. संगीता बिंद (ओबीसी) जाति से आती हैं और पूर्वांचल में ये वोट बैंक काफी संख्या में है. भारतीय जनता पार्टी से इनका जुड़ाव 2014 के लोकसभा चुनावों के दौरान हुआ, मनोज सिन्हा की करीबी मानी जाने वाली डॉ. संगीता बलवंत को 2017 में वर्तमान एलजी (J&K) के प्रयासों से ही टिकट मिला और ये गाजीपुर, सदर सीट से भारतीय जनता पार्टी की वर्तमान विधायक हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज