Home /News /uttar-pradesh /

आंदोलन खत्म लेकिन अभी नहीं खुलेगा गाजीपुर बॉर्डर, किसान नेताओं ने कहा- 11 दिसंबर बाद होगा फैसला

आंदोलन खत्म लेकिन अभी नहीं खुलेगा गाजीपुर बॉर्डर, किसान नेताओं ने कहा- 11 दिसंबर बाद होगा फैसला

आंदोलन समाप्त लेकिन गाजीपुर बॉर्डर अभी नहीं खुलेगा.

आंदोलन समाप्त लेकिन गाजीपुर बॉर्डर अभी नहीं खुलेगा.

Kisan Andolan: लम्बे समय से चले आ रहा किसान आंदोलन हालांकि अब समाप्त हो गया लेकिन किसानों को अभी बॉर्डर से हटने में समय लगेगा. गाजीपुर बॉर्डर पर बैठे किसान सबसे बाद में यहां से जाएंगे. प्रतिनिधियों के अनुसार 11 दिसम्बर को इसे लेकर फैसला लिया जाएगा, जत तक गाजीपुर बॉर्डर नहीं खुलेगा.

अधिक पढ़ें ...

    गाजीपुर. लम्बे समय से किसान आंदोलन को गुरुवार को खत्म करने की घोषणा कर दी गई. सरकार की ओर से किसानों की मांगे मानते हुए उनके पक्ष में निर्णय लिया गया था जिसके कारण किसानों ने अब यह निर्णय लिया है. लेकिन गाजीपुर बॉर्डर पर बैठे नेताओं का कहना है कि इस जगह से सबसे बाद में किसान रुख करेंगे. इसके लिए 11 दिसम्बर को समय तय होगा तब तक गाजीपुर बॉर्डर नहीं खुलेगा.
    गौरतलब है कि 381 दिन बाद किसानों ने गाजीपुर से अपने टेंट हटाने की घोषणा की है. संयुक्त किसान मोर्चा के नेता दर्शन पाल सिंह ने इसकी जानकारी दी है.

    दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन के लिए बैठे किसान आंदोलन समाप्ति की घोषणा के बाद 11 दिसम्बर से सिंधु और गाजीपुर बॉर्डर समेत अन्य सभी जगहों से घर लौटना शुरू कर देंगे. बॉर्डर से लौटने के बाद 13 दिसम्बर को किसान अमृतसर स्थित स्वर्ण मंदिर में अरदास भी करेंगे और फिर अपने अपने घर पहुंचेंगे. गौरतलब है कि सरकार की ओर से दिए गए प्रस्ताव पर किसानों की सैद्धांतिक सहममि पहले ही बन चुकी थी. गुरुवार पर इस पर लम्बी चर्चा के बाद निर्णय लिया गया. इस वार्ता में किसान संगठन के कई प्रतिनिधि शामिल हुए थे.

    किसान पंजाब के सभी टोल प्लाजा से भी हटेंगे. टोल प्लाजा पर धरने 15 दिसम्बर को हटाए जाएंगे. ऐसे में माना जा रहा है कि 15 तारीख के बाद पंजाब की सड़कों पर टोल टैक्स शुरू हो जाएगा. खबरो के अनुसार किसानों ने बॉर्डर से टेंट और लंगर हटवाना शुरू कर दिया है.

    संयुक्त किसान मोर्चा के प्रतिनिधि बलबीर सिंह रजेवाल के अनुसार 15 जनवरी को एक समीक्षा बैठक होनी है. इस बैठक में यह चिंतन किया जाएगा कि आंदोलन से क्या मिला और सरकार ने कितनी मांगों को माना. किसान आंदोलन से जुड़े अन्य ​प्रतिनिधियों के अनुसार समय समय पर किसान समीक्षा करते रहेंगे. यदि सरकार वादा खिलाफी करती है तो फिर से किसान सड़कों पर उतर आएंगे.

    Tags: Farmers Protest, Ghazipur Border, Ghazipur news, Kisan Aandolan

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर