बलरामपुरः वकील ने दी एसपी को वर्दी उतरवा लेने की धमकी, भाई संग गिरफ्तार

एसपी देवरंजन वर्मा ने वादी बनकर लिखवाई एफआईआर
एसपी देवरंजन वर्मा ने वादी बनकर लिखवाई एफआईआर

Balrampur News: कोतवाली देहात में दिए गए तहरीर में एसपी देवरंजन वर्मा ने आरोप लगाया है कि देहात कोतवाली के कोइलिहा गांव के मजरे भलुहिया निवासी मृगेंद्र उपाध्याय व दीपेंद्र उपाध्याय ने सार्वजनिक रूप से उनका अपमान किया.

  • Share this:
बलरामपुर. यूपी के बलरामपुर (Balrampur) में सार्वजनिक मंच से एसपी को वर्दी उतरवा लेने की धमकी देना और सम्पूर्ण पुलिस (Police) विभाग पर अमर्यादित टिप्पणी करना एक वकील और उसके तथाकथित पत्रकार भाई को महंगा पड़ गया. एसपी देवरंजन वर्मा (SP Devranjan Verma) ने खुद वादी बनकर दोनों भाइयों समेत पांच अन्य लोगों पर गंभीर धाराओं में  मुकदमा दर्ज करवाया है. पुलिस ने दोनों भाइयों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

एसपी ने वादी बनकर लिखवाई एफआईआर

बलरामपुर में उस समय नया मोड़ आया जब पुलिस अधीक्षक देवरंजन वर्मा ने कोतवाली देहात में तहरीर देकर न्याय की मांग की. कोतवाली देहात में दिए गए तहरीर में एसपी देवरंजन वर्मा ने आरोप लगाया है कि देहात कोतवाली के कोइलिहा गांव के मजरे भलुहिया निवासी मृगेंद्र उपाध्याय व दीपेंद्र उपाध्याय ने सार्वजनिक रूप से उनका अपमान किया. इतना ही नहीं गलत आरोप का वीडियो वायरल कर दोनों भाई एक आईपीएस अधिकारी का मान मर्दन कर रहे हैं. पुलिस को दी गई तहरीर में एसपी देवरंजन वर्मा ने  आरोप लगाया कि दोनों भाई  उन्हें हत्या के अभियोग में फंसाने की साजिश कर रहे हैं.



एसपी ने लगाया ये आरोप
एसपी देव रंजन वर्मा ने बताया कि 2 नवंबर को तहसील गेट के सामने आदर्श प्रेस क्लब नामक एक संस्था के तत्वाधान में पत्रकारों की मांगों को लेकर शांतिपूर्ण और अहिंसक धरना चल रहा था. इसी दौरान मृगेंद्र उपाध्याय नाम का व्यक्ति मंच पर पहुंचा और अहिंसक तरीके से चल रहे धरना प्रदर्शन में मौजूद लोगों को भड़काने का प्रयास किया. मृगेंद्र ने न सिर्फ उनके बारे में अभद्र टिप्पणी की बल्कि पुलिस विभाग के बारे में बहुत ही अमर्यादित और अपमानजनक टिप्पणियां की. वायरल वीडियो में आरोपी मृगेन्द्र उपाध्याय ने एसपी को न्यायालय में घसीटने, अपने भाई की हत्या की साजिश में फंसाने, न्यायालय में वर्दी उतरवा लेने व पेंशन के लिए दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर करने का ऐलान किया.

वकील ने दी थी ये धमकी

एसपी ने बताया कि इस कृत्य से भारी मानहानि हुई. इसके अलावा जमीन कब्जा के प्रयास में दोनों भाइयों के द्ववारा एक वृद्ध को सड़क पर घसीटकर पीटने का वीडियो और मोबाइल पर नगर कोतवाली के दारोगा को गाली देने का ऑडियो वायरल हुआ है. एसपी ने कहा कि उनकी मानहानि करने वाले वीडियो को सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म पर वायरल भी किया गया है. इंटरनेट व सोशल मीडिया के माध्यम से पूरी दुनिया के सामने अपमानित कर हंसी व अपमानजनक टिप्पणी का पात्र बना दिया है. पुलिस को दी गयी तहरीर में एसपी ने लिखा है कि मृगेंद्र अपने आप को वकील बताता है. उसका भाई दीपेंद्र फर्जी पत्रकार के रूप में चिह्नित है, जो लोगों को डरा-धमकाकर अवैध वसूली करता है. उनके द्वारा शासकीय कर्तव्य से विरत करने के लिए मुझपर अनुचित दबाव बनाने का प्रयास किया और ऐसा न करने पर झूठी हत्या की साजिश में फंसाने की धमकी दी.

पुलिस अधीक्षक के प्रार्थना पत्र पर कोतवाली देहात की पुलिस ने मृगेंद्र उपाध्याय दीपेंद्र उपाध्याय सहित अन्य लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है. पुलिस ने मुख्य आरोपी मृगेन्द्र व दीपेंद्र को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज