अपना शहर चुनें

States

सीएम योगी आदित्यनाथ की बड़ी पहल, नए लुक के साथ गोरखपुर एयरपोर्ट का होगा विस्तार

 गोरखपुर एयरपोर्ट का होगा विस्तार (File photo)
गोरखपुर एयरपोर्ट का होगा विस्तार (File photo)

इसके साथ 500 यात्रियों के चेक इन करने की सुविधा मिल जायेगी. साथ ही एयरपोर्ट (Airport) का परिसर भी बड़ा हो जायेगा.

  • Share this:
गोरखपुर. गोरखपुर (Gorakhpur) के विकास में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा गोरखपुर एयरपोर्ट (Gorakhpur Airport) अब अपने नये स्वारूप में दिखेगा. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) के प्रयास से अब इसका विस्तार होगा. कोहरे के कारण पिछले दिनों जब फ्लाइट लेट हुईं तो वहां पर यात्रियों के बैठने की जगह नहीं थी. इस समस्या का भी समाधान अथॉरिटी ने निकाला है. कोरोना संकट काल में अपने सीमित संसाधन में सबसे अधिक यात्रियों का परिचालन करने वाले गोरखपुर एयरपोर्ट पर मौजूदा में 2300-2500 यात्री प्रतिदिन सफर कर रहे हैं. यहां से नौ फ्लाइट, दिल्ली, मुम्बई, हैदराबाद, कोलकाता और प्रयागराज के लिए जाती हैं. गोरखपुर एयरपोर्ट पर संसाधन सीमित है.

एक साथ 200 यात्रियों के ही चेक इन करने की सुविधा है. पर जब घने कोहरे के कारण फ्लाइट लेट हुई तो एयरपोर्ट पर यात्रियों की भीड़ लग गयी. इस भीड़ से निपटने और कोविड प्रोटोकाल का पालन करने के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी ने अब एक अस्थाई टेंट लगाने की प्रक्रिया शुरू की है. और वहां पर 200 यात्रियों के बैठने के इंतजाम किये जायेंगे, जो चेक इन के बाद फ्लाइट लेट होने पर यहां पर बैठेंगे.

एयरपोर्ट अथॉरिटी को भेजा प्रस्ताव
एयरपोर्ट डायरेक्टर प्रभाकर वाजपेयी ने बताया कि गोरखपुर एयरपोर्ट के विस्तार का भी काम अगले साल के शुरुआती महीने में शुरू होने जा रहा है. इसके विस्तार में एयरफोर्स की जमीन होने के कारण जो समस्या आ रही थी उसे दूर कर लिया गया है. अब एयरपोर्ट का विस्तार किया जायेगा. इसके साथ 500 यात्रियों के चेक इन करने की सुविधा मिल जायेगी. साथ ही एयरपोर्ट का परिसर भी बड़ा हो जायेगा. इसी के साथ एयरपोर्ट अथॉरिटी की तरफ से एक प्रस्ताव दिया गया है.
पर्यटकों की बढ़ेगी संख्या


उन्होंने बताया कि सड़क की दूसरी तरफ जो रेलवे और यूपी सरकार की जो जमीन है वहां से एक सब-वे बनाया जाए जिससे यात्रियों को और अधिक सुविधा होगी. एयरफोर्स का परिसर होने के सुरक्षा को लेकर जो परेशानी आ रही है वो दूर होगी. साथ ही यात्रियों की जांच भी दो गेट से नहीं होगा. वहीं बेहतर कनेक्टिविटी होने से पर्यटक भी बड़ी संख्या में गोरखपुर आ सकेंगे, इससे यहां पर रोजगार भी बढ़ेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज