कुशीनगर: सांत्वना देने पहुंचे पूर्व राज्यमंत्री और BJP विधायक आपस में भिड़े!

जिला प्रशासन द्वारा मृतक के परिवार को चार-चार लाख के मुआवजे की घोषणा भी की थी लेकिन ग्रामीण 5-5 लाख रुपये के मुआवजे की मांग कर रहे थे.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 5, 2018, 10:54 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 5, 2018, 10:54 PM IST
कुशीनगर में एक शर्मनाक मामला सामने आया है. जिसमें सत्ताधारी और विपक्षी दल के नेता लाशों पर राजनीति करते नजर आए. आकाशीय बिजली गिरने से तीन लोगों की मौत के बाद पीड़ित परिवार को सांत्वना देने पहुंचे पूर्व राज्यमंत्री राधेश्याम सिंह और सत्ताधारी दल (बीजेपी) के विधायक पवन केडिया वाह-वाही लूटने के चक्कर में एक दूसरे से भिड़ गए. हालात यहां तक पहुंच गया कि दोनों ओर से गाली गलौज शुरू हो गई. दोनों दलों के कार्यकर्ता एक दूसरे को देख लेने की धमकी देने लगे.

इस बीच पूर्व मंत्री की गाड़ी से लाठी डंडा भी निकलने लगा. भाजपा नेता और हाटा नगर पालिका के चेयरमैन मोहन वर्मा को पूर्व राज्यमंत्री और उनके समर्थकों ने धक्का दे दिया. जिससे वे गिरते-गिरते बचे. इसके बाद माहौल गर्म हो गया. मौके पर मौजूद हाटा कोतवाली पुलिस की तत्परता से मामला बिगड़ते-बिगड़ते बच गया. सबसे शर्मनाक बात यह रही की दोनों दलों के नेता आकाशीय बिजली गिरने की घटना के बाद मृत परिवारों को भी भूल गए कि उनके मन में क्या गुजर रही होगी.

मामला हाटा कोतवाली की मुडेरा उपाध्याय गांव में आकाशीय बिजली गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई थी और पांच लोग गंभीर रूप से झुलस गए थे. घायलों की गंभीर हालत देखकर उन्हें गोरखपुर मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया था. मेडिकल कॉलेज में उपचार करने के बाद उन्हें घर भेज दिया गया था. बुधवार को कुछ लोगों की तबीयत फिर से बिगड़ गई. जिसके बाद लोग आक्रोशित हो गए. रात में शवों का पोस्टमार्टम होने के बाद परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया था. जिला प्रशासन द्वारा मृतक के परिवार को चार-चार लाख के मुआवजे की घोषणा भी की थी लेकिन ग्रामीण 5-5 लाख रुपये के मुआवजे की मांग कर रहे थे.

दोनों मुद्दों को लेकर ग्रामीण धरने पर बैठ गए. ग्रामीणों के साथ सपा के पूर्व राज्यमंत्री राधेश्याम सिंह भी धरना देने लगे. इसके बाद मौके पर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारियों ने ग्रामीणों को समझाबुझाकर मामला शांत कराया. पूर्व मंत्री राधेश्याम सिंह गांव से बाहर जा रहे थे. इसी बीच भाजपा विधायक पवन केडिया और हाटा नगर पालिका के चेयरमैन मोहन वर्मा अपने दल-बल के साथ गांव में आने लगे. रास्ते में दोनों लोगों के समर्थक मिल गए. इसी बीच किसी ने पूर्व मंत्री राधेश्याम सिंह पर बेवजह राजनीति ना करने की टिप्पणी कर दी. इसके बाद पूर्व मंत्री के समर्थक आग बबूला हो गए. दोनों तरफ से कार्यकर्ता आकोशित हो गए और गाली-गलौज करने लगे. (अशोक शुक्ल की रिपोर्ट)

पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर