अपना शहर चुनें

States

मॉब लिंचिंग का शिकार क्यों हो रही है यूपी पुलिस, विपक्ष का सीएम योगी आदित्यनाथ के 'ठोको मंत्र' पर आरोप

योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)
योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

योगी राज में मॉब लिंचिंग की घटनाओं का जवाब देते हुए बीजेपी के प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने कहा कि दोनों ही घटनाओं पर सरकार ने कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 31, 2018, 1:07 PM IST
  • Share this:
नए साल से पहले बुलंदशहर और गाजीपुर की हिंसा पर भारी पड़ी योगी सरकार की एनकाउंटर नीति. जहां बुलंदशहर में हुई हिंसा में एक दारोगा समेत 2 लोगों की मौत ने पूरे प्रदेश में हड़कंप मचा दिया था. वहीं यूपी के गाजीपुर में पथराव में एक पुलिस कांस्टेबल की मौत हो गई है. इस मामले में विपक्ष ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े करते हुए कहा है कि लोकतंत्र में भीड़तंत्र का हावी होना सरकार की मंशा पर सवाल खड़े करता है.

न्यूज 18 से बातचीत में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने योगी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा, मॉब लिंचिंग की बढ़ती घटनाओं के पीछे सीएम योगी ने 'ठोको मंत्र' दिया है.' जिसका असर आपके सामने है, आज खाकी वाले जनता को ठोक रहे है और जनता खाकी वर्दी वालों को ठोक रही हैं.

मृतक कांस्टेबल का बेटा बोला- पुलिस अपनी सुरक्षा नहीं कर पा रही, मुआवजे से हम क्‍या करें



अनुराग भदौरिया ने कहा कि प्रदेश में ऐसी सरकार कभी नहीं देखी जहां खुलेआम मंच से पूर्वांचल विश्वविद्यालय के वीसी छात्रों को हत्या करने की नसीहत देते नजर आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि जेल के अंदर से लेकर बाहर तक सिर्फ बाबा का 'ठोको मंत्र' ही हावी हो रहा है. उधर इस मामले में कांग्रेस के प्रवक्ता हिलाल निकवी ने कहा कि बुलंदशहर हिंसा में आरोपियों पर सरकार का संरक्षण का नतीजा है कि गाजीपुर में पीएम मोदी की रैली के बाद सिपाही की पीट-पीटकर हत्या कर देना.
गाजीपुर हिंसा पर बोले अखिलेश- CM मंच और सदन में कहते हैं 'ठोक दो', इसलिए हुई घटना

योगी राज में मॉब लिंचिंग की घटनाओं का जवाब देते हुए बीजेपी के प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने कहा कि दोनों ही घटनाओं पर सरकार ने कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए है. उन्होंने कहा कि समाज में कड़ा संदेश देने के लिए सरकार ने आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी करते हुए रासुका के तहत कार्रवाई करने का आदेश दिए हैं. वहीं मृतक सिपाही सुरेश वत्स की पत्‍नी के लिए 40 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है. वहीं पत्‍नी को पेंशन और माता-पिता के लिए 10 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान भी किया है.

गाजीपुर हिंसा: कांस्‍टेबल की मौत को निषाद पार्टी ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण

भीड़तंत्र के शिकार बनते वार्दी वालों के सवाल का जवाब देते हुए यूपी के एडीजी कानून व्यवस्था आनंद कुमार ने कहा कि पुलिसकर्मियों पर हमला एक बहुत बड़ी घटना है, लेकिन इसके पीछे राजनीतिक सियायत है. उन्होंने कहा कि मॉब लिंचिंग की बढ़ती घटनाओं को रोकने के लिए सामूहिक प्रयास की जरुरत है. क्योकि भीड़ को एक तबका पीछे से भड़काता है. जिसका नतीजा है बुलंदशहर और गाजीपुर की घटना. इस मामले में हमने कड़ी कार्रवाई करते हुए 32 नामजद प्रदर्शनकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. जिसमें 12 आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है.

गाजीपुर हिंसा मामले में 100 से अधिक प्रदर्शनकारियों के खिलाफ केस दर्ज, अब तक 11 गिरफ्तार

यूपी के पूर्व डीजीपी विक्रम सिंह ने कहा कि ऐसी घटनाएं तभी होती है जब पुलिस की अपराधियों पर निगरानी खत्म हो जाती है. तो लोग ऐसा दुस्साहस करते है. आज लोगों के मन में बैठ चुका है कि किसी भी घटना के बाद उसका कुछ नहीं होगा. उन्होंने कहा कि धारा 107/16 यानी पाबंद की कार्रवाई अब नहीं हो रही है. आज यूपी पुलिस लैपटॉप और कंप्यूटर की डिजिटल व्यवस्था में सिमट कर रह गई है. जिसके कारण पुलिसकर्मियों पर हमले हो रहे हैं.

यह भी पढ़ें:

भदोही में बाइक सवार को बचाने में पलटी पिकअप, 3 लोगों की दर्दनाक मौत

माफिया अतीक अहमद पर कसेगा शिकंजा, प्रमुख सचिव गृह ने एडीजी जेल से तलब की रिपोर्ट

सुर्खियां: CM योगी बोले- भाजपा सरकार के खिलाफ साजिश कर रही सपा, आतंकियों के निशाने पर यूपी

अखिलेश यादव बोले- जल्द उठेगा महागठबंधन के सस्पेंस से पर्दा

कांग्रेसी नेता मसूद के बिगड़े बोल, कहा-नेताओं को कपड़ा पहनना और राजनीति करना सिखाया 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज