• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • उत्तर प्रदेश के 826 ब्लॉक प्रमुख में केवल एक पर नहीं हुआ चुनाव, जानिए इसकी वजह...

उत्तर प्रदेश के 826 ब्लॉक प्रमुख में केवल एक पर नहीं हुआ चुनाव, जानिए इसकी वजह...

एक विशेष वजह की वजह से गोंडा जिले के मुजेहना ब्लॉक अध्यक्ष के लिए चुनाव अन्य जगहों से एक वर्ष बाद होता है

एक विशेष वजह की वजह से गोंडा जिले के मुजेहना ब्लॉक अध्यक्ष के लिए चुनाव अन्य जगहों से एक वर्ष बाद होता है

Uttar Pradesh Block Adyaksh Election: गोंडा जिले के 16 ब्लॉकों में से एक मुजेहना ब्लॉक की जहां क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष का चुनाव नहीं हुआ. एक विशेष कारण से 2006 के बाद से यहां बाकी सभी जगहों से एक वर्ष बाद चुनाव होता चला आ रहा है

  • Share this:
गोंडा. उत्तर प्रदेश के 826 ब्लॉक में से 825 ब्लॉक के चुनाव (UP Block Election) शनिवार 10 जुलाई को संपन्न हो गये. मगर इस दौरान प्रदेश का एक ऐसा ब्लॉक था जहां पर सन्नाटा पसरा था. उसको सूबे की राजनीति और क्षेत्र पंचायत की रस्साकशी से कोई मतलब नहीं था. दरअसल हम बात कर रहे हैं गोंडा (Gonda) जिले के 16 ब्लॉकों में से एक मुजेहना ब्लॉक (Mujehna Block) की जहां क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष का चुनाव नहीं हुआ.

गोंडा जनपद मुख्यालय से 20 किलोमीटर दूर मुजेहना में ब्लॉक प्रमुख पद के लिये चुनाव नहीं हुआ. इसको जानने के लिये आपको पीछे ले चलते हैं. बात वर्ष 2006 की है जब देवी कसौधन इस ब्लॉक की प्रमुख चुनी गईं थी. मगर सियासी दांव-पेंच में उनके जाति प्रमाणपत्र पर सवाल खड़ा हो गया था. तत्कालीन जिलाधिकारी (डीएम) ने प्रमाणपत्र खारिज कर दिया तो वो हाईकोर्ट पहुंच गई थीं. एक साल बाद उनका प्रमुख पद बहाल हुआ. इस रस्साकसी के चलते ब्लॉक प्रमुख का कार्यकाल एक साल बाद पूरा होने लगा. यही वजह है कि यहां ब्लॉक प्रमुख पद के लिये चुनाव एक साल बाद पूरा होता है.

मुजेहना ब्लॉक के रहने वाले स्थानीय अनंतराम पांडेय का कहना है कि यहां सन्नाटा था लेकिन एक साल बाद यहां अन्य जगहों की भांति ही सरगर्मी देखने को मिलेगी. मुजेहना इलाके के बनकटी अर्जुन गांव के शिक्षक मनोज सिंह ने न्यूज़ 18 से बताया कि यह जिले की हॉट सीट है लेकिन उस लिहाज से ब्लॉक क्षेत्र का विकास नहीं हुआ है. यहां के निवासियों को विकास का इंतजार है. मुजेहना ब्लॉक अनुसूचित महिला के लिये आरक्षित है और इसपर वर्तमान में बीजेपी का कब्जा है.

इस तरह से गोंडा जिले के 16 ब्लॉक में से 11 निर्विरोध निर्वाचित ब्लॉक के साथ जिले के 15 ब्लॉक प्रमुख पदों पर बीजेपी का कब्जा हो गया है. जबकि एक सीट समाजवादी पार्टी के हिस्से में आई है. अगले साल चुनाव के लिए यह सीट ओबीसी खाते में गई है और लोगों को यहां चुनाव का इंतजार है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज