UP: गोंडा में दोमंजिले मकान पर चढ़ 3 दलित बहनों पर फेंका एसिड, 1 की हालत नाजुक

गोंडा में तीन दलित नाबालिग बहनों पर एसिड से हमला
गोंडा में तीन दलित नाबालिग बहनों पर एसिड से हमला

हाथरस मामले (Hathras Case) की सीबीआई जांच की चर्चाओं के बीच यूपी के गोंडा (Gonda) में 3 दलित लड़कियों पर एसिड अटैक (Acid Attack) से फैली सनसनी. गोंडा के एसपी (SP) ने बताया कि घटना के कारणों की पड़ताल की जा रही है. पुलिस की टीम आरोपी की तलाश कर रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 13, 2020, 4:19 PM IST
  • Share this:
गोंडा. उत्तर प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ हिंसा (Crime Against Women) के मामले थम नहीं रहे हैं. ताजा मामला अब गोंडा (Gonda) में सामने आया है. जहां सोमवार देर शाम को 3 नाबालिग लड़कियों पर एसिड अटैक (Acid Attack) की घटना सामने आई है. वहीं, तीनों लड़कियां सगी बहनें हैं. इन्हें दलित समुदाय का बताया गया है. बताया जा रहा है कि तीनों मकान की दूसरी मंजिल पर बने घर में सोई हुई थीं. घर की खिड़की खुली हुई थी. आरोपी ने दोमंजिला मकान पर चढ़कर खिड़की से तीनों के ऊपर एसिड फेंक दिया. घटना में दो बहनें मामूली रूप से घायल हैं, जबकि एक बहन के चेहरे और शरीर के अन्य हिस्सों पर भी एसिड पड़ा है. हालांकि, एसिड फेंकने का कारण अज्ञात है.

एसिड हमले में बड़ी बहन गंभीर रूप से झुलस गई है, वहीं दो छोटी बहनों पर तेजाब की छीटें पड़े हैं. तीनों फिलहाल जिला अस्पताल में भर्ती हैं. मिली जानकारी के मुताबिक, इनकी उम्र 8, 12 और 17 साल है. तीनों पर यह हमला उनके घर पर ही हुआ. जब तीनों सो रही थीं, तब किसी अज्ञात ने तीनों पर एसिड फेंका. सूचना मिलने पर पुलिस टीम भी मौके पर पहुंच गई है. फिलहाल पुलिस घटना की जांच पड़ताल में जुटी है. फिलहाल अभी तक घटना के पीछे के कारणों का नहीं पता चल सका है. घटना की सूचना पाते ही मौके परसपुर थाने की पुलिस मौके पर पंहुची.

ये भी पढे़ं- गाजियाबाद: लापता उद्योगपति अजय पांचाल की 24 घंटे में बरामद हुई लाश, अपहरण कर हत्या की आशंका




गोंडा के एसपी शैलेश कुमार पांडेय ने बताया कि पीड़ित बच्चियों से पूछताछ की जा रही है. पुलिस की टीम आरोपी की तलाश कर रही है. बता दें कि पिछले हफ्ते भी गोंडा चर्चा में था. वहां एक पुजारी को संपत्ति विवाद में गोली मार दी गई थी. इसपर योगी सरकार को विपक्ष ने यह कहकर घेरा था कि उनके राज में साधु-संत तक सुरक्षित नहीं हैं. उधर, दलित बहनों पर यह हमला ऐसे वक्त में हुआ है जब प्रदेश की सरकार हाथरस मामले पर घिरी हुई है. हाथरस में 19 साल की एक दलित लड़की के साथ कथित गैंगरेप हुआ था, जिसके बाद इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज