Assembly Banner 2021

UP News: गोंडा के BSA इंद्रजीत प्रजापति समेत 4 निलंबित, अवैध वसूली का आरोप

गोंडा के BSA इंद्रजीत प्रजापति समेत 4 निलंबित (File photo)

गोंडा के BSA इंद्रजीत प्रजापति समेत 4 निलंबित (File photo)

बता दें कि बेसिक शिक्षा विभाग ने जनवरी में जिले के विभिन्न स्कूलों में तैनात 1085 शिक्षकों (Teachers) का अंतरजनपदीय तबादला किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 26, 2021, 6:32 AM IST
  • Share this:
गोंडा. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की योगी सरकार (Yogi Government) भ्रष्ट अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ लगातार कार्रवाई कर रही है. इसी क्रम में यूपी सरकार ने गुरुवार देर शाम गोंडा (Gonda) के बीएसए (BSA) इंद्रजीत प्रजापति समेत 4 कर्मचारियों को निलंबित कर दिया है. बेसिक शिक्षा विभाग में हुए अंतरजनपदीय तबादले के बाद शिक्षकों को कार्यमुक्त करने के नाम पर अवैध वसूली का मामला सामने आया था. वहीं स्वेटर खरीद के मामले में भी बीएसए के खिलाफ शिकायत हुई थी. जिसके बाद डीएम ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी की भूमिका संदिग्ध मानते हुए जांच कराई थी. जांच रिपोर्ट सामने आने के बाद शासन ने बीएसए पर कार्रवाई की है.

बता दें कि बेसिक शिक्षा विभाग ने जनवरी में जिले के विभिन्न स्कूलों में तैनात 1085 शिक्षकों का अंतरजनपदीय तबादला किया था. इन शिक्षकों को संबंधित जिलों के लिए कार्यमुक्त करने का आदेश शासन ने बीते दिनों दिया था. एक फरवरी से शिक्षकों को कार्यमुक्त करने की कार्यवाही शुरू की गई. इसमें वजीरगंज बीआरसी पर शिक्षकों से वसूली का पर्चा वायरल हुआ था. इसके अलावा बीएसए कार्यालय पर रिलीविंग में अनियमितता की गई थी.

सीएम योगी बोले- तेज हो माफियाओं को नेस्तनाबूद करने की कार्रवाई, सुस्ती स्वीकार्य नहीं



डीएम मार्कण्डेय शाही को जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डा. इंद्रजीत प्रजापति के कार्यालय में तैनात अधीनस्थों के माध्यम से पैसे लेने की शिकायत इंटरनेट मीडिया के जरिए दी गई थी. इसमें बीएसए के अलावा उनके कार्यालय में तैनात कनिष्ठ लिपिक जनमेजय सिंह, आशुलिपिक दिनेश वर्मा के साथ ही कुछ शिक्षकों की भूमिका संदिग्ध मानते हुए डीएम ने एडीएम की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय समिति को जांच सौंपी थी. इसकी रिपोर्ट शासन को भेजी गई थी. इसके बाद बीएसए को निलंबित कर दिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज