लाइव टीवी

गोरखपुर: Coronavirus की शंका मिटाने को इस संगठन ने हजारों किलो बांटी चिकन डिश
Gorakhpur News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 29, 2020, 4:44 PM IST
गोरखपुर: Coronavirus की शंका मिटाने को इस संगठन ने हजारों किलो बांटी चिकन डिश
Coronavirus की शंका मिटाने को इस संगठन ने हजारों किलो बांटी चिकन डिश

इसलिए आप लोग मटन, चिकन और मछली सब कुछ खा सकते हैं. गोरखपुर रेलवे स्टेशन के सामने हजारों लोगों ने चिकन मेले में पहुंचकर स्वादिष्ट चिकन का लुत्‍फ उठाया.

  • Share this:
गोरखपुर. गोरखपुर (Gorakhpur) में अजब-गजब चिकन मेले का आयोजन किया गया. इस दौरान पोल्‍ट्री फॉर्म एसोसिएशन ने सैकड़ों लोग चिकन मेले में 30 रुपये भर पेट थाली खाना खिलाया और लोगो ने लोगों से अपील भी किया. एसोसिएशन के अध्यक्ष विनीत सिंह ने बताया कि कोरोना वायरस (Coronavirus) के भ्रम में चिकन से दूर भाग रहे लोगों को जागरूक करने के लिए चिकन मेला लगाया गया. उन्होंने कहा कि हजारों किलो पका हुआ चिकन खिलाया गया. सिंह के मुताबिक मटन- चिकन या मछली के खाने से कोरोना वायरस नहीं होता है.

इसलिए आप लोग मटन, चिकन और मछली सब कुछ खा सकते हैं. गोरखपुर रेलवे स्टेशन के सामने हजारों लोगों ने चिकन मेले में पहुंचकर स्वादिष्ट चिकन का लुत्‍फ उठाया. आपको बता दें कि कोरोना वायरस से चीन में कई हजार लोगों की जान जा चुकी है. और कोरोना वायरस को लेकर भारत ही नहीं बल्कि देश के कोने- कोने लोग एहतियातन बरत रहे हैं. लोगो के आदर भय भी व्याप्त है.

स्वादिष्ट चिकन का लोगों ने उठाया लुत्‍फ
स्वादिष्ट चिकन का लोगों ने उठाया लुत्‍फ


वहीं पोल्‍ट्री फॉर्म एसोसिएशन भी काफी परेशान हैं. क्योकि लोगों में मुर्गे को लेकर दहशत था कि कोरोना वायरस मुर्गे से फैल रहा है. वहीं मुर्गे के व्यवपार पर भी असर पड़ा था. लेकिन अब पोट्री फॉर्म एसोसिएशन द्वारा मुर्गे के कारोबार के बढ़ावा देने और कोरोना वायरस के अफवाहों से बचने के लिये नई मुहिम छेड़ा है. जिसकी चर्चा पूरे शहर में हो रही है.



इनपुट- अनिल सिंह

ये भी पढ़ें:

प्रयागराज में बोले PM मोदी, कहा- नए भारत के निर्माण में हर दिव्यांग की उचित भागीदारी जरुरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोरखपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 29, 2020, 4:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर