2 महीने बाद गोरखपुर एयरपोर्ट से फ्लाइट ने भरी उड़ान, पहले दिन 357 यात्रियों ने किया सफर
Gorakhpur News in Hindi

2 महीने बाद गोरखपुर एयरपोर्ट से फ्लाइट ने भरी उड़ान, पहले दिन 357 यात्रियों ने किया सफर
गोरखपुर एयरपोर्ट

सोमवार को गोरखपुर से तीन फ्लाइट गयी. जिसमें दो फ्लाइट दिल्ली के लिए और एक फ्लाइट मुम्बई के लिए उड़ान भरी.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
गोरखपुर. लॉकडाउन (Lockdown) के दो महीने बाद सोमवार को एक बार फिर से घरेलू हवाई सेवा शुरू हुई. गोरखपुर (Gorakhpur) से पहले दिन चार फ्लाइट को उड़ान भरनी थी पर हैदराबाद-गोरखपुर-हैदराबाद फ्लाइट को अंतिम क्षणों में निरस्त करना पड़ा. तेलंगाना सरकार ने अपने यहां से सिर्फ 15 फ्लाइट चलाने की अनुमति दी थी. इसलिए गोरखपुर की फ्लाइट को निरस्त करना पड़ा. सोमवार को गोरखपुर से तीन फ्लाइट गयी. जिसमें दो फ्लाइट दिल्ली के लिए और एक फ्लाइट मुम्बई के लिए उड़ान भरी. स्पाइस जेट की दिल्ली से गोरखपुर 74 यात्री आये और इसी फ्लाइट से 71 यात्रियों ने दिल्ली के लिए उड़ान भरी. एयरइंडिया की फ्लाइट से दिल्ली से 30 यात्री गोरखपुर आये और यहां से 19 यात्रियों ने पहले दिन दिल्ली के लिए उड़ान भरी. स्पाइस जेट की मुम्बई फ्लाइट से 119 लोग गोरखपुर आये और यहां से 44 लोग मुम्बई गये.

इसके पहले गोरखपुर में यात्रियों को चार घंटे पहले ही एयरपोर्ट पर बुलाया गया था. गेट पर यात्रियों को अपना पहचान पत्र और टिकट दिखाना पड़ता था, फिर उससे दस कदम आगे उनके सामानों को सेनेटाइज किया जा रहा था. उसके आगे बढ़ने पर यात्री एयरपोर्ट पोर्टिकों के पास पहुंचते थे तो सबसे पहले उन्हें अपने हाथों को सेनेटाइज करना होता है. उसके बाद फिर आगे बढ़ने पर जूतों को सेनेटाइज करना होता है, फिर थर्मल स्कैनिग होती है. उसके बाद फिर आगे बढ़ने पर एक बार फिर टिकट और अरोग्य सेतु एप दिखाने पर एयरपोर्ट के अंदर इंट्री मिल रही थी.

नियमों का किया गया पालन



एयरपोर्ट के निदेशक एके द्विवेदी का कहना है कि एयरपोर्ट पर सोशल डिस्टेंसिग के साथ साथ जो नियम एयरपोर्ट अथारिटी ने तय किये उसे लागू किया गया है, तीन लोगों के बैठने वाली सीट पर बीच वाली सीट खाली रखी जा रही है. वहीं जिला प्रशासन ने गोरखपुर आने और जाने वाले यात्रियों को कोई परेशानी न हो और जो नियम तय किये गये उसका सही से पालन हो इसके लिए सिटी मजिस्ट्रेट अभिनव श्रीवास्तव की ड्यूटी लगा रखी थी. अभिनव श्रीवास्तव का कहना है कि गोरखपुर आने वाले यात्रियों को कोई परेशानी न हो इसके लिए 50 से अधिक टैक्सियों को एयरपोर्ट पर लगाया गया था. जिनके ड्राइवर का फोन नम्बर सार्वजनिक किया गया. इस लॉकडाउन में वो अधिक पैसा न वसूल सकें इसलिए रेट भी तय कर दिया गया. प्रशासन और एयरपोर्ट अथॉरिटी सजग दिखी.



वहीं दिल्ली और मुम्बई में लंबे समय से फंसे लोग जब गोरखपुर पहुंचे तो उनके चेहरे की चमक साफ बता रही थी कि वो कितने खुश हैं. अपनों के बीच पहुंचने की जो खुशी होती है वो बयां नहीं की जा सकती. गोरखपुर के रहने वाले एक यात्री जो मुम्बई से आये उनका कहना था कि वो किसी काम से मुम्बई गये थे, और इसी बीच लॉकडाउन हो गया और मैं वहीं फंस गया. आज गोरखपुर आकर बड़ा सुकून मिला.

ये भी पढ़ें:

सीएम योगी का ऐलान- UP वापस आए प्रवासी श्रमिकों की स्किल मैपिंग की सूची तैयार

प्रभावशाली भारतीयों की सूची में देश के सबसे लोकप्रिय सीएम चुने गये योगी
First published: May 26, 2020, 12:37 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading