गोंडा: ट्विटर पर शेयर की धार्मिक उन्माद फैलाने के लिए फर्जी तस्वीर, केस दर्ज

जब इसकी जानकारी डीजीपी ओपी सिंह को हुई तो उन्होंने इसकी तत्काल जांच के निर्देश दिए. जांच में पता चला कि वायरल हुई दोनों तस्वीरें पुरानी और फर्जी हैं.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 30, 2018, 12:28 PM IST
गोंडा: ट्विटर पर शेयर की धार्मिक उन्माद फैलाने के लिए फर्जी तस्वीर, केस दर्ज
डीजीपी ओपी सिंह की फाइल फोटो
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 30, 2018, 12:28 PM IST
सोशल मीडिया पर धार्मिक उन्माद फैलाने की नियत से किए गए ट्वीट पर डीजीपी ओपी सिंह ने संज्ञान लेते हुए मुकदमा दर्ज करवाया है. जानकारी के अनुसार गोंडा जिले में 28 अगस्त को रात साढ़े 10 बजे के करीब कोमल नाम के ट्विटर हैंडल पर दो तस्वीरें पोस्ट कर अभद्र भातें लिखी गईं थी. जिसके बाद यह पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया.

जब इसकी जानकारी डीजीपी ओपी सिंह को हुई तो उन्होंने इसकी तत्काल जांच के निर्देश दिए. जांच में पता चला कि वायरल हुई दोनों तस्वीरें पुरानी और फर्जी हैं.

तस्वीर में राखी बांधने वाली तस्वीर 21 दिसम्बर 2017 की निकली. वहीं, दूसरी तस्वीर जिसमें महिला हॉस्पिटल में लेती दिखाई दे रही है, 21 नवंबर 2016 की थी, जो कानपुर के पास हुए रेल हादसे में घायल महिला की थी.

 

Loading...


गोंडा पुलिस ने भी पुलिस ने भी बलात्कार की घटना होने की पुष्टि नहीं की है. इसके बाद डीजीपी ने ट्विटर हैंडल संचालक के खिलाफ केस दर्ज करने के निर्देश दिए हैं.

गौरतलब है कि यूपी पुलिस ने सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ अभियान छेड़ रखा है. इसके लिए सोशल मीडिया वालंटियर्स की भी मदद ली जा रही है. यूपी पुलिस अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से जहां लगातार सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट की जांच कर रही है, वहीं वह लोगों को इसके प्रति जागरूक करने में भी जुटी है.

यह भी पढ़ें:

पत्नी और दो बेटियों को मारकर, युवक ने पुलिस को फोन कर कहा- मैं भी जा रहा हूं मरने 

UP TET 2018: 17 सितम्बर से रजिस्ट्रेशन, 28 अक्टूबर को होगी परीक्षा

सीएम योगी के 'सांप' बयान पर विधानसभा में जमकर हंगामा, काली पट्टी बांधकर सदन पहुंचा विपक्ष 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर