बलरामपुर पंचायत चुनाव: वोटर्स को पैसा बांट रहा पूर्व विधायक का बेटा सद्दाम गिरफ्तार, 3 भाई फरार

बलरामपुर पंचायत चुनाव में वोटरों को पैसा बांट रहा पूर्व विधायक का पुत्र सद्दाम गिरफ्तार

बलरामपुर पंचायत चुनाव में वोटरों को पैसा बांट रहा पूर्व विधायक का पुत्र सद्दाम गिरफ्तार

Balrampur Panchayat Chunav: एसपी हेमंत कुटियाल ने बताया कि मतदाताओं को पैसा बांटते हुए अभियुक्त सद्दाम को उतरौला कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार किया है. कहा गया है कि जिले में निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान को प्रभावित करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

  • Share this:
बलरामपुर. उत्तर प्रदेश के बलरामपुर (Balrampur) जिले में उतरौला के पूर्व विधायक समीउल्लाह के पुत्र को पुलिस ने देर रात उस वक्त रंगे हाथ गिरफ्तार किया, जब वह अपने तीन भाइयों के साथ मतदाताओं को पैसे बांट रहा था. प्रभारी निरीक्षक पंकज सिंह के नेतृत्व में उतरौला कोतवाली की पुलिस ने सद्दाम को गिरफ्तार कर उसके पास से29 हज़ार रुपए बरामद किए. पूर्व विधायक के तीन और बेटे मौके से फरार हो गए, जिनकी तलाश में पुलिस जुटी हुई है.

गौरतलब है कि उतरौला कोतवाली क्षेत्र के कपौआ शेरपुर गांव से पूर्व विधायक समीउल्लाह के पुत्र इरशाद की पत्नी तरन्नुम ग्राम प्रधान पद के लिए चुनाव लड़ रही है. कहा गया है कि देर रात पूर्व विधायक के बेटे मतदाताओं को पैसा बांट रहे थे.. मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने छापा मारकर सद्दाम को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया जबकि तीन अन्य भाइयों की तलाश की जा रही है.

Youtube Video


सीट रिजर्व हुई तो इरशाद ने की शादी और पत्नी को उतारा चुनाव में
गौरतलब है अभियुक्त सद्दाम के पिता समीउल्लाह उतरौला विधानसभा क्षेत्र से 1989 और 1991 में दो बार विधायक रह चुके हैं. विधायक रहने से पहले समीउल्लाह उतरौला विकासखंड के ब्लाक प्रमुख भी रहे हैं. समीउल्लाह का पुत्र मुजीबुल्ला 15 साल अपने गांव कपौव्वा शेरपुर गांव का प्रधान रह चुका है. इस बार ग्राम प्रधान पद की सीट पिछड़ी जाति के लिए आरक्षित होने पर पूर्व विधायक समीउल्लाह के दूसरे पुत्र इरशाद ने पिछड़ी जाति की महिला तरन्नुम से विवाह कर लिया और उसे ही प्रधान पद का प्रत्याशी बना दिया.

सद्दाम और मुजबुल्ला पर पहले से हैं कई मामले

कहा गया है कि पूर्व विधायक समीउल्लाह के पुत्र का आपराधिक इतिहास भी है. सद्दाम और उसके भाई मुजीबुल्ला के खिलाफ धारा 3 उत्तर प्रदेश गुंडागर्दी नियंत्रण अधिनियम केतहत पहले ही कार्यवाही की जा चुकी है और इन दोनों के खिलाफ जिला बदर की कार्यवाही न्यायालय में विचाराधीन है.एसपी हेमंत कुटियाल ने बताया कि जिले में निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए पुलिस अलर्ट है और मतदान को प्रभावित करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज