Gonda news

गोंडा

अपना जिला चुनें

बलरामपुर में दर्दनाक सड़क हादसा, कार सवार 6 लोगों की मौत

बलरामपुर में दर्दनाक सड़क हादसा, कार सवार 6 लोगों की मौत

बलरामपुर में सड़क हादसे में 6 लोगों की मौत हो गई है.

Balrampur Car Accident: ग्रामीणों ने बताया कि बाइक सवार को बचाने के दौरान कार अनियंत्रित हो गई और सड़क किनारे पानी से भरे गड्ढे में पलट गई. ग्रामीणों ने घटना के फौरन बाद सभी लोगों को पानी से बाहर निकाला. पुलिस को सूचना दी लेकिन किसी की जान नहीं बची.

SHARE THIS:
बलरामपुर. उत्तर प्रदेश के बलरामपुर (Balrampur) में नेशनल हाइवे पर बड़ा सड़क हादसा हो गया है. यहां एक बाइक सवार को बचाने के चक्कर में कार पानी से भरे गड्ढे में पलट गई. हादसे में कार में सवार सभी छह लोगों की मौत (Death) हो गई है. मरने वालों में दो बच्चे भी शामिल हैं. महाराजगंज तराई थाना क्षेत्र के सिवा नगर के पास ये हादसा हुआ है.

ग्रामीणों ने बताया कि बाइक सवार को बचाने के दौरान कार अनियंत्रित हो गई और सड़क किनारे पानी से भरे गड्ढे में पलट गई. ग्रामीणों ने घटना के फौरन बाद सभी लोगों को पानी से बाहर निकाला. पुलिस को सूचना दी लेकिन किसी की जान नहीं बची. सभी लोग एक ही परिवार के बताए जा रहे हैं. नेशनल हाईवे 730 पर हुए इस हादसे सभी डेड बॉडी को अस्पताल पहुंचाया गया है.

बाइक से एक्सीडेंट के बाद अनियंत्रित कार गड्ढे में पलटी
बलरामपुर के अपर पुलिस अधीक्षक अरविंद मिश्र ने बताया कि महाराजगंज तराई थाना क्षेत्र में दुखद घटना हुई है. जानकारी के अनुसार गोंडा के तरबगंज के रहने वाला परिवार स्विफ्ट डिजायर कार पर सवार था. इसकी एक मोटरसाइकिल के साथ एक्सीडेंट हुआ, जिसमें कार अनियंत्रित होकर सड़क किनारे पानी से भरे गड्ढे में डूब गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी को निकाला और अस्पताल पहुंचाया. इनमें 3 पुरुष और 3 महिलाएं हैं. सभी को मृत घोषित किया गया है. वहीं बाइक सवार शख्स का अस्पताल में इलाज चल रहा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

BJP सांसद ब्रजभूषण शरण सिंह से पूर्व मंत्री के भाई नरेंद्र सिंह को जान का खतरा, सुरक्षा बढ़ाने के आदेश

BJP सांसद ब्रजभूषण शरण सिंह से पूर्व मंत्री के भाई नरेंद्र सिंह को जान का खतरा, सुरक्षा बढ़ाने के आदेश

Gonda News: नरेंद्र सिंह ने न्यूज 18 से बताया कि उनको सांसद ब्रजभूषण शरण सिंह से खतरा है और उनको सुरक्षा मुहैया कराई जाय. यह भी कहा कि अगर कोई घटना होती है तो प्रशासन जिम्मेदार होगा.

SHARE THIS:

गोंडा. उत्तर प्रदेश के गोंडा (Gonda) में 28 साल बाद पुराना ‘जिन्न’ निकला है और जिले में सियासी भूचाल आना तय माना जा रहा है. दरअसल पूर्व मंत्री और सपा नेता स्वर्गीय विनोद कुमार उर्फ पंडित सिंह पर हुए जानलेवा हमले में नया मोड़ आ गया है. दिसम्बर 1993 में कद्दावर सपा नेता और पूर्व मंत्री पर जानलेवा हमला हुआ था. इस जानलेवा हमले में भाजपा सांसद और कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष ब्रजभूषण शरण सिंह (Brij Bhushan Sharan Singh) समेत 5 लोगों पर जानलेवा हमले का आरोप है.

इस मामले में जिला सत्र न्यायालय और एमपी/एमएलए कोर्ट में मामला विचाराधीन है. पूर्व मंत्री पंडित सिंह की बीते 7 मई को कोरोना के चलते निधन हो गया था. पंडित सिंह और उनके छोटे भाई नरेंद्र सिंह इस मामले में गवाह थे और अब 1993 के इस मामले में पंडित सिंह के निधन के बाद इकलौते बचे गवाह ने कल यानी 1 सितंबर को गवाही दी है और अपनी व अपने परिवार को जान-माल का खतरा बताया है.

वहीं इस मामले में विशेष न्यायाधीश एमपी/एमएलए न्यायालय जितेंद्र गुप्ता ने मुख्य गवाह नरेंद्र सिंह को सुरक्षा मुहैया कराने का निर्देश दिया है. न्यायाधीश ने पुलिस अधीक्षक गोंडा को सुरक्षा मुहैया कराने का निर्देश देते हुये कहा है कि उनको और उनके परिजनों को तत्काल सुरक्षा दी जाय. नरेंद्र सिंह ने न्यूज 18 से बताया गया कि उनको सांसद से खतरा है और उनको सुरक्षा मुहैया कराई जाय. यह भी कहा कि अगर कोई घटना होती है तो प्रशासन जिम्मेदार होगा.

गोंडा: योगी सरकार के मंत्री का प्रियंका गांधी पर 'प्रहार', कहा- केवल ट्विटर पर उड़ाती हैं चिड़िया

गोंडा: योगी सरकार के मंत्री का प्रियंका गांधी पर 'प्रहार', कहा- केवल ट्विटर पर उड़ाती हैं चिड़िया

Uttar Pradesh News: गोंडा में बाढ़ प्रभावित इलाके का दौरा करने गए जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने कांग्रेस और प्रियंका गांधी पर जमकर निशाना साधाते हुए कहा कि कांग्रेस की नीतियों को पूरा देश जानता है. उन्होंने कांग्रेस की महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि ट्विटर पर चिड़िया उड़ाने से काम नहीं चलेगा, जमीन पर काम करना पड़ता है

SHARE THIS:

गोंडा. बाढ़ से मचे हाहाकार के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के निर्देश पर सूबे के जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह (Mahendra Singh) ने सोमवार को गोंडा (Gonda) पहुंचकर प्रभावित इलाके का हवाई सर्वेक्षण किया. उन्होंने इसके आस-पास के जिलों बलरामपुर, महराजगंज, सिद्धार्थनगर और गोरखपुर में भी सर्वेक्षण कर बाढ़ राहत कार्यो (Flood Relief Work) का जायजा लिया. इसके बाद जलशक्ति मंत्री ने कलेक्ट्रेट सभागार में जिला प्रशासन और बाढ़ खंड के अधिकारियों के साथ मीटिंग की. उन्होंने विधायक और बीजेपी के पदाधिकारियों के साथ भी बैठक की.

बाद में जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पूरा प्रदेश बाढ़ से सुरक्षित है, सरकार लगातार इस दिशा में काम कर रही है. उन्होंने कहा कि प्रशासनिक, सिंचाई और आपदा प्रबंधन लगातार सक्रिय है, किसी को कोई दिक्कत नहीं होने दी जायेगी. उन्होंने इस दौरान कांग्रेस और प्रियंका गांधी पर जमकर निशाना साधाते हुए कहा कि कांग्रेस की नीतियों को पूरा देश जानता है. वहीं, कांग्रेस की महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि ट्विटर पर चिड़िया उड़ाने से काम नहीं चलेगा, जमीन पर काम करना पड़ता है.

जलशक्ति मंत्री ने राम मंदिर मुद्दे पर कहा कि राम मंदिर करोड़ों लोगों की आस्था का केंद्र है इसलिए किसी को राम मंदिर से परेशानी नहीं होनी चाहिये. उन्होंने चंदा पर सवाल उठाने वालों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि समय आने पर इसका जवाब मिल जायेगा.

गोंडा में बैठक के बाद जलशक्ति मंत्री बलरामपुर के लिए रवाना हो गए.

दिव्यांग बेटी की मां बनना हुआ गुनाह, पति ने तीन तलाक देकर घर से निकाला, अब हलाला का दबाव

दिव्यांग बेटी की मां बनना हुआ गुनाह, पति ने तीन तलाक देकर घर से निकाला, अब हलाला का दबाव

Balrampur News: उत्तर प्रदेश के बलरामपुर में तीन तलाक का एक मामला सामने आया है. पीड़िता का आरोप है कि बेटी के दिव्यांग होने के कारण उसके पति ने ऐसा किया. यही नहीं अब उसका जेठ गलत नीयत से हलाला का दबाव बना रहा है.

SHARE THIS:

बलरामपुर. उत्तर प्रदेश के बलरामपुर (Balrampur) में 5 साल की बेटी का दिव्यांग होना मां के लिए गुनाह हो गया. पति ने पत्नी को तीन तलाक (Triple Talaq) देकर दो मासूम बच्चों के साथ उसे घर से भगा दिया. 5 वर्ष की दिव्यांग बेटी और डेढ़ वर्ष के मासूम पुत्र को लेकर मां अब दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर है. यही नहीं पीड़िता के जेठ ने पुनः निकाह कराने के लिए उसके साथ हलाला (Halala) की रस्म निभाने की शर्त रख दी है. इस बात से पीड़िता सदमे में है और एसपी को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है.

मामला तुलसीपुर थाना क्षेत्र के लाल चौराहे का है. पीड़िता रफत राबिया की शादी 29 दिसंबर 2015 में कोतवाली नगर क्षेत्र के गोविंद बाग निवासी आदिल अहमद के साथ हुई थी. एसपी हेमंत कुटियाल को दिए गए प्रार्थना पत्र में पीड़िता ने आरोप लगाया है कि उसकी 5 वर्षीय पुत्री पूर्णतः दिव्यांग है, जबकि डेढ़ वर्ष का पुत्र भी सुचारू रूप से बोल नहीं पाता है. पीड़िता ने आरोप लगाया है कि उसका पति और ससुराल वाले आये दिन दिव्यांग बेटी को जन्म देने का ताना देते थे और पीड़िता को दहेज लाने के लिए लगातार प्रताड़ित भी करते थे. पीड़िता ने कहा कि उसके पति और ससुराल वालों ने 17 जुलाई, 2021 को उसे बेरहमी से मारा-पीटा.

बाद में पति आदिल ने उसकी इच्छा के विरुद्ध तीन तलाक देकर पीड़िता को उसके नाबालिग बच्चों सहित घर से भगा दिया. पीड़िता इस घटना के बाद अपने मां के घर रहने लगी. इस दौरान ससुराल पक्ष के लोगों को समझाने बुझाने का प्रयास किया लेकिन कोई परिणाम नहीं निकला. पीड़िता भी यह सोचकर इंतजार करती रही कि शायद उसका पति सब कुछ भूलकर और बच्चों पर तरस खाकर उसे सहारा दे देगा.

लेकिन 25 अगस्त को पति आदिल अहमद अपने दो भाइयों जमील अहमद और अकील अहमद के साथ पीड़िता के मां के घर पहुंचा और उसे भद्दी-भद्दी गालियां देते हुए कहा कि तुझे तलाक तो दे ही दिया है अब तुम पर हमारा कोई मतलब नहीं है. पीड़िता ने आरोप लगाया है कि उसके जेठ जमील अहमद और अकील अहमद ने उसका शारीरिक शोषण करने के उद्देश्य से कहा कि हमारे साथ हलाला कर लो फिर हम तुम्हारा पुनः निकाह आदिल अहमद से करवा देंगे.

इस घटना के बाद से पीड़िता सदमे में है. पीड़िता ने एसपी हेमंत कुटियाल से मिलकर न्याय की गुहार लगाई है. एसपी हेमंत कुटियाल ने बताया कि मामले की जांच कराई जा रही है और दोषियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाएगी.

UP: बलरामपुर में PET परीक्षा के दौरान सामने आई चौंकाने वाली तस्वीर, जानें कैसे तय किया परीक्षा केंद्र तक का सफर

UP: बलरामपुर में PET परीक्षा के दौरान सामने आई चौंकाने वाली तस्वीर, जानें कैसे तय किया परीक्षा केंद्र तक का सफर

Balrampur News: एडीएम (ADM) अरुण कुमार शुक्ला ने बताया की सोमवार रात से हुई मूसलाधार बारिश (Heavy Rainfall) के बाद परीक्षा केंद्रों पर जलभराव हो गया था.

SHARE THIS:

बलरामपुर. यूपी के बलरामपुर (Balrampur) में मंगलवार को प्रारंभिक अर्हता परीक्षा (PET 2021) के दौरान बेहद चौंकाने वाली तस्वीर सामने आई है. जहां परीक्षार्थियों को बाढ़ के दौरान जान जोखिम में डालकर परीक्षा देनी पड़ी है. उत्तर प्रदेश सरकार की सेवाओं में समूह ‘ग’ के पदों पर भर्तियों के लिए उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UPSSSC) ने जिले में पीईटी प्रारंभिक अर्हता परीक्षा आयोजित कराई है. सोमवार रात से ही शुरू हुई मूसलाधार बारिश और जिले में बाढ़ की स्थिति से बनाए गए कई परीक्षा केंद्र जलमग्न हो गए. उन परीक्षा केंद्रो तक परीक्षार्थियों को जान जोखिम में डालकर पहुंचना पड़ा.

जिला मुख्यालय स्थित सेंट जेवियर्स हायर सेकेंडरी स्कूल को PET के परीक्षा केंद्र बनाया गया है लेकिन परीक्षा केंद्र तक परीक्षार्थियों को पहुंचने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ रही है. स्कूल से पहले तीन से चार फिट पानी बह रहा था और इसी पानी से निकलकर परीक्षा केंद्र तक परीक्षार्थी पहुंचने को मजबूर हुए.  डिप पर खतरा इतना था कि थोड़ी सी चूक डिप पार करने वालों के जान पर भारी पड़ सकती थी. नौकरी पाने के लिए परीक्षा देने आये परीक्षार्थियों ने कहा कि परीक्षा केंद्र तक पहुंचने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा.

UP Election 2022: शिवपाल यादव का छलका दर्द, बोले- अखिलेश को CM बनना है तो गठबंधन करना होगा!

परीक्षा केंद्र तक पहुंचने के लिए इस डिप पर बह रहे पानी के तेज बहाव को पार करना काफी खतरे से भरा कार्य रहा. इसके अलावा श्रीदत्तगंज ब्लॉक में कुबेरमति इंटर कॉलेज को परीक्षा केंद्र बनाया गया था. यह परीक्षा केंद्र भी चारों तरफ से जलमग्न हो गया. इस परीक्षा केंद्र तक पहुंचने के लिए भी परीक्षार्थियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. यही हाल श्रीदत्तगंज ब्लॉक के सरदार बल्लभ भाई पटेल माध्यमिक विद्यालय ग़ालिबपुर का भी रहा. इस विद्यालय में परीक्षा कक्ष में पानी भर गया था. इसी जलमग्न कक्षों में परीक्षार्थियों को परीक्षा देने के लिए मजबूर होना पड़ा.

एडीएम अरुण कुमार शुक्ला ने कहीं ये बात
इस परीक्षा के दौरान सभी जलमग्न परीक्षा केंद्रों पर अफरा-तफरी का माहौल देखने को मिला. परीक्षार्थियों का आरोप था की जिला प्रशासन को केंद्र बनाने से पहले इस ओर ध्यान देना चाहिए था. एडीएम अरुण कुमार शुक्ला ने बताया की सोमवार रात से हुई मूसलाधार बारिश के बाद परीक्षा केंद्रों पर जलभराव हो गया था. उन्होंने कहा कि इतनी जल्दी परीक्षा केंद्रों में बदलाव किया जाना संभव नहीं था. एडीएम ने कहा कि थोड़ी अव्यवस्थाएं हुई लेकिन परीक्षा सकुशल संपन्न करा ली गई.

प्रियंका गांधी वाड्रा किसी को सुखी नहीं देखना चाहती हैं: महेंद्र सिंह

प्रियंका गांधी वाड्रा किसी को सुखी नहीं देखना चाहती हैं: महेंद्र सिंह

Gonda News: योगी सरकार में जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने कहा कि कांग्रेस के जमाने में पैसा देकर भी गैस कनेक्शन नहीं मिलता था. कांग्रेस का उद्देश्य सबका साथ, अपना विकास और प्रियंका का नारा अपना विकास, बाकी सबका विनाश है.

SHARE THIS:

गोंडा. उत्तर प्रदेश के गोंडा (Gonda) जिले की दो विधानसभाओं कर्नलगंज और तरबगंज में कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करने और आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों में जान फूंकने के लिए यूपी के जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह (Jal Shakti Minister Mahendra SIngh) पहुंचे. उन्होंने यहां पर प्रियंका गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि वो किसी को सुखी नहीं देखना चाहतीं.

दरअसल योगी सरकार में जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने आज गोंडा पहुंचकर सबसे पहले बाढ़ खंड के अफसरों के साथ बैठक कर बाढ़ कार्यों परियोजनाओं और सिंचाई विभाग की नहरों की प्रगति की समीक्षा की. उन्होंने वर्षों से लंबित सरयू नहर परियोजना को इस बार पूरा करने का दावा किया. बैठक के बाद विधानसभाओं की समीक्षा करने के पहले जल शक्ति मंत्री ने कांग्रेस पार्टी की उत्तर प्रदेश प्रभारी को लेकर कहा कि प्रियंका गांधी किसी को भी सुखी नहीं देख सकती हैं. उन्होंने आगे जोड़ा कि कांग्रेस के जमाने में पैसा देकर भी गैस कनेक्शन नहीं मिलता था. मंत्री ने तंज कसा कि कांग्रेस का उद्देश्य सबका साथ, अपना विकास और प्रियंका का नारा अपना विकास, बाकी सबका विनाश है.

वहीं तालिबान को लेकर यूपी के मंत्री महेंद्र सिंह ने कहा कि विपक्ष देश की जनता को गुमराह कर रहा है. सपा पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके सांसद और जिम्मेदार लोग जिस तरह से बयानबाजी कर रहे हैं वह बेहद दुःखद है.

जल शक्ति मंत्री ने उत्तर प्रदेश में सिंचाई परियोजनाओं पर बोलते हुये कहा कि यहां पर सरयू नहर समेत तमाम परियोजनाओं पर बेहतर कार्य हुआ है. उत्तर प्रदेश में 30 लाख हेक्टेयर जमीन सिंचित की जा रही है और बाढ़ को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार सजग है. मंत्री ने कहा कि 22 जिलों का दौरा करने के बाद यह बात तय है कि कहीं भी बाढ़ राहत को लेकर बदइंतजामी नहीं है. सरकार विकास के पथ पर अग्रसर है. इस बार विधानसभा चुनाव में 350 सीटें जीतकर भाजपा सत्ता में आयेगी.

Gonda News: केंद्रीय मंत्री बोले- बीवियां 4 हों या 40, बच्चे 2 ही अच्छे, नहीं तो...

Gonda News: केंद्रीय मंत्री बोले- बीवियां 4 हों या 40, बच्चे 2 ही अच्छे, नहीं तो...

Gonda News: केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्र टेनी ने आज गोंडा में जन आशीर्वाद यात्रा से पहले ने पत्रकार वार्ता के दौरान सरकार की योजनाओं का बखान किया और जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर सख्त दिखे.

SHARE THIS:

गोंडा. आम जनमानस के बीच केंद्र और यूपी सरकार की योजनाओं का प्रचार-प्रसार करने और देश की जनता की नब्ज टटोलने के लिए भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने केंद्रीय मंत्रियों और भाजपा सांसदों के नेतृत्व में जन आशीर्वाद यात्रा निकाली है. इस यात्रा के जरिए पूरे देश में जनता के बीच जाकर और कार्यकर्ताओं के अलावा पदाधिकारियों से बैठक कर भारतीय जनता पार्टी के प्रति लोगों की आस्था जानने का प्रयास किया जा रहा है. इसी क्रम में आज केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा उर्फ टेनी के नेतृत्व में जन आशीर्वाद यात्रा गोंडा (Gonda) पहुंची.

मंत्री अजय कुमार मिश्र टेनी बहराइच होते हुए कल शाम ही गोंडा आ गए थे और सर्किट हाउस में विश्राम के बाद सुबह यात्रा निकली. यात्रा शुरू करने के पहले केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र ने पत्रकार वार्ता के दौरान सरकार की योजनाओं का बखान किया और जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर सख्त दिखे. उन्होंने भाकियू नेता गुलाम मोहम्मद पर निशाना साधते हुये कहा की बीवियां 4 हों या 40, लेकिन 2 बच्चों से ज्यादा हुये तो कानून लागू होगा. उनको सरकार द्वारा बनाए गये कानून का पालन करना होगा.

बता दें भारतीय किसान यूनियन के नेता गुलाम मोहम्मद जौला ने उत्तर प्रदेश सरकार की नई जनसंख्या नीति का मखौल उड़ाते हुए कहा था कि हम मुस्लिम चार शादियां करने के अधिकारी हैं इसलिए नए जनसंख्या कानून के तहत हमें आठ बच्चे पैदा करने की इजाजत मिलनी चाहिए.

इस दौरान केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने विपक्ष पर मानसून सत्र को नकारात्मक बनाने का भी आरोप मढ़ा और कहा कि विपक्षी दलों ने लोकसभा की परंपराओं को तोड़ने का काम किया है. वहीं मुनव्वर राणा के तालिबान समर्थन के बयान पर पलटवार किया और कहा कि मुनव्वर राणा को देश के संविधान पर विश्वास नहीं है. जब कानून उनके खिलाफ काम करता है तो उन्हें यूपी में तालिबान नजर आता है.

भारत सरकार पूरी तरह से तालिबान के खिलाफ है और देश विरोधी बयान देने वालों के खिलाफ कानून अपना काम कर रहा है. उन्होंने सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क पर भी तंज कसा और कहा कि उनसे तो उनकी पार्टी ने ही किनारा कर लिया है और ऐसे लोगों को चर्चा से बाहर रखना चाहिए.

अब्बाजान को लेकर हो रहे हंगामे पर गृह राज़्य मंत्री बोले कि समाजवादी पार्टी के लोग शब्दों को भी हिंदू-मुस्लिम की दृष्टि से देखते हैं. पत्रकार वार्ता के बाद मंत्री की जन आशीर्वाद यात्रा शुरू हुई और जिले भर में उनका जगह जगह स्वागत हुआ. अब यह यात्रा अयोध्या के लिये रवाना हो गई है.

UP Politics: बसपा के ब्राह्मण सम्मेलन को लेकर मायावती पर बरसे BJP सांसद बृजभूषण सिंह, पूछे तीन सवाल?

UP Politics: बसपा के ब्राह्मण सम्मेलन को लेकर मायावती पर बरसे BJP सांसद बृजभूषण सिंह, पूछे तीन सवाल?

2014 से पहले सभी विपक्षी दलों की मीटिंग तक तक पूरी नहीं होती थी जब तक उसमे कोई दाढ़ी वाला मौलाना न बैठा होता था. सभी पार्टियां चाहती थी कि मुस्लिम वोटों (Muslim Votes) के लिए बुखारी साहब उनके लिए अपील कर दें.

SHARE THIS:
दिल्ली/लखनऊ. ब्राह्मण इस समय उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजनीति के केंद्र में आ चुका है. विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election-2022) से पहले प्रदेश की सभी मुख्य पार्टियां ब्राह्मणों को अपने पाले में करने में जुट गई है. बसपा द्वारा किये जा रहे ब्राह्मण सम्मेलन (Brahmin Convention) पर कुश्ती संघ के अध्यक्ष और बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने करार प्रहार किया है और बसपा सुप्रीमो मायावती से तीन तीखे सवाल पूछे हैं?

न्यूज18 से बात करते हुए बृजभूषण शरण सिंह ने उत्तर प्रदेश में विपक्षी दलों द्वारा किये जा रहे ब्राह्मण सम्मलेन पर तीखी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि बसपा सपा या कांग्रेस बताए कि इन्होंने ब्राह्मणों के सम्मान के लिए किया क्या है. 2014 से पहले सभी विपक्षी दलों की मीटिंग तक तक पूरी नहीं होती थी जब तक उसमे कोई दाढ़ी वाला मौलाना न बैठा होता था. सभी पार्टियां चाहती थी कि मुस्लिम वोटों के लिए बुखारी साहब उनके लिए अपील कर दें. लेकिन 2014 के बाद से अब राजनीति बदल गयी है अब मुस्लिम वोट चाहते सब हैं लेकिन उनको कोई अपने साथ दिखाना नहीं चाहता, मंच पर बिठाना नहीं चाहता. इस परिवर्तन का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जाता है.

बृजभूषण सिंह ने मायावती से पूछे तीन सवाल!
1.ब्राह्मण सम्मेलन पर कहा मायावती बताए क्या काशीराम के बयान पर स्पष्टीकरण देंगे सतीश मिश्र जिसमें उन्होंने राम मंदिर की जगह शौचालय बनाने को कहा था.
2.क्या मायावती इस बार बिना पैसे के ब्राह्मणों को टिकट देंगी.
3. क्या मायावती से जो साधु संत, ब्राह्मण ये लोग मिलने जाएंगे तो इनके चप्पल नहीं उतरवाएंगी मायावती. सतीश मिश्र को भी अपनी चप्पल उतारकर मिलने जाना पड़ता है.

बता दें कि बृजभूषण शरण सिंह कुश्ती संघ के अध्यक्ष भी हैं. उन्होंने बताया कि वो 29 जुलाई को खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाने टोक्यो जाएंगे. कुश्ती में कम से कम 4 मैडल जरूर जीतेंगे, हो सकता है 5 भी जीत जायें. हरियाणा में उत्तरप्र देश से ज्यादा संसाधन और सुविधाएं इसलिए हरियाणा के खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन करते हैं. (रिपोर्ट- पवन गौड़/दिल्ली)

UP: विमला की गुहार पर CM योगी का एक्शन!, जानिए कैसे हरकत में आया गोंडा का प्रशासन

UP: विमला की गुहार पर CM योगी का एक्शन!, जानिए कैसे हरकत में आया गोंडा का प्रशासन

इसके अलावा जिले के सभी एसडीएम (SDM) को निर्देश दिए गए हैं कि इस प्रकार के मामलों में त्वरित कार्यवाही करें, ताकि किसी भी फरियादी को भटकना न पड़े.

SHARE THIS:
लखनऊ/गोंडा. उत्तर प्रदेश में कोरोना के केस घटने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने एक बार फिर से अपने सरकारी आवास पर जनता दर्शन शुरू कर दिया किया है. इसी कड़ी में गोंडा (Gonda) जिले के वजीरगंज थाना क्षेत्र की ग्राम खोखिया निवासी विमला देवी रास्ते के विवाद को लेकर सीएम योगी से मिलने लखनऊ पहुंची. सीएम योगी को दिए प्रार्थना पत्र में उन्होंने कहा था कि उनका घर पुरानी आबादी में है और कुछ लोगों ने जबरन दबंगई के बल पर दीवार खड़ी कर रास्ते को पूरी तरह से बंद कर दिया है, जिससे उनका आने-जाने का रास्ता पूरी तरह से बंद हो गया है. इस बारे में एसडीएम ने रास्ते को खाली कराने आदेश दिया था, लेकिन रास्ता खाली नहीं हुआ. उनकी समस्या पर सीएम योगी ने उन्हें समाधान कराने का आश्वासन दिया था.

विमला लखनऊ से अपने घर तक पहुंचतीं, इससे पहले ही जिला प्रशासन ने उन्हें 8 फिट का रास्ता दिला दिया. इस बारे में जब उनसे बात की गई, तो उन्होंने बताया कि हम घर पहुंचै वाला हईं, लेकिन फोन आ गईल बा कि राहि मिल गईल. बाबा बहुत बड़ा किरपा कइलें. विमला ने बताया कि उनके पति लुधियाना में नौकरी करते हैं और घर पर उनके दो लड़के मजदूरी कर के गुजर बसर कर रहे हैं. गोंडा डीएम मारकंडेय शाही ने बताया कि सूचना मिलते ही एसडीएम और सीओ को भेजकर दो घंटे के अंदर रास्ते की समस्या का निराकरण करा दिया गया है. इसके अलावा जिले के सभी एसडीएम को निर्देश दिए गए हैं कि इस प्रकार के मामलों में त्वरित कार्यवाही करें, ताकि किसी भी फरियादी को भटकना न पड़े.

Greater Noida: आफत की बारिश से सड़कें बनी तालाब, शहर में जगह-जगह लगा भीषण जाम

मामले का समाधान होने के बाद विपला देवी कहती हैं कि राह बिना बहुत दिक्कत होत रहल. चारों तरफ से घेर दिहले रहलअ. कौनो राहि नाहि देखाइत रहल कि का करीं. ई हमरे खरतिन सपना जइसन हवे. ओहर बाबा से मिललीं, ऐहर राहि मिल गईल. मुख्यमंत्री योगी जी कै बहुत-बहुत धन्यवाद. जब तक हमार जिनगी रही, उन कर गुणगान करअब। ‘जिनगी भर करअब बाबा कै गुणगान’.

बलरामपुरः शपथ ग्रहण के बाद BA की परीक्षा देने पहुंची जिला पंचायत अध्यक्ष आरती तिवारी

बलरामपुरः शपथ ग्रहण के बाद BA की परीक्षा देने पहुंची जिला पंचायत अध्यक्ष आरती तिवारी

Balrampur News: बलरामपुर में आरती तिवारी जिला पंचायत अध्यक्ष बनने के बाद परीक्षार्थी की भूमिका में नजर आईं. सुबह आरती के कॉलेज पहुंचते ही उसे बधाई देने वालों का तांता लग गया. प्रथम पाली में आयोजित परीक्षा में आरती तिवारी ने एक सामान्य छात्र की तरह परीक्षा दी.

SHARE THIS:
बलरामपुर. उत्तर प्रदेश के बलरामपुर (Balrampur) में जिला पंचायत अध्यक्ष (Jila Panchayat Adhyaksh) का शपथ ग्रहण करने के बाद बीए तृतीय वर्ष की परीक्षा देने पहुंची 21 वर्षीय छात्रा आरती तिवारी लोगों के आकर्षण का केंद्र बनी रही. जिले के प्रथम नागरिक के रूप में पदभार ग्रहण करने वाली आरती तिवारी अपने सहपाठियों के बीच भी कौतूहल का विषय रहीं. परीक्षा देने पहुंची आरती तिवारी को महाविद्यालय प्रशासन की ओर से जिला पंचायत अध्यक्ष बनने की बधाई दी गई. महाविद्यालय के प्राचार्य डॉक्टर आरके सिंह ने आरती तिवारी को जिला पंचायत अध्यक्ष बनने पर शुभकामनाएं दी.

प्राचार्य डॉ आरके सिंह ने कहा कि यह महाविद्यालय के लिए गौरव की बात है कि एक युवा छात्रा ने राजनीति के क्षेत्र में कदम रखते ही एक बड़ा मुकाम हासिल किया है. महाविद्यालय का परिवार उसके उज्जवल भविष्य की कामना करता है. परीक्षा देने पहुंचे आरती तिवारी के सहपाठियों ने भी उसे बधाई दी. अपने सहपाठियों के बीच आरती आकर्षण का केंद्र बनी रही. लोग कौतूहल भरी निगाहों से आरती तिवारी को देखते रहे.

सुबह आरती के कॉलेज पहुंचते ही उसे बधाई देने वालों का तांता लग गया. प्रथम पाली में आयोजित परीक्षा देने पहुंची आरती तिवारी ने एक सामान्य छात्र की तरह परीक्षा दी. जिला पंचायत अध्यक्ष बनने के बाद परीक्षार्थी की भूमिका में नजर आई आरती तिवारी ने इस नई जिम्मेदारी के साथ उच्च शिक्षा ग्रहण करने की बात कही. उन्होंने कहा की जिला पंचायत अध्यक्ष का दायित्व संभालते हुए वह खुद भी उच्च शिक्षा ग्रहण करना चाहती हैं.

UP की पंचायतों में बढ़ा महिलाओं का दखल, 31,212 ग्राम प्रधान के साथ 53.7 फीसदी प्रतिनिधित्व

आरती तिवारी जिलापंचायत अध्यक्ष के रुप में बालिकाओं की शिक्षा की दिशा में बड़े कार्य करना चाहती हैं. आरती तिवारी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की "बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ" और "पढ़ें बेटियां - बढ़े बेटियां"  जैसे नारों को धरातल पर चरितार्थ करने की इच्छा रखती हैं. गौरतलब है कि जिला पंचायत अध्यक्ष बनने के बाद 21 वर्षीया आरती तिवारी "यूथ आइकन" के रूप में उभर कर सामने आयी हैं और लोगों के बीच सहज आकर्षण का केंद्र बनी हुई हैं.

Gonda News: पत्नी की हत्या कर ट्रेन के आगे कूदा पति, सदमे में महिला के बाबा की भी गई जान

Gonda News: पत्नी की हत्या कर ट्रेन के आगे कूदा पति, सदमे में महिला के बाबा की भी गई जान

UP Crime News: वारदात जिले के कटरा बाजार थाना क्षेत्र के मझौवा धोबियन पुरवा गांव की है, जहां सिपाही लाल नाम के युवक ने अपनी पत्नी माधुरी की गड़ासे से गला काटकर नृशंस हत्या कर दी. हत्या के बाद वह भागकर गांव के बाहर रेलवे ट्रैक पर पहुंचा और सामने से आ रही ट्रेन केआगे कूद गया.

SHARE THIS:
गोंडा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के गोंडा (Gonda) जिले से दर्दनाक खबर है, जहां पति-पत्नी के रिश्ते में दरार दोनों की मौत की वजह बन गई. पति ने पहले अपनी पत्नी की धारदार हथियार से गला काटकर हत्या (Murder) कर दी और फिर खुद भी ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी. वहीं इस हत्या की सूचना जब मृतका के मायके पहुंची तो वहां उसके बुजुर्ग बाबा इस सदमें को बर्दाश्त नहीं कर सके और उन्होंने हृदयाघात के चलते दम तोड़ दिया. इस दुखद और सनसनीखेज वारदात के बाद परिजनों में कोहराम मच गया और गांव में सन्नाटा पसर गया. दूसरी ओर पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

जनपद पुलिस इसे पारिवारिक कलह का मामला बता रही है. पुलिस का कहना है कि युवक मानसिक रूप से बीमार था और इसी के चलते उसने वारदात को अंजाम दिया. फिलहाल पूरे मामले की छानबीन की जा रही है. दरअसल पत्नी की हत्या कर खुद मौत हो गले लगा लेने की यह वारदात जिले के कटरा बाजार थाना क्षेत्र के मझौवा धोबियन पुरवा गांव की है, जहां सिपाही लाल नाम के युवक ने अपनी पत्नी माधुरी की गड़ासे से गला काटकर नृशंस हत्या कर दी. हत्या के बाद वह भागकर गांव के बाहर रेलवे ट्रैक पर पहुंचा और सामने से आ रही ट्रेन केआगे कूद गया. ट्रेन की चपेट में आने से सिपाही लाल की भी मौत हो गई.

पुलिस ने कही ये बात

पति-पत्नी की मौत के बाद परिजनों में कोहराम मच गया. वहीं माधुरी के हत्या की खबर जब उसके मायके पहुंची तो उसके बुजुर्ग बाबा सुंदरलाल इस सदमे को बर्दाश्त नहीं कर सके और हृदय गति रुकने से उनकी भी मौत हो गई. इस सनसनीखेज वारदात के बाद पूरे गांव में मातमी सन्नाटा पसरा है. वहीं पुलिस हत्यारोपी मृतक पति को मानसिक रूप से बीमार बता रही है. पुलिस क्षेत्राधिकारी कर्नलगंज मुन्ना उपाध्याय का कहना है युवक मानसिक रूप से बीमार था और पारिवारिक कलह के चलते यह घटना हुई है. फिलहाल पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और विधिक कार्रवाई में जुट गई है.
Load More News

More from Other District

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज