Home /News /uttar-pradesh /

82 साल की बुजुर्ग से सीखें कोरोना को हराने का तरीका, 12 दिनों में बीमारी को दी मात

82 साल की बुजुर्ग से सीखें कोरोना को हराने का तरीका, 12 दिनों में बीमारी को दी मात

82 साल की बुजुर्ग महिला ने अपने हौसले से जीती कोरोना के खिलाफ जंग.

82 साल की बुजुर्ग महिला ने अपने हौसले से जीती कोरोना के खिलाफ जंग.

Positive India: डॉक्टर की सलाह और घर में ही ऑक्सीजन लेवल मेंटेन रखने को किए जाने वाले अभ्यास 'प्रोनिंग' की बदौलत गोरखपुर के अलीनगर की बुजुर्ग महिला ने कोरोना महामारी को दी मात. बेटे की मदद से 12 दिनों में हुई कोरोना निगेटिव.

    गोरखपुर. ऐसे समय में जब कोरोना महामारी के फैलते संक्रमण के बीच युवाओं के इस बीमारी के चपेट में आने और दम तोड़ने जैसी खबरें आ रही हैं, गोरखपुर के 82 साल की एक बुजुर्ग महिला की एक कहानी उत्साह बढ़ाने वाली है. घरवालों की तीमारदारी और देखरेख के साथ-साथ मरीज में अगर जीने का हौसला हो, तो वह कोरोना जैसी जानलेवा बीमारी को भी मात दे सकता है. गोरखपुर के अलीनगर की रहने वाली बुजुर्ग विद्या देवी की कहानी कुछ ऐसी ही है. यह बुजुर्ग महिला महज 12 दिनों में अपने बेटे की मदद से कोरोना पॉजिटिव से निगेटिव हो गईं. हैरान करने वाली बात यह कि इसके लिए वह किसी अस्पताल में भर्ती नहीं हुईं, बल्कि घर पर अपने बेटे श्याम की देखरेख से स्वस्थ हुईं.

    82 साल की वृद्धा के जीने का हौसला गजब का है. यही वजह रही कि कोरोना संक्रमण का पता चलने के दिन उनका ऑक्सीजन लेवल जहां 80 से कम हो गया था, उसे उन्होंने महज 4 दिनों में वापस मानक तक लाकर दिखा दिया. विद्या देवी के परिजनों के मुताबिक शुरुआती दिनों में उनकी मां का ऑक्सीजन 79 था, जो महज 4 दिनों में बढ़कर 94 पर पहुंच गया. विद्या देवी को बीमारी की जद से बाहर निकालने में उनके बेटे श्याम की मेहनत अहम रही, जो हर समय सकारात्मक सोच के साथ मां की सेवा कर रहा था. वहीं दूसरी ओर उचित डॉक्टरी सलाह और प्रोनिंग की बदौलत घर बैठे उनकी चिकित्सा भी हो रही थी.

    आपके शहर से (गोरखपुर)

    गोरखपुर
    गोरखपुर

    संक्रमित मां के इलाज के पीछे पॉजिटिव सोच

    Tags: Corona patient, Positive India, UP Corona Update

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर