कोरोना महामारी में उठा मां-बाप का साया, अब 16 वर्षीय शिवा के सामने 6 बच्चों को पालने की चुनौती

कोरोना संक्रमण के चलते माता-पिता की मौत होने से कई बच्चे अनाथ हो गए हैं (फाइल फोटो)

कोरोना संक्रमण के चलते माता-पिता की मौत होने से कई बच्चे अनाथ हो गए हैं (फाइल फोटो)

गोंडा के तरहर गांव में राम दुलारे सोनी और उनकी पत्नी कुसलावती देवी महमारी की भेंट चढ़ गई. पति पत्नी की मौत के बाद 6 बच्चों का हंसता खेलता बचपन बिखर गया. इसके बाद 16 साल की शिवा के कंधों पर 6 बच्चों को पालने की जिंमेदारी है.

  • Share this:

गोंडा. कोरोना महामारी ने किसी की जिंदगी छीनी तो किसी का रोजगार छीन लिया. कई परिवार पूरी तरह से बिखर गए. रामदुलाने का परिवार भी इन्हीं में से एक है जिसकी जिंदगी पल भर में बेपटरी हो गई. जनपद मुख्यालय से 15 किलोमीटर दूर राम नगर के तरहर गांव में राम दुलारे का परिवार रहता था. सब कुछ ठीक ठाक चल रहा था कि अचानक कोरोना की पहली लहर ने उसको सांस की बीमारी से जकड़ लिया. पहले राम दुलारे सोनी को काल ने निगला, फिर कुछ महीने बाद उसकी पत्नी कुसलावती देवी भी महमारी की भेंट चढ़ गई. पति पत्नी की मौत के बाद 6 बच्चों का हंसता खेलता बचपन बिखर गया. सबसे बड़े बेटे शिवा सोनी के ऊपर अब पूरे परिवार का बोझ है. बटी बेटी रोशनी सरकार से अपील कर रही है कि उसको पढ़ाई करनी है और अपने नाम को चरितार्थ करना है.

राम दुलारे सोनी और उनकी पत्नी की मौत के बाद अब पूरा परिवार बिखरा है. रहने की दिक्कत और खाने की दिक्कत दोनों मुंह बाएं खड़ी है. एक कमरे में सब लोग जिंदगी गुजारने को मजबूर हैं. शिवा का कहना है कि उसको अपने भाई बहन को पढ़ाना है. उनको पालना है. वह सरकार से मदद की भी गुहार लगा रहा हैं. उनके ऊपर अपने एक भाई और चार बहनों का भरण पोषण करने की चुनौती है. शिवा के अलावा परिवार में रोशनी, चंदा, बजरंगी, काजल, मोहिनी हैं, जिनको मदद की दरकार है. वहीं राम नगर तरहर गांव के ग्राम प्रधान प्रतिनिधि अंकित पांडेय से जब हमने बात की तो उनका कहना है कि जो भी सरकारी योजना का लाभ दिलाया जा सकता है वह दिलाया जायेगा.

Youtube Video

वहीं, जिले के जिम्मेदारों का कहना है कि ऐसे परिवारों का आंकड़ा जुटाया जा रहा है और उनको सरकार की योजनाओं का लाभ दिलाया जायेगा. हेल्पलाइन नम्बर जारी किया गया है. ऐसे परिवारों की सूचना दी जा सकती है, जिससे उनको योजनाओं से आच्छादित किया जा सके. जिला प्रोबेशन अधिकारी जयदीप सिंह ने न्यूज 18 से बताया की केंद्र और राज्य सरकार ऐसे परिवारों को चिह्नित कर मदद करने की कवायद में जुटी हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज