Assembly Banner 2021

गोंडा: समाजसेवी प्रदीप कात्यायन की संदिग्ध हालत में मौत, अतिक्रमण के खिलाफ लड़ रहे थे लड़ाई

समाजसेवी प्रदीप मिश्रा कात्यायन की फाइल फोटो

समाजसेवी प्रदीप मिश्रा कात्यायन की फाइल फोटो

परिजनों का आरोप है कि हत्या को हादसे की शक्ल देने का की कोशिश की गई है. प्रदीप अपनी बाईक से घर जा रहे थे. लेकिन देर रात घर न पहुंचने पर परिजनों ने उनकी तलाश की. आज सुबह उनका शव देहात कोतवाली क्षेत्र मुंडेरवा माफी के पास मिला.

  • Share this:
गोंडा जिले के समाजसेवी प्रदीप मिश्रा कात्यायन का शव मंगलवार को संदिग्ध हालत में सड़क किनारे मिला. परिजनों ने हत्या कर शव फेंके जाने की आशंका जताई है. बता दें प्रदीप कात्यायन एक अवैध होटल के खिलाफ आज से धरने पर बैठने वाले थे.

परिजनों का आरोप है कि हत्या को हादसे की शक्ल देने का की कोशिश की गई है. प्रदीप अपनी बाईक से घर जा रहे थे. लेकिन देर रात घर न पहुंचने पर परिजनों ने उनकी तलाश की. आज सुबह उनका शव देहात कोतवाली क्षेत्र मुंडेरवा माफी के पास मिला.

प्रदीप कात्यायन लंबे अरसे से अतिक्रमण और तमाम समस्याओं की लड़ाई रहे थे. फिलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस का कहना है कि मामले में तफ्तीश जारी है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.



प्रदीप मिश्रा कात्यायन दिल्ली की एक कंपनी में अकाउंटेंट के पोस्ट पर काम कर रहे थे. वे अक्सर समय निकाल कर गोंडा में समाजसेवा का काम करने पहुंचते थे. इसी क्रम में दो दिन पहले वे एक अवैध होटल और अतिक्रमण के खिलाफ आज से धरने पर बैठने वाले थे. फिलहाल पुलिस अभी कुछ भी कहने से बच रही. उसका कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत की असली वजह का पता चलेगा.
(इनपुट: देव त्रिपाठी)

ये भी पढ़ें:

विवेक तिवारी हत्या मामला: यूपी पुलिस के दावों की खुली पोल, सामने आया CCTV फुटेज

पुलिस की गोली से युवक की मौत, महिला मित्र का आडियो हुआ वायरल

लखनऊ शूटआउट: मृतक विवेक तिवारी की पत्नी होंगी नगर निगम में OSD पोस्ट पर नियुक्त

लखनऊ शूटआउट: मायावती के बयान का डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने दिया जवाब

लखनऊ शूटआउट: आरोपी सिपाही के लिए हो रहा चंदा, पत्नी के अकाउंट में जमा हुए लाखों रुपए
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज