अपना शहर चुनें

States

CM योगी आदित्यनाथ का दावा- पिछले 3 साल में UP में कराया 3 लाख करोड़ का निवेश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को गीडा में नए उद्योग भवन का उद्घाटन किया.
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को गीडा में नए उद्योग भवन का उद्घाटन किया.

सीएम योगी (Yogi Adityanath) ने कहा कि आजादी के बाद एक समय यूपी की प्रति व्यक्ति आय देश से दुगुनी थी, पर एक समय ऐसा भी आया कि जब यह देश की एक तिहाई हो गयी थी.

  • Share this:
गोरखपुर. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने शुक्रवार को गीडा में नए उद्योग भवन का उद्घाटन किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि साल 1989 में गीडा की स्थापना के बाद गीडा के अंदर चेंबर ऑफ इंडस्ट्रीज को अपना भवन नहीं था, जो अब जाकर बना है. पूर्वी यूपी में उद्योगों (Industries) के विकास की प्रमुख संस्था चेंबर ऑफ इंडस्ट्रीज है. सीएम के मुताबिक देश और प्रदेश में औद्योगिक वातावरण बना है. इस मामले में दुनिया में सबसे अच्छा डेस्टिनेशन भारत और उसमें यूपी बन रहा है.

सीएम ने कहा कि देश और दुनिया कोविड से जूझ रहे हैं, पर इसने हमें तकनीक से जोड़ने का काम किया है. इससे हमने बहुत कुछ नया जाना है. गीडा ने उद्योग को आगे बढ़ाने के लिए अपने स्तर से काफी प्रयास किया है. हमने 3 लाख करोड़ का निवेश पिछले 3 साल में यूपी में कराया है.

सीएम ने कहा कि आजादी के बाद एक समय यूपी की प्रति व्यक्ति आय देश से दुगुनी थी, पर एक समय ऐसा भी आया कि जब यह देश की एक तिहाई हो गयी थी. लेकिन आज ओडीओपी की नीति से लोगों को लाभ मिल रहा है. बड़े स्तर पर लोगों को लोन दिया जा रहा है.



'बड़े उद्योगों के लिए यूपी में बड़ा अवसर'
सीएम योगी ने कहा कि सरकारी स्तर पर थोड़ा प्रयास हो जाए, तो लाखों युवाओं को उनके जिले में ही रोजगार मिल सकेगा. ओडीओपी में हमने गोरखपुर में टेराकोटा का चयन किया, तो लोगों ने कहा कि इतने छोटे काम को क्यों आगे किया जा रहा है, पर यह ओडीओपी का ही असर है कि आज टेराकोटा का एक कारीगर तीन दिन में लखनऊ में 8 लाख की बिक्री कर रहा है. हमने 20 लाख हस्तशिल्प के कारीगरों को लोन दिलवाया है और स्टार्टअप शुरू करने वाले उद्यमियों को लोन दे रहे हैं. बड़े उद्योगों के लिए यूपी में बड़ा अवसर है. पहले गोरखपुर में सिर्फ एक फ्लाइट आती थी, अब 8 से 9 फ्लाइट्स यहां से आ-जा रहे हैं.



सीएम ने कहा कि एक हजार एकड़ का लैंडबैंक बनाकर हम गीडा में उद्योग लगाने का काम करने जा रहे हैं. हमने गोरखपुर को टैक्सटाइल पार्क दिया है, पर उद्यमियों को इसमें रुचि नहीं है. अधिकारी भी बैंकों से जुड़कर उद्यमियों की समस्या को दूर करें और नियमों को अधिक से अधिक सरल करें ताकि उद्यमी यहां अपना काम आसानी से कर सकें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज