बेरोजगार असली अनामिका शुक्ला को मिली नौकरी, गोंडा के इस स्कूल में बनीं टीचर
Gonda News in Hindi

बेरोजगार असली अनामिका शुक्ला को मिली नौकरी, गोंडा के इस स्कूल में बनीं टीचर
असली अनामिका शुक्ला को गोंडा के निजी स्कूल ने नौकरी दी है.

गोंडा की जिस अनामिका शुक्ला (Anamik Shukla) की डिग्री और मार्कशीट पर 2 दर्जन लोग फर्जी तरीके से नौकरी कर रहे थे, उन्‍हें अब जाकर रोजगार मिला है.

  • Share this:
गोडा. यूपी में कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में कई जगह अनामिका शुक्ला (Anamika Shukla) के नाम पर लोगों ने फर्जी तरीके से नौकरी की. वहीं, जिस अनामिका शुक्ला के नाम पर ये फर्जीवाड़ा हुआ, पता चला कि वह बेरोजगार (Unemployed) ही हैं. मामले में अनामिका शुक्ला के समर्थन में एक निजी स्कूल भैया हरिभान दत्त स्मारक विद्यालय ने हाथ बढ़ाए हैं. स्कूल प्रबंधक ने अनामिका शुक्ला को नौकरी दे दी है.

असली अनामिका शुक्ला की खबरें मीडिया में आने और जिले की मेधा को सम्मान देने के लिए स्कूल ने नौकरी देकर सहायक शिक्षक के पद पर नियुक्त किया है. भैया हरिभान दत्त स्मारक विद्यालय के प्रबंधक ने शुक्रवार को अनामिका शुक्ला को नियुक्ति पत्र दिया. ऐसे में जिस अनामिका शुक्ला की डिग्री, मार्कशीट पर 2 दर्जन लोग फर्जी तरीके से नौकरी कर रहे थे, उस असली अनामिका शुक्ला को अब रोजगार मिला है.

भावुक अनामिका ने दिया न्यूज 18 को धन्यवाद
विद्यालय में प्राइमरी सेक्शन में अनामिका को शिक्षिका के तौर पर नौकरी मिली है. वहीं, अनामिका शुक्ला ने न्यूज 18 को धन्यवाद कहा और भावुक होते हुए बोलीं कि मुश्किल दौर में न्यूज 18 ने साथ दिया. मैं जीवनभर न्यूज 18 टीम की आभारी रहूंगी.
अनामिका की तहरीर पर एफआईआर दर्ज


दूसरी ओर स्कूल के प्रबंधक दिग्विजय पांडेय ने न्यूज 18 से बताया की जिले की मेधा को नौकरी देकर गौरव की अनुभूति हो रही है. उधर, फर्जी नौकरी के मामले में अनामिका शुक्ला की तहरीर पर शहर कोतवाली पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है और विधिक कार्रवाई में जुट गई है. अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र कुमार के अनुसार केस दर्ज कर लिया गया है, जांच की जा रही है.

ये भी पढ़ें:

Exclusive: अनामिका की कहानी- जिसे दुनिया ने कहा करोड़पति, वह दर्द बयां करते...

69000 शिक्षक भर्ती चयनित शिक्षामित्र को भारांक न देने पर HC ने मांगा जवाब
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading