गाजीपुरः जिले में बेअसर रहा नो हेलेमट, नो पेट्रोल का फरमान

नो हेलमेट, नो पेट्रोल के फरमान के प्रति जिला प्रशासन, पुलिस और परिवहन विभाग का रवैया उदासीन होने से लोगों के जीवन की सुरक्षा को लेकर लागू किया गया फरमान अप्रसांगिक हो गया है.

ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 22, 2018, 9:12 PM IST
ETV UP/Uttarakhand
Updated: February 22, 2018, 9:12 PM IST
गाजीपुर जिले में महत्वाकांक्षी 'नो हेलमेट, नो पेट्रोल' का फरमान बेअसर नज़र आ रहा है, जिसका असर जिले के किसी भी पेट्रोल पंप पर देखा जा सकता है, जहां बगैर हेलमेट किसी को भी आसानी से पेट्रोल पंप पर पेट्रोल वितरित किया जा रहा हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक नो हेलमेट नो पेट्रोल फरमान को पेट्रोल पंप संचालकों द्वारा संजीदगी से नहीं से फेल होता दिख रहा है. नो हेलमेट, नो पेट्रोल के फरमान के प्रति जिला प्रशासन, पुलिस और परिवहन विभाग का रवैया उदासीन होने से लोगों के जीवन की सुरक्षा को लेकर लागू किया गया फरमान अप्रसांगिक हो गया है.

गौरतलब है जीवन की सुरक्षा के प्रति लोगों को जागरुक करने के उद्देश्य से सरकार ने दो पहिया वाहन चालकों के लिए हेलमेट की अनिवार्यता का फरमान जारी किया था, लेकिन संबंधित विभागों की बेपरवाही के चलते सरकारी फरमान पर पूरी तरह से पानी फिर गया है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर