गोंडा में पुजारी पर जानलेवा हमला निकला फर्जी, MP से शूटर बुलाकर खुद चलवाई थी गोली

गोंडा में पुजारी पर जानलेवा हमला निकला फर्जी
गोंडा में पुजारी पर जानलेवा हमला निकला फर्जी

पुलिस अधीक्षक (SP) शैलेश कुमार पांडेय ने बताया कि आरोपितों की गिरफ्तारी व मामले की जांच के लिए एएसपी (ASP) महेंद्र कुमार के नेतृत्व में टीमें गठित की गई थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2020, 5:41 PM IST
  • Share this:
गोंडा. उत्तर प्रदेश के गोंडा (Gonda) जिले में पुजारी को गोली मारने की घटना मामले में बड़ा खुलासा सामने आया है. राम जानकी मंदिर मनोरमा के पुजारी महंत सीताराम दास पर जानलेवा हमले में शामिल में महंत सीताराम दास समेत 7 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. इनके पास से घटना में प्रयुक्त होने वाले असलहा और फोन भी बरामद हुए हैं. पकड़े गए बदमाशों ने कबूला है कि बाबा सीताराम दास ने ही पुजारी सम्राट दास पर हमला कराया था. विरोधियों को फंसाने के लिए बाबा ने साजिश रची थी. हमले में घायल पुजारी सम्राट दास भी साजिश में शामिल है.

पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पांडेय ने बताया कि आरोपितों की गिरफ्तारी व मामले की जांच के लिए एएसपी महेंद्र कुमार के नेतृत्व में टीमें गठित की गई थी. पुलिस जांच के दौरान पाया गया कि तिर्रेमनोरमा के प्रधान विनय सिंह व मंदिर के महंत सीताराम दास ने मिलकर घटना की साजिश रची थी. एसपी ने बताया कि मंदिर की करीब 120 बीघा जमीन है. जिसका विवाद महंत व अमर सिंह के बीच चल रहा था. अमर सिंह जल्द ही जेल से बाहर आया था. वहीं प्रधान विनय सिंह आने वाले पंचायत चुनाव में अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए अमर सिंह को फंसाना चाहते थे. साजिशकर्ताओं में विनय सिंह के दो पुत्र सूरज व नीरज के अलावा तिर्रेमनोरमा के मुन्ना सिंह, शिवशंकर सिंह, सूरज सिंह, मध्यप्रदेश रीवां के निवासी महंत वृंदारण त्रिपाठी उर्फ सीताराम दास व विपिन द्विवेदी तथा पुजारी सम्राट दास उर्फ अतुल त्रिपाठी शामिल हैं.

पुजारी सम्राट दास पर पुलिस की निगरानी



एसपी ने बताया कि इस मामले में आरोपितों पर जानलेवा हमला, 120 बी सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है. महंत सीताराम दास, प्रधान विनय सिंह, मुन्ना सिंह, विपिन द्विवेदी, सोनू सिंह, शिवशंकर सिंह व नीरज सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है. साजिश में शामिल पुजारी सम्राट दास का पुलिस निगरानी में लखनऊ में इलाज चल रहा है. वहीं प्रधान का पुत्र आरोपित सूरज पुलिस की पकड़ से दूर है. इनके पास से पांच मोबाइल, तीन तमंचे व कारतूस बरामद हुए हैं.
जमीन को लेकर चल रहा है विवाद

बताया जा रहा है कि मनोरमा नदी के उद्गम स्थल को लेकर राम जानकी मंदिर के पुजारी सीताराम दास का भू-माफियाओं से काफी दिनों से विवाद चल रहा है. पिछले साल हमला भी हुआ था. शनिवार देर रात इन लोगों ने मंदिर के दूसरे पुजारी बाबा सम्राट दास को गोली मार दी और फरार हो गए. बता दें पिछले साल बाबा सीताराम दास पर भी बदमाशों ने जानलेवा हमला किया था और इस मामले में अभी पुलिस जांच जारी है. इसी बीच बाबा सम्राट दास को इन लोगों ने गोली मार दी है. पुजारी को जिला अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर हालत में लखनऊ रेफर कर दिया गया. वहीं पुजारी की तहरीर पर 4 लोगों पर केस दर्ज कर पुलिस कार्रवाई में जुट गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज