गोरखपुर में 35 रुपये आलू और 55 रुपये किलो बिक रहा प्याज, CM योगी के निर्देश से जनता को राहत

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (File Photo)
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (File Photo)

गोरखपुर (Gorakhpur) में सब्जी की कीमतों को नियंत्रित करने का दिख रहा असर. महेवा मंडी में आलू 35 रुपये तो प्याज 55 रुपये किलो फुटकर बिक रहा है. महंगाई की मार से परेशान आम आदमी को सीएम योगी के निर्देश के बाद बड़ी राहत मिली है.

  • Share this:
गोरखपुर. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के एक निर्णय से गोरखपुर (Gorakhpur) की जनता को महंगाई से काफी राहत मिली है. दरअसल, गोरखपुर में आसमान छू रहे आलू और प्याज के दाम (Potato and Onion Price) को सरकार ने नियंत्रित कर दिया है. महेवा मंडी में आलू 35 रुपये तो प्याज 55 रुपये किलो फुटकर बिक रहा है. महंगाई की मार से परेशान आम आदमी को सीएम योगी के निर्देश के बाद बड़ी राहत मिली है.

50 का आलू 35 में 80 का प्याज 55 में
आलू और प्याज के दाम जिस तरह से आसमान छू रहे थे, उसको सीएम की सख्ती के बाद नियंत्रित कर दिया गया है. महेवा मंडी में आलू प्याज खरीदने आये रंजीत कौशल का कहना है कि बाहर आलू 45 से 50 रुपये मिल रहा है, जबकि यहां पर 35 रुपये दाम है. वहीं प्याज बाहर 80 रुपये में मिल रहा जबकि यहां पर 55 रुपये इससे हमें बड़ी राहत मिली है. कोरोना के संकट काल में जिस तरह से महंगाई से हमारा बजट बिगड़ रहा था. खासकर सब्जी का स्वाद महंगाई के कारण कसैला हो गया था, उससे हमें राहत मिली है. उन्होंने कहा कि सरकार ने बहुत अच्छा निर्णय लिया है.

लोगों ने दिए ये सुझाव
वहीं विष्णु और सुजीत का कहना है कि सरकार के इस निर्णय से हमें बहुत लाभ हुआ है. रोज आलू में कम से कम 10 रुपये किलो के हिसाब से बचत हो जा रही है. दुर्गेश दुबे का कहना है कि सरकार का ये निर्णय बहुत अच्छा है, पर इसे और दुकानों पर लागू करना चाहिए. प्रशासन को इन दुकानदारों पर नजर भी रखनी होगी. जिससे दुकानदार सिर्फ खानापूर्ति न कर पाएं.





5 थोक दुकानों में बिक रहा फुटकर में आलू-प्याज
महेवा सब्जी मंडी में प्रशासन ने अभी 5 थोक की दुकानों पर फुटकर में आलू और प्याज बिकवाने का निर्णय लिया है. यहां के दुकानदार नौसाल अली और शम्स तरवेज का कहना है कि आलू का रेट थोक में 34 से 37 रुपये चल रहा है. हम लोग कुंतल के हिसाब से आलू बेचते थे. सरकार के निर्णय के बाद अब फुटकर में कम से कम ढाई किलो आलू बेच रहे हैं.

नाम-पता नोट कर अधिकतम 5 किलो आलू-प्याज
मोहम्मद इसरार का कहना है कि लोगों को फुटकर में आलू प्याज देने के बाद उनके नाम और पता नोट किया जा रहा है. साथ ही पांच किलो आलू या प्याज एक व्यक्ति को दिया जा रहा है. जिससे कोई कालाबजारी न कर पाये. आसमान छूती कीमतों को कम करने के लिए मुख्यमंत्री योगी का ये निर्णय़ आम लोगों के लिए राहत लेकर आया है. लोगों के थाली का बजट जो बिगड़ रहा था, अब वो उसे काफी हद तक नियंत्रित कर सकेंगे. साथ ही मनमानी रेट वसूल रहे फुटकर विक्रेताओं पर भी लगाम लग सकेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज