लाइव टीवी

CM योगी ने मुस्लिम परिवार से मिलकर की जागरूकता अभियान की शुरुआत, कहा- नहीं छिनेगी नागरिकता
Gorakhpur News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 5, 2020, 7:09 PM IST
CM योगी ने मुस्लिम परिवार से मिलकर की जागरूकता अभियान की शुरुआत, कहा- नहीं छिनेगी नागरिकता
उपद्रवियों के साथ फोटो सेशन में व्यस्त हैं कांग्रेस

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि समाज और राष्ट्र की क्षति करने और राष्ट्र विरोधी तत्वों से मिलकर सपा कांग्रेस तृणमूल के लोग देश की विधायिका को चुनौती दे रहे हैं. 1950 में नेहरू लियाकत वार्ता में दोनों देशों के अल्पसंख्यक को सुरक्षा प्रदान करने की बात कही गई.

  • Share this:
गोरखपुर. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने नागरिकता संशोधन विधेयक (CAA) को लेकर गोरखपुर (Gorakhpur) में रविवार सुबह एक मुस्लिम परिवार से मिलकर जागरूकता अभियान की शुरुआत की. मुख्यमंत्री ने उनसे मिलकर कहा कि सीएए से किसी की नागरिकता नहीं छिनेगी, बल्कि इससे नागरिकता मिलेगी. इसे पहले गोरखपुर विश्वविद्यालय में आयोजित नागरिक संशोधन अधिनियम 2019 जन जागरण अभियान के तहत प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में सीएम योगी ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि उनके नेता उपद्रवियों के साथ फोटो सेशन करा रहे हैं. वहीं सपा पर बोलते हुए सीएम योगी ने कहा, "वो सरकार में आने पर पेंशन देने की बात कह रहे हैं, जैसे पैसा उनके बाप दादाओं ने कमाकर दिया है."

उन्होंने कहा कि कांग्रेस- सपा ने व्यापक अफवाह फैला कर हिंसा करवायी. दोनों ने समाज और राष्ट्र विरोधी तत्वों से हाथ मिलाया है. इसलिये प्रबुद्ध जनों के जरिये समाज और राष्ट्र को जागरण करने का अभियान शुरू किया गया है. कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि समाज और राष्ट्र की क्षति करने और राष्ट्र विरोधी तत्वों से मिलकर सपा, कांग्रेस, तृणमूल के लोग देश की विधायिका को चुनौती दे रहे हैं. 1950 में नेहरू लियाकत वार्ता में दोनों देशों के अल्पसंख्यक को सुरक्षा प्रदान करने की बात कही गई. बापू ने पूर्वी और पश्चिमी पाकितान के सभी अल्पसंख्यकों को भारत में आने की बात कही थी.

भारत में 6 प्रतिशत मुस्लिम आबादी बढ़ी लेकिन पाकिस्तान में हिंदुओं की आबादी घटकर 1 प्रतिशत आ गयी. एक भी भारतीय जो आज भारत में निवास करता है, वो भारत विभाजन के खिलाफ था. सीएम ने कहा कि 1947 में दुर्भाग्यपूर्ण विभाजन इस देश के हिंदू, सिख, पारसी, जैन और बौद्ध ने नहीं मांगा था. लेकिन कांग्रेस की सत्ता लिप्सा और जिन्ना की जिद ने देश का विभाजन करवाया. यह सिलसिला आज भी चल रहा है. ननकाना साहेब के पवित्र गुरुद्वारा पर हमला हुआ.



सीएम योगी ने सपा अध्यक्ष पर तंज कसते हुए कहा कि अखिलेश यादव एनपीआर का फार्म नहीं भरने की बात कहते हैं. संसद में देश की रक्षा की शपथ लेते हैं, लेकिन बाहर आकर देश की कीमत पर राजनीति करते हैं. होना तो ये चाहिए कि मोदी का अभिनन्दन विपक्ष को आगे आकर करना चाहिए था. उन्होंने कहा कि ये कार्य पहली बार नहीं हुआ है. 2003 में मनमोहन सिंह ने इसकी मांग की थी, उस समय अटल बिहारी वाजपेयी पीएम थे.



ये भी पढे़ं:

कानपुर की महिमा के मौत पर प्रियंका गांधी बोलीं- प्राथमिक मुद्दों को छोड़ फूट फैलाने में व्यस्त यूपी सरकार

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोरखपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 5, 2020, 3:54 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading