बलरामपुर: गैंगरेप पीड़िता के परिवार को CM योगी से चाहिए 1 करोड़ रुपए, सरकारी आवास और नौकरी, सौंपा ज्ञापन

बलरामपुर गैंगरेप पीड़िता का परिवार डीएम को मांगपत्र सौंपता हुआ. (Photo: News 18)
बलरामपुर गैंगरेप पीड़िता का परिवार डीएम को मांगपत्र सौंपता हुआ. (Photo: News 18)

बलरामपुर (Balrampur) के डीएम ने बताया कि जो मांगें जिला प्रशासन स्तर की हैं, उसको शीघ्र ही निस्तारित कर दिया जायेगा. वहीं जो मांग शासन स्तर की हैं, उन्हें शासन के संज्ञान के लिए भेजा जा रहा है.

  • Share this:
बलरामपुर. उत्तर प्रदेश के बलरामपुर (Balrampur) में गैंगरेप पीड़िता के परिजनों (Gangrape Victim's Family) ने मंगलवार को डीएम से मुलाकात की और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) को सम्बोधित 7 सूत्रीय मांगपत्र सौंपा. पीड़ित के परिजनों ने घटना में शामिल दोषियों को फांसी की सजा दिए जाने की मांग करते हुए एक करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता की मांग की है. पीड़िता की मां की तरफ दिए गए मांगपत्र में एक सरकारी आवास, पट्टे की जमीन, पीड़िता के भाई को सरकारी नौकरी और परिवार पर खतरे को देखते हुये एक शस्त्र लाइसेंस दिए जाने की मांग की है.

अपर मुख्य सचिव और एडीजी से मुलाकात में भी की थी मांग

इसके पहले रविवार को अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश अवस्थी और एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने पिता के घर जाकर परिजनों से मुलाकात की थी. परिजनों ने उनके सामने भी यही मांगें रखी थीं. आज कलेक्ट्रेट में पीडिता की मां, पीड़ित के नाना और पीड़िता के भाई ने डीएम को मांगपत्र सौंपा. इस दौरान एसपी देवरंजन वर्मा और सीडीओ अमनदीप डुली भी मौजूद थे. डीएम कृष्ण करुणेश ने बताया कि जिला प्रशासन लगातार पीड़ित परिवार के सम्पर्क में है. आज इसी क्रम में परिवार के लोगों ने मुख्यमंत्री को सम्बोधित मांगपत्र सौंपा है.




डीएम बोले...

डीएम ने बताया कि जो मांगें जिला प्रशासन स्तर की हैं, उसको शीघ्र ही निस्तारित कर दिया जायेगा. जो मांग शासन स्तर की हैं, उन्हें शासन के संज्ञान के लिए भेजा जा रहा है.

ये है पूरा मामला

गौरतलब है कि 29 सितम्बर को गैंसडी कोतवाली क्षेत्र में कालेज छात्रा का अपहरण कर उसके साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया था. बाद में अस्पताल ले जाते समय पीड़िता की मौत हो गई थी. इस मामले में पुलिस ने अब तक 4 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. पीड़ित परिवार की सुरक्षा को देखते हुए जिला प्रशासन ने परिवार को एक शस्त्र लाइसेन्स देने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है. एसपी देवरंजन वर्मा ने बताया कि पीड़िता के परिजनो को पुलिस की कार्रवाई से अवगत कराया गया है. उन्होने कहा कि अभियुक्तों की कस्टडी रिमान्ड के लिए न्यायालय में प्रार्थनापत्र दिया गया है.

एसपी ने कहा कि अभियुक्तों को कस्टडी में लेकर घटना के सम्बन्ध में और भी जानकारी ली जाएगी. एसपी ने कहा कि विवेचना का शीघ्र और गुणवत्तापरक निस्तारण करते हुए दोषियों को शीघ ही कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जायेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज