यूपी सरकार यूं मनाएगी भारत छोड़ो आंदोलन की 70वीं वर्षगांठ, CM सिटी को मिला ये लक्ष्‍य

Yogi Adityanath, Gorakhpur News-उत्‍तर प्रदेश सरकार ने अगस्‍त क्रांति यानि 9 अगस्‍त को वृक्षारोपण महाकुम्भ मनाने का फैसला किया है. इसी कड़ी में सीएम योगी आदित्यनाथ के शहर गोरखपुर को 45 लाख पौधे लगाने का टारगेट दिया गया है.

RAM GOPAL DWIVEDI | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 8, 2019, 9:26 PM IST
यूपी सरकार यूं मनाएगी भारत छोड़ो आंदोलन की 70वीं वर्षगांठ, CM सिटी को मिला ये लक्ष्‍य
मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यानाथ का शहर है गोरखपुर. (फोटो-पीटीआई)
RAM GOPAL DWIVEDI | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 8, 2019, 9:26 PM IST
देश और प्रदेश के लोग शुद्ध हवा में सांस ले सकें. इसके लिए प्रदेश सरकार ने अगस्त क्रांति (Quit India Movement) के दिन यानि 9 अगस्त को पूरे प्रदेश में 22 करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य रखा है. यही नहीं, प्रत्येक जिले को टारगेट दिया गया है और इसी कड़ी में गोरखपुर को प्रदेश में पांचवें नम्बर पर रखा गया है. सूबे के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के शहर (गोरखपुर) को 45 लाख पौधे लगाने का लक्ष्‍य मिला है.

पौधे ही बनते हैं विकास की बलि
विकास की बलि बेदी पर सबसे पहले अगर कोई चढ़ता है वो पेड़-पौधे ही होते हैं. सड़क चौड़ी करनी है तो पेड़ों को काट दो, नई फैक्ट्री लगानी है और पेड़ आड़े आ रहे हैं तो उन्‍हें काट दो, इस तरह से तेजी से पेड़ काटे जा रहे हैं. यही वजह है कि धीरे-धीरे संतुलन भी बिगड़ता चला जा रहा है. जंगल तेजी से घटते जा रहे हैं और वायु प्रदूषण बढ़ता जा रहा है. जबकि शहर जितनी तेजी से कंक्रीट के जंगलों में तब्दील हो रहे हैं उतनी ही तेजी से बीमारी भी वो बांट रहे हैं.

जंगलों के कम होने से क्लाइमेट जोन भी प्रभावित हो रहे हैं और वातावरण दिन प्रतिदिन गर्म होते जा रहे हैं. बहरहाल, जहां बारिश नहीं होती थी वहां बारिश हो रही है, जहां होनी चाहिए वहां समान्य से कम बारिश हो रही है. इन सभी चीजों के लिए सिर्फ पेड़ के कटान ही जिम्मेदार हैं, लेकिन अब योगी सरकार ने इससे निपटने की ठानी है, तभी तो पिछले साल जहां पूरे प्रदेश में 9 करोड़ पौधा लगाने का लक्ष्य दिया गया था. इस साल पूरे प्रदेश में 22 करोड़ पौधे लगाए जायेंगे और गोरखपुर में 45 लाख पौधे लागने का टारगेट दिया गया है. हालांकि पिछले साल गोरखपुर में करीब 17 लाख पौधे ही लगाये गये थे यानि कि मुख्यमंत्री का शहर पूरे प्रेदश में पौधे लगाने के मामले में पांचवें नम्बर पर रहेगा.

इस साल पूरे प्रदेश में 22 करोड़ पौधे लगाए जायेंगे.


जिलाधिकारी ने कही ये बात
जिलाधिकारी का कहना है कि भले ही टारगेट कुछ कम मिला है पर वो यहां पर 50 लाख पौधों को लगवायेंगे. साथ ही मानक के अनुरूप इनमें से 80 प्रतिशत पौधों को बचा भी लिया जायेगा. इसके लिए व्यवस्था फूलप्रूफ की गयी है और पौधे लगाने में कोई गड़बड़ी न हो इसके लिए जियो टैगिंग भी की जायेगी यानि कि जिस भी विभाग को जितने पौधे लागने की जिम्मेदारी दी गयी है, उसे उन्हें ईमानदारी से निभाना होगा.
Loading...

यूं पूरा होगा लक्ष्‍य
पौधे लगाने के लिए जहां सिर्फ वन विभाग को साढ़े दस लाख का लक्ष्य दिया गया है तो वहीं अन्य विभागों को करीब 35 लाख पौधे लागने हैं. सभी विभागों ने पौधे लगाने के लए गड्डे खोद लिए हैं. जबकि गोरखपुर में सबसे आकर्षक रहेगा गांधी उपवन, कैम्पियरगंज में साढ़े चार हेक्टेयर में बनने वाले इस गांधी उपवन गांधी जी के पंसद के पौधे लगाए जाएंगे. साथ ही यहां पर पंचवटी भी बनायी जायेगी. जबकि देश की रक्षा के लिए या फिर स्वतंत्र कराने वाले गोरखपुर के लोगों के नाम पर पौधे गांधी उपवन में लगाये जायेंगे. उद्यान विभाग के अधिक्षक का कहना है कि पौधे लागने की तैयारी पूरी हो चुकी है और विभाग इस बार दो लाख पौधे लगायेगा.

ये भी पढ़ें-अब दुनिया में भदोही के साथ बजेगा कश्‍मीर का डंका, मोदी सरकार ने दूरी की सबसे बड़ी बाधा

गोरखपुर का 'जनता फ्रिज' बन सकता है देश के लिए नज़ीर, ये है वजह
First published: August 8, 2019, 8:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...