शिवपाल यादव बोले, पहले जो काम 100 रुपये में होता था अब उसी काम के लिए दारोगा लेता है 10 हजार

पहले जो काम 100 रुपये में होता था अब उसी काम के लिए दारोगा लेता है 10 हजार
पहले जो काम 100 रुपये में होता था अब उसी काम के लिए दारोगा लेता है 10 हजार

शिवपाल (Shivpal) ने कहा कि इस सरकार में थानों में तहरीर देने और मुकदमा पंजीकृत करने के लिए अलग-अलग रकम की डिमांड होती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2020, 6:57 PM IST
  • Share this:
गोंडा. समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) से अलग होकर अपनी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) बनाने वाले शिवपाल सिंह यादव (Shivpal Singh Yadav) ने शुक्रवार को बड़ा दिया. भाजपा सरकार के 100 दिनों में भ्रष्टाचार को खत्म करने के दावों पर चुटकी लेते हुए शिवपाल ने कहा कि सपा सरकार मे जो काम 100-500 रुपये या एक हजार रुपये मे काम हो जाता था. आज दारोगा 10 हजार रुपये से नीचे बात नहीं करता. शिवपाल यहीं नही रुके उन्होंने कहा कि अगर झूठी रिपोर्ट हटवानी हो तो 50 हजार से एक लाख रुपए लगते हैं.

शिवपाल ने सतारूढ़ दल पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा सरकार में भ्रष्टाचार चरम पर है. इस सरकार में मंत्रियों विधायकों की सिफारिश तक नहीं सुनी जा रही है. सिफारिश के बाद भी पुलिस रुपये ले रही है. हमारे शाशन में ब्लॉक स्तर के नेता के द्वारा भी काम हो जाया करता था. वहीं शिवपाल यादव लव जेहाद के खिलाफ कानून के पक्ष में दिखे. शिवपाल यादव गोंडा के इटियाथोक में स्वागत समारोह में शामिल हुए थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि देश और प्रदेश की स्थिति से आप सभी परिचित हैं. सरकार की नीतियों से सब लोग दुःखी हैं. सरकार का हर फैसला न देशहित में है और न जनता के हित के लिए है.





ये भी पढे़ं- यूपी के छात्र ने मांगी पढ़ाई के लिए मदद, सोनू सूद बोले- मां से कहना.. इंजीनियर बनेगा बेटा
उन्होंने कहा कि आज का किसान आत्महत्या कर रहा है, क्योंकि महंगाई तो बढ़ रही है. लेकिन किसान द्वारा पैदा की गई फसल के दामों में अभी तक कोई भी बढ़ोतरी सरकार नहीं कर पाई है. शिवपाल ने बीजेपी सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि इस सरकार में थानों में तहरीर देने और मुकदमा पंजीकृत करने के लिए अलग-अलग रकम की डिमांड होती है. पूर्व में जब समाजवादी पार्टी की सरकार थी तो अधिकारी जनता का काम करते थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज