लाइव टीवी

Corona Virus से निपटने के लिए नेपाल सीमा पर बनाया गया हेल्थ पोस्ट, गोरखपुर एयरपोर्ट पर अलर्ट

Ram Gopal Dwivedi | News18 Uttar Pradesh
Updated: January 27, 2020, 7:18 PM IST
Corona Virus से निपटने के लिए नेपाल सीमा पर बनाया गया हेल्थ पोस्ट, गोरखपुर एयरपोर्ट पर अलर्ट
नेपाल सीमा पर बना हेल्थ पोस्ट (file photo)

गोरखपुर एयरपोर्ट के निदेशक एके द्विवेदी का कहना है कि यह इंटरनेशनल एयरपोर्ट नहीं है फिर भी अगर कोई यात्री कनेक्टिन फ्लाइट से इन देशों की यात्रा कर गोरखपुर आयेगा तो उसके बारे में जानकारी सीएमओ को दी जायेगी.

  • Share this:
गोरखपुर. चीन के वुहान शहर से निकले कोरोना वायरस (Corona Virus) ने नेपाल में दस्तक देने के साथ ही अब उत्तर प्रदेश में भी हलचल मचा दी है. वहीं कोरोना वायरस से नेपाल में एक व्यक्ति के संक्रमित होने की पुष्टि के बाद भारत में इसे फैलने से रोकने के लिये नेपाल सीमा पर स्वास्थ्य जांच केन्द्र बनाया गया है. इसके रोगियों के लिये गोरखपुर जिला अस्पताल में भी एक अलग वार्ड बनाया गया है. सीएमओ गोरखपुर श्रीकांत तिवारी का कहना है कि स्वास्थ्य विभाग हाई अलर्ट पर है, जिले में वायरस निरोधक मास्क और टेमी फ्लू टेबलेट प्रयाप्त है. साथ ही अस्पताल स्टाप का वैकसीन कर रहे हैं. साथ ही बीआरडी मेडिकल कॉलेज में वैकसीन भेजा गया गया है.

कोरोना वायरस का जांच यहां संभव नहीं है. यहां पर स्वाइन फ्लू की जांच हो सकती है, और इसका लक्षण कुछ इसी से मिलता जुलता है. यहां पर हमारी तैयारियां पूरी हैं. एयरपोर्ट पर एलर्ट कर दिया गया है. स्वास्थ्य विभाग की टीम ने एयरपोर्ट का दौरा भी किया है. जो सीमावर्ती जिले हैं उनको एडवाइजरी जारी किया गया है. इस रोग से बचाव के लिए दो फिल्टर किया जा रहा है पहला नेपाल सरकार कर रही है वहां के एयरपोर्ट पर भी जांच की जा रही है दूसरा हमारी सरकार की तरफ से बार्डर पर चेक की व्यवस्था की गयी है

वहीं गोरखपुर एयरपोर्ट के निदेशक एके द्विवेदी का कहना है कि यह इंटरनेशनल एयरपोर्ट नहीं है फिर भी अगर कोई यात्री कनेक्टिन फ्लाइट से इन देशों की यात्रा कर गोरखपुर आयेगा तो उसके बारे में जानकारी सीएमओ को दी जायेगी, साथ ही इस रोग के बारे में जागरूता फैलाने के लिए स्टैंडी, पोस्टर और बैनर सहारा लिया जा रहा है.

पूर्वांचल में संक्रामक बीमारियों के खिलाफ अभियान चलाने वाले डॉक्टर आर.एन. सिंह ने कहा कि नेपाल सरकार ने शुक्रवार को स्वीकार किया है कि उसके यहां एक छात्र कोरोना वायरस से ग्रस्त है. भारत की करीब 1400 किलोमीटर की सीमा नेपाल से सटी है, जहां से चीन, ताइवान और जापान से बड़ी संख्या में बौद्ध अनुयायी और पर्यटक भारत आते हैं. इन सभी देशों में यह वायरस फैल चुका है. उन्होंने कहा कि भारत-नेपाल सीमा पर ऐसे दर्जनों खुले स्थान हैं, जहां से लोगों का बेरोकटोक आवागमन होता है. इससे कोरोना वायरस का प्रकोप भारत तक पहुंच सकता है.

ये भी पढ़ें:

CM योगी ने किया 'गंगा यात्रा' का शुभारंभ, बोले- कानपुर में गंगा साफ हो सकती है तो दिल्ली में यमुना क्यों नहीं?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोरखपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 7:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर