बलरामपुरः जेल में बंद पूर्व MLA आरिफ अनवर हाशमी की बढ़ी मुश्किलें, दो नए मुकदमे दर्ज

सपा के पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाश्मी
सपा के पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाश्मी

शनिवार को सादुल्लानगर थाने में पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी (Arif Anwar Hashmi), इनके भाइयों और एक राजस्व कर्मी समेत कुल पांच लोगों के खिलाफ धोखाधडी और जालसाजी का केस दर्ज हुआ है.

  • Share this:
बलरामपुर. जेल में बंद सपा (Samajwadi Party) के पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी (Arif Anwar Hashmi) की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. पूर्व विधायक के खिलाफ धोखाधडी और जालसाजी के दो नये मुकदमें दर्ज किये गये है. शनिवार को दर्ज किये गये दो मुकदमों में पहला मुकदमा वादी अनिल श्रीवास्तव की तहरीर पर सादुल्लानगर थाने में जबकि दूसरा मुकदमा वादी राजा की तहरीर पर कोतवाली उतरौला में दर्ज किया गया है. दो नये मुकदमें दर्ज होने के बाद जेल में बंद पूर्व विधायक और इनके भाइयों के खिलाफ अब तक कुल आठ मुकदमें दर्ज हो चुके हैं, जिनमें 6 मुकदमें बीते 20 दिनों में दर्ज किये गये हैं.

विधायक समेत पांच लोगों पर दर्ज हुआ मुकदमा

शनिवार को सादुल्लानगर थाने में पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी, इनके भाइयों और एक राजस्व कर्मी समेत कुल पांच लोगों के खिलाफ धोखाधडी और जालसाजी का केस दर्ज हुआ है. आरोप है कि पूर्व
विधायक और उनके भाइयों ने ग्रामसभा सादुल्लानगर के गाटा संख्या 1700 में दर्ज 2.26 हेक्टेयर क्षेत्रफल के खेल मैदान को कूटरचित दस्तावेजों के सहारे जालसाजी कर किसान उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के पक्ष में करा लिया.
ये है मामला



पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी इस विद्यालय के प्रबन्धक भी हैं. इस मामले में तत्कालीन लेखपाल अक्लीन को भी अभियुक्त बनाया गया है. शनिवार को ही कोतवाली उतरौला में दर्ज किये गये दूसरे मुकदमें में पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी और इनके भाइयों समेत 11 लोगों को अभियुक्त बनाया गया है. वादी राजा की तहरीर पर दर्ज मुकदमें में आरोप लगाया गया है कि उतरौला कस्बे के बीचों बीच तालाब खाता की भूमि जिसका गाटा संख्या 5188, 5189 और 5139 है, पर सरकारी अभिलेखों में हेराफेरी कर कूटरचित तरीके से तथ्यों को छिपाकर तथा अपने राजनैतिक प्रभाव का गलत इस्तेमाल कर पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी ने महाविद्यालय का निर्माण कारा लिया है. पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी इस माहविद्यालय के प्रबन्धक है. इसके अतरिक्त अन्य बेशकीमती सरकारी जमीनों को भी सरकारी अभिलेखो में हेरा-फेरी कर महाविद्यालय के पक्ष में करा दिया गया है. सरकारी अभिलेखो में हेराफेरी को लेकर तत्कालीन लेखपाल को भीअभियुक्त बनाया गया है.

बढ़ी मुश्किलें

इस मामले में पूर्व विधायक और उनके सहयोगियों पर धोखाधडी, जालसाजी और लोक सम्पत्ति निवारण अधिनियम जैसी गम्भीर धाराओं में केस दर्ज किया गया है. एसपी देवरंजन वर्मा ने बताया कि पूर्व विधायक
आरिफ अनवर हाशमी के खिलाफ दी गयी तहरीर की जांच उतरौला के क्षेत्राधिकारी राधारमण सिंह से कराई गयी. प्रथम दृष्ट्या शिकायत सही पाये जाने पर पूर्व विधायक, उनके भाइयों और सहयोगियों पर सादुल्लानगर और कोतवाली उतरौला में दो मुकदमा पंजीकृत कराया गया है. ताबड़तोड़ मुकदमें दर्ज होने से जेल में बंद पूर्व विधायक आरिफ अनवर हाशमी की मुश्किले बढ़ती जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज