गाजीपुर: शवों के अंतिम संस्कार के लिए जरूरतमंद लोगों को लकड़ी बैंक से मुफ्त मिलेगी लकड़ियां

श्मशान घाट के पास खोले गए इस लकड़ी बैंक से जरूरतमंद कोई भी शवों की अंत्येष्टि के लिए मुफ्त लकड़ियां ले सकता है

श्मशान घाट के पास खोले गए इस लकड़ी बैंक से जरूरतमंद कोई भी शवों की अंत्येष्टि के लिए मुफ्त लकड़ियां ले सकता है

गाजीपुर के कुछ सामाजिक कार्यकर्ताओं ने शवों के अंतिम संस्कार के लिए लकड़ियों की कमी को देखते हुए श्मशान घाट के पास लकड़ी बैंक (Wood Bank) खोला है. इस लकड़ी बैंक से जरूरतमंद कोई भी व्यक्ति मृतक के अंत्येष्टि के लिए लकड़ियां ले सकता है

  • Share this:

गाजीपुर. उत्तर प्रदेश के गाजीपुर (Gazipur) में कोरोना आपदा के दौरान गरीबों और असहायों की मदद के लिए युवाओं ने लकड़ी बैंक बनाया है. सामाजिक कार्यकर्ताओं ने शहर के श्मशान घाट (Crematorium) पर लकड़ी बैंक बनाया है. इसमें कोई भी सामर्थ्यवान लकड़ी डोनेट कर सकता है. इस लकड़ी बैंक से जरूरतमंद लोग कोरोना संक्रमण (Corona Virus) की वजह से अपनी जान गंवाने वालों के अंतिम संस्कार के लिए लकड़ियां ले सकते हैं.

कोरोना काल में लोगों की लगातार हो रही मौत से उनके अंतिम संस्कार के किये लकड़ियों की कमी हो रही है. दुख की इस घड़ी में लोगों को अपनों की अंत्येष्टि के लिए मंहगे दामों पर लकड़ी खरीदनी पड़ रही है. इसके चलते बड़ी संख्या में गरीब लोग मृतकों का दाह संस्कार करने के बजाय उनके शवों को या तो नदियों में प्रवाहित कर दे रहे हैं, या फिर उन्हें दफना दे रहे हैं. लकड़ी की किल्लत और ऊंचे दामों के चलते गरीबों को रीति रिवाज से मृतकों की अंत्येष्टि करने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है.

गाजीपुर के सामाजिक कार्यकर्ताओं ने लोगों को इस समस्या से निजात दिलाने के लिए लकड़ी बैंक खोला है. श्मशान घाट पर बनाये गए लकड़ी बैंक से जरूरतमंद कोई भी व्यक्ति अंत्येष्टि के लिए लकड़ियां ले सकता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज