बलरामपुर में गिरी मस्जिद की मीनार, मां-बेटे की दबकर मौत

जिलाधिकारी समेत अन्य प्रशासनिक अफसरों ने भी मौके का जायजा लिया है. पुलिस ने मुंबई में रह रहे वसीम को खबर देने के बाद मां-बेटे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 30, 2018, 12:09 PM IST
बलरामपुर में गिरी मस्जिद की मीनार, मां-बेटे की दबकर मौत
बलरामपुर में गिरी मस्जिद की मीनार.
News18 Uttar Pradesh
Updated: April 30, 2018, 12:09 PM IST
तेज आंधी तूफान के चलते बलरामपुर के महाराजगंज थाना क्षेत्र में रविवार देर रात मस्जिद की मीनार गिर जाने से मां-बेटे की मौत हो गई. जबकि दो अन्य बच्चे घायल हो गये है, जिनका इलाज जिला अस्पताल में  चल रहा है. जिलाधिकारी समेत अन्य प्रशासनिक अफसरों ने भी मौके का जायजा लिया है. पुलिस ने मुंबई में रह रहे वसीम को खबर देने के बाद मां-बेटे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

घटना महराजगंज तराई थानाक्षेत्र के दुल्हिन डीह पुरे बख्श गांव की है. तेज आंधी-तूफान से गांव के बीच स्थित मस्जिद की 55 फिट ऊंची मीनार मोहम्मद वसीम के खपरैल के मकान पर गिर पड़ी. वसीम की पत्नी अमीरुन्निशां अपने तीन बच्चों के साथ एक कमरे में थी. जबकि दूसरे कमरे में वसीम की बहन नाजिया खातून सो रही थी. तेज आंधी तूफान आने पर मस्जिद की मीनार घर पर गिरी जिससे वसीम की पत्नी अमीरुन निशा, उसका दो वर्षीय बेटा मोइन खां, 8 वर्षीय बेटी सबा बानो और 5 वर्षीय बेटा मोहसिन उसके नीचे दब गए.

मृतक बच्चों के परिजनों की फोटो.


दूसरे कमरे से निकली वसीम की बहन नाजिया ने शोर मचाना शुरु कर दिया. मीनार गिरने पर इकठ्ठा हुये ग्रामीणों ने मलबे को हटाया. घर के अंदर पहुंचने पर अमीरुन निशा और उसके दो वर्षीय बेटे मोइन की मौत हो चुकी थी जबकि दो अन्य बच्चे घायल अवस्था में थे. ग्रामीणो की मदद से घायल बच्चो को बाहर निकालकर अस्पताल में भर्ती कराया गया है. आसपास के लोगों ने बताया कि मस्जिद 12-14 साल ही पुरानी है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. इसके बाद मुआवजा तय किया जाएगा.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...