Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    COVID-19: महामारी के खिलाफ 85 किमी लंबी इस सीमा पर मुस्तैद हैं SSB के कोरोना वारियर्स

    कोरोना का खिलाफ यहां जंग लड़ रहे हैं एसएसबी के कोरोना वारियर्स
    कोरोना का खिलाफ यहां जंग लड़ रहे हैं एसएसबी के कोरोना वारियर्स

    पूरे देश में लॉकडाउन (Lockdown) है और बलरामपुर में भारत-नेपाल सीमा पर एसएसबी कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए दीवार की तरह खड़ी है.

    • Share this:
    बलरामपुर. देश की रक्षा करने वाले सशस्त्र सीमा बल के जवान विश्व व्यापी कोरोना वायरस (CoronaVirus) की महामारी से निपटने के लिए जंग लड़ रहे हैं और नागरिकों की सुरक्षा का वचन निभा रहे हैं. भारत नेपाल की खुली सीमा होने के कारण आवागमन को रोकना सशस्त्र सीमा बल के लिए कठिन चुनौती है, लेकिन सीमा पर तैनात जवान लगातार पेट्रोलिंग करते हुए नेपाल की ओर से भारत आने वाले या भारत की ओर से नेपाल जाने वाले लोगों पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया है. बलरामपुर में नेपाल से आवागमन के सभा 4 एंट्री पाइंट पर आवागमन रोक दिया गया है. इन सभी स्थानों पर एसएसबी नवीं बटालियन और 50वीं बटालियन के चेक पोस्ट हैं. चूंकि नेपाल की सीमा चीन से सटी हुई है इस दृष्टि से यह इलाका काफी संवेदनशील माना जाता है.

    भारत नेपाल के बीच 85 किमी खुली सीमा है
    बलरामपुर जिले की लगभग 85 किलोमीटर भारत-नेपाल की सीमा पूरी तरह खुली हुई है, जिस पर आवागमन को रोकना सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के लिए बड़ी चुनौती है. दुर्गम और पहाड़ी स्थान होने के कारण सीमावर्ती क्षेत्र में रहने वाली नेपाल की अधिकांश आबादी भारतीय हाट-बाजारों पर निर्भर करती है. आम दिनों में अपनी दैनिक जरूरतें पूरी करने के लिए नेपाली नागरिक भारतीय क्षेत्र में आते रहते हैं और यहां के हाट-बाजारों से अपने दैनिक जीवन की जरूरतें पूरी करते हैं.

    सीमा के हाट बाजारों पर रोक
    देश में लॉकडाउन होने के बाद सीमावर्ती क्षेत्र के हाट बाजारों को प्रतिबंधित कर दिया गया है. भारतीय क्षेत्र के निकटवर्ती बाजारों पर नेपाली नागरिकों के आने की आशंका के मद्देनजर एसएसबी पूरी तरह मुस्तैद है. कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार को रोकने और देश के नागरिकों को सुरक्षित रखने के लिए एसएसबी के जवान सघन पेट्रोलिंग अभियान पर हैं.



    चप्पे चप्पे पर मौजूद हैं SSB के जवान
    नवीं बटालियन के कमांडेंट आशीष नैथानी ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण को नेपाल के रास्ते भारत में आने से रोकने के लिए एसएसबी के जवान चप्पे-चप्पे पर मौजूद हैं. खुली सीमा होने के बावजूद लगातार पेट्रोलिंग करके किसी भी तरह के आवागमन को पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया गया है. इस कार्य के लिए एसएसबी की इंटेलिजेंस यूनिट भी कार्य कर रही है. कमांडेंट आशीष नैथानी ने बताया की लोकल पुलिस के साथ समन्वय स्थापित करके कोरोना वायरस के खिलाफ जंग छेड़ी गई है और सीमावर्ती इलाकों में जागरूकता भी की जा रही है.

    मिलकर काम कर रहे हैं एसएसबी, पुलिस और ज़िला प्रशासन
    जिलाधिकारी कृष्णा करुणेश ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर भारत नेपाल की सीमा काफी संवेदनशील है. किसी भी तरह से नेपाल के रास्ते भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण का प्रसार ना हो इसके लिए जिला प्रशासन, पुलिस और एसएसबी मिलकर कार्य कर रहे हैं.

    ये भी पढ़ें -
    Lockdown: वाराणसी ADG की पहल, पूर्वी यूपी के इन 10 जिलों में शुरू हुआ पुलिस-पब्लिक अन्नपूर्णा बैंक
    Lockdown: कोरोना के खिलाफ जंग में सीएम योगी ने उतारीं ये 11 प्रमुख टीमें, जानिए किसे मिली क्या जिम्मेदारी?
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज