लाइव टीवी

Lockdown के चलते पहली बार बंद हुआ देवीपाटन मंदिर, योगी आदित्यनाथ का माना जाता है 'दूसरा घर'
Gonda News in Hindi

SARVESH KUMAR SINGH | News18 Uttar Pradesh
Updated: March 25, 2020, 2:01 PM IST
Lockdown के चलते पहली बार बंद हुआ देवीपाटन मंदिर, योगी आदित्यनाथ का माना जाता है 'दूसरा घर'
लॉकडाउन के चलते बलरामपुर में देवीपाटन मंदिर पहली बार श्रद्धालुओं के लिए बंद किया गया है.

शक्तिपीठ देवीपाटन मंदिर गोरक्षपीठ की एक शाखा के रूप में पहचानी जाती है और नाथ संप्रदाय के एक प्रसिद्ध तीर्थस्थल के रूप में जाना जाता है. इसे यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का दूसरा घर भी कहा जाता है.

  • Share this:
बलरामपुर. उत्तर प्रदेश के बलरामपुर (Balrampur) जिले में भारत-नेपाल सीमा (Indo-Nepal Border) पर स्थित देश की 51 शक्तिपीठों में से एक देवीपाटन मंदिर (Devipatan Mandir) में यह पहला अवसर रहा, जब नवरात्र (Navratri) में श्रद्धालु मां के दर्शन करने के लिए नहीं जा सके. कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में 21 दिन का लाकडाउन (Lockdown) घोषित कर दिया है, जिसको देखते हुए शक्तिपीठ देवीपाटन मंदिर का मुख्य द्वार भी बंद कर दिया गया है.

नवरात्र शुरू होते ही यहां भक्तों की भारी भीड़ उमड़ती थी. देश ही नहीं विदेशों से और नेपाल राष्ट्र से भारी संख्या में श्रद्धालु मां के दरबार में मत्था टेकने आते थे. लेकिन इस बार श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए मंदिर को बंद कर दिया गया.

गोरक्षपीठ की एक शाखा के रूप में  है पहचान
चैत्र नवरात्र प्रारंभ होते ही शक्तिपीठ देवीपाटन मंदिर पर एक माह तक चलने वाला प्रसिद्ध देवीपाटन मेला भी पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया गया है. मेला परिसर में तमाम दुकानें और झूले प्रतिवर्ष बाहर से आते थे लेकिन इस बार इन सभी का संचालन बंद है. शक्तिपीठ देवीपाटन मंदिर गोरक्षपीठ की एक शाखा के रूप में पहचानी जाती है और नाथ संप्रदाय के एक प्रसिद्ध तीर्थस्थल के रूप में जाना जाता है. इसे यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का यह दूसरा घर भी कहा जाता है.



पूजा विधि विधान से चलती रहेगी
शक्तिपीठ देवीपाटन मंदिर के महंत मिथलेश नाथ योगी ने बताया कि मंदिर के अंदर पूजा और आरती विधि विधान के साथ होती रहेगी. चैत्र नवरात्रि के अवसर पर जिस तरह से 9 दिन शक्ति की आराधना की जाती है. वह मंदिर के अंदर चलती रहेगी लेकिन श्रद्धालुओं का प्रवेश वर्जित रहेगा. महंत मिथिलेश नाथ योगी ने यह भी बताया कलश पूजन और कलश की स्थापना विधि विधान से वैदिक मंत्रोच्चार के साथ किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:

Lockdown: वाराणसी में बिका 50 रूपये किलो आटा, सब्जियों के दामों ने छुआ आसमान

सब्जी व्यापारी बोले- संकट में हम सरकार के साथ लेकिन पुलिस कर रही उत्पीड़न

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोंडा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 2:01 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर