बेटियों के लिए साइकिल से कश्मीर से कन्याकुमारी की यात्रा कर रहा युवक

बिना ब्रेक और बिना पैण्डल की पुरानी साइकिल पर सवार होकर देश भ्रमण के लिए निकले इस माराठी युवक का नाम है घोण्डीराम

News18 Uttar Pradesh
Updated: May 9, 2018, 11:55 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: May 9, 2018, 11:55 PM IST
यदि इंसान में जुनून है तो वह असम्भव को भी सम्भव बना देता है. ऐसा ही कुछ जुनून लेकर साइकिल से कश्मीर से कन्याकुमारी की यात्रा पर निकला महाराष्ट्र का एक युवक पूरे देश में सड़क सुरक्षा, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ और भ्रूण हत्या के खिलाफ अलख जगा रहा है. यात्रा पर निकले युवक की मुलाकात बलरामपुर न्यूज-18 की टीम से हुई.

बिना ब्रेक और बिना पैण्डल की पुरानी साइकिल पर सवार होकर देश भ्रमण के लिए निकले इस माराठी युवक का नाम है घोण्डीराम. लॉ ग्रेजुएट घोण्डीराम स्वामी विवेकानन्द को अपना आदर्श मानते हैं. उन्ही की प्रेरणा से महाराष्ट्र के सोलापुर जिले के रहने वाले घोण्डीराम ने साइकिल से देश का भ्रमण करने का फैसला किया. घोण्डीराम अपनी साइकिल यात्रा के दौरान तीन सूत्रवाक्य को साथ लेकर चल रहे है. सड़क सुरक्षा, बेटी-बचाओ बेटी-पढ़ाओ और भ्रूणहत्या के खिलाफ मुहिम चलाने वाले घोण्डीराम लोगों को जागरुक भी कर रहे हैं.

दो वर्ष पहले कश्मीर से शुरू की थी अपनी यात्रा
घोण्डीराम ने दो वर्ष पहले कश्मीर से अपनी यात्रा की शुरुआत की थी. घोण्डीराम अब तक कश्मीर, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा और उत्तराखण्ड की यात्रा पूरी कर चुके हैं और अब यूपी के विभिन्न जिलों और शहरों में जाकर लोगों से मिल रहे हैं. घोण्डीराम महिलाओं और बेटियों के साथ हो रही छेड़खानी की घटनाओं से बहुत आहत है. उनका कहना है कि सरकार को इस पर कड़ा फैसला लेना चाहिए ताकि ऐसी घटनाओ को रोका जा सके.

अपने उद्धेश्य को अपना जुनून बना चुके घोण्डीराम ने इस काम के लिए किसी के सामने हाथ नहीं फैलाया. घोण्डीराम का कहना है कि रास्ते में मदद करने वाले तमाम लोग मिल जाते हैं. बलरामपुर से लुम्बिनी और फिर काठमाण्डू के लिए निकले घोण्डीराम का यह संकल्प लोगों के लिए अनुकरणीय है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...