लाइव टीवी

गोरखपुर: सीएम योगी के सपनों को लगे पंख, युवाओं की पहली पसंद बना रामगढ़ का पिकनिक स्पॉट

Ram Gopal Dwivedi | News18 Uttar Pradesh
Updated: January 24, 2020, 1:14 PM IST
गोरखपुर: सीएम योगी के सपनों को लगे पंख, युवाओं की पहली पसंद बना रामगढ़ का पिकनिक स्पॉट
गोरखपुर के रामगढ़ ताल के पिकनिक स्पाॅट अब सेल्फी प्वाइट बन गया है.

युवाओं के लिए आज रामगढ़ ताल के किनारे कई सेल्फी प्वाइंट बन गए हैं उसी में से एक है "I LOVE GORAKHPUR".

  • Share this:
गोरखपुर. पूर्वांचल (Poorvanchal) को एक बड़े पर्यटक केन्द्र के रूप में उभारने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने गोरखपुर (Gorakhpur) में कई बड़े प्रोजेक्ट शुरू किए. उसी में एक है रामगढ़ ताल के सौन्द्रीयकरण की परियोजना. ये परियोजना जैसे-जैसे मूर्त रूप ले रही है, वैसे-वैसे यहां पर लोगों की भीड़ उमड़ती चली जा रही है. युवाओं के लिए आज रामगढ़ ताल के किनारे कई सेल्फी प्वाइंट बन गए हैं उसी में से एक है "I LOVE GORAKHPUR".

अगर आप गोरखपुर आएं और कोई कहे कि आपको मरीन ड्राइव ले चलता है तो चौकिएगा बिलकुल नहीं. क्योंकि यहां पर रामगढ़ ताल का सौन्दर्यीकरण मरीन ड्राइव का मजा देता है. शहर के दक्षिणी-पूर्वी छोर पर 1700 एकड़ क्षेत्र में फैला रामगढ़ ताल गोरखपुर की खुबसूरती में चार चांद लगाता है. पूर्वांचल के युवाओं की पहली पंसद बने रामगढ़ ताल को खुबसूरत बनाने में प्रशासन ने कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहा है. इसी कड़ी में नौकायान पर लग रहे "I LOVE GORAKHPUR". के सामने लोग खूब सेल्फी ले रहे हैं.

फव्वारों और लाइट एंड साउंड शो से बढ़ी खूबसूरती

योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद रामगढ़ ताल क्षेत्र की किस्मत ही पलट गई. जो ताल पहले जलकुम्भी से भरा रहता था और उस ताल की खुबसूरती निहारने के लिए लोग घंटो बैठे रहते हैं. ताल में 25 इलेक्ट्रिकल फव्वारे लगाये गये हैं, जो ताल की खुबसूरती तो बढ़ाते ही हैं साथ ही पानी में ऑक्सीजन लेवल को भी मेन्टेन रखते हैं. इसी तरह रामगढ़ ताल में शाम के वक्त लाइट एन्ड साउंड शो होता है, जो गोरखपुर और बस्ती मंडल के महत्तवपूर्ण पर्यटक स्थलों की तस्वीर खींचता है.

नौकायान पर लोग बोटिंग का मजा लेते हैं, साथ ही यहां सुबह के वक्त शहर के लोग योगा तक करते हैं. नया सवेरा योजना के तहत रामगढ़ ताल के किनारों को डेवलप किया जा रहा है, जिससे करीब तीन किलोमीटर का क्षेत्र खुबसूरत हो गया है. गोरखपुर मंडल के कमिश्नर जयंत नर्लीकर का कहना है कि ताल के साथ उसके बगल के क्षेत्र को भी खूबसूरत बनाया जा रहा है. नुमाइश ग्राउंड और चंपा देवी पार्क पर भी काम किया जा रहा है. यहां आने वाले लोगों के सुविधा के लिए आधुनिक शौचालय भी बनाये जा रहे हैं.
गोरखपुर के एक प्रमुख पर्यटन केन्द्र के रूप में उभरने से यहां के विकास में तो तेजी आयेगी. साथ ही बड़ी संख्या में लोगों को रोजगार भी मिलेगा. वहीं गोरखपुरवासियों को भी घूमने टहलने का एक बड़ा केन्द्र मिल गया है, जहां लोग मस्ती करने के साथ साथ जमकर सेल्फी भी ले रहे हैं.

अतिक्रमण से जूझ रहा था रामगढ़ तालताल के बारे में एक जनश्रुति है कि प्राचीन काल में ताल के स्थान पर एक विशाल नगर था, जो किसी ऋषि के श्राप में फंस गया. नगर ध्वस्त हो गया और वहां ताल बन गया. शुरुआती दौर में यह तालाब 6 मील लंबा और तीन मील चौड़ा था. तब इसका दायरा 18 वर्ग किलोमीटर था. अतिक्रमण के चलते अब यह 7 वर्ग किलोमीटर में सिमट कर रह गया है. लंबे समय तक इस ताल की उपयोगिता को शहरवासी समझ नहीं सके.

ये भी पढ़ें:

नागरिकता कानून को पाठ्यक्रम में शामिल करेगा लखनऊ विश्वविद्यालय!

BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा के स्वागत कार्यक्रम में महिला पुलिसकर्मी से छेड़छाड़

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोरखपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 24, 2020, 1:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर