अपना शहर चुनें

States

गाजीपुर के अधिकारियों को लग रहा चूहों से डर

गाजीपुर जिला प्रशासन इन दिनों चूहों से बेहद डरा हुआ है। इसी डर को खत्‍म करने के लिए प्रशासन ने मतदान से पहले चूहों को मारने का आदेश जारी किया है। इसकी वजह यह है कि चुनाव में इस्तेमाल होने वाली ईवीएम पर चूहों का खतरा मंडरा रहा है।
गाजीपुर जिला प्रशासन इन दिनों चूहों से बेहद डरा हुआ है। इसी डर को खत्‍म करने के लिए प्रशासन ने मतदान से पहले चूहों को मारने का आदेश जारी किया है। इसकी वजह यह है कि चुनाव में इस्तेमाल होने वाली ईवीएम पर चूहों का खतरा मंडरा रहा है।

गाजीपुर जिला प्रशासन इन दिनों चूहों से बेहद डरा हुआ है। इसी डर को खत्‍म करने के लिए प्रशासन ने मतदान से पहले चूहों को मारने का आदेश जारी किया है। इसकी वजह यह है कि चुनाव में इस्तेमाल होने वाली ईवीएम पर चूहों का खतरा मंडरा रहा है।

  • News18
  • Last Updated: April 24, 2014, 5:09 PM IST
  • Share this:
गाजीपुर जिला प्रशासन इन दिनों चूहों से बेहद डरा हुआ है। इसी डर को खत्‍म करने के लिए प्रशासन ने मतदान से पहले चूहों को मारने का आदेश जारी किया है। इसकी वजह यह है कि चुनाव में इस्तेमाल होने वाली ईवीएम पर चूहों का खतरा मंडरा रहा है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, गाजीपुर के अधिकारी जंगीपुर कृषि मंडी के सैकड़ों चूहों से इस कदर डरे हुए हैं कि एडीएम ने ईवीएम की सुरक्षा के लिए उन्हें मारने तक का आदेश दे दिया है।

उन्होंने इसके लिए जिला कृषि अधिकारी से कहा है कि वे 12 मई से पहले चूहों को मारना सुनिश्चित करें। जिला प्रशासन को आशंका है कि ये चूहे वहां स्‍ट्रॉंग रूम में रखी जाने वाली ईवीएम की सील को कुतर सकते हैं।



गाजीपुर में 12 मई को लोकसभा चुनाव के लिए 2452 बूथों पर मतदान कराया जाएगा। इसके बाद सभी ईवीएम को जंगीपुर स्थित मंडी समिति के आठ कमरों में रखा जाएगा। यहीं पर 16 मई को लोकसभा चुनाव की मतगणना होगी।
पिछले दिनों एडीएम जितेंद्र कुमार मंडी समिति जंगीपुर का निरीक्षण किया था। निरीक्षण में उन्होंने पाया कि यहां पर बड़ी संख्या में चूहे हैं, जिनसे जंगीपुर मंडी में रखी ईवीएम को खतरा हो सकता है। इसकी वजह यह है कि जिस केमिकल से ईवीएम को सील किया जाता है उसे चूहे उसे बड़े चाव से खाते हैं।

ऐसे में प्रशासन को चिंता है कि अगर चूहों ने ईवीएम की सील को कुतर दिया तो इस पर दल आपत्ति कर सकते हैं। इसके बाद एडीएम ने जिलाधिकारी से सुझाव लेने के बाद जिला कृषि अधिकारी को चूहों को मारने का आदेश दे दिया है।

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज