होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

Yogi Adityanath News: कब ली थी दीक्षा और कैसे बने योगी? CM योगी आदित्यनाथ ने एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में सब बताया

Yogi Adityanath News: कब ली थी दीक्षा और कैसे बने योगी? CM योगी आदित्यनाथ ने एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में सब बताया

CM Yogi Adityanath: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर सीएम योगी ने न्‍यूज़ 18 से बेबाकी से बात की.

CM Yogi Adityanath: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर सीएम योगी ने न्‍यूज़ 18 से बेबाकी से बात की.

Yogi Adityanath Interview: उत्तर प्रदेश में होने जा रहे विधानसभा चुनाव (UP Chunav) से ठीक पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने न्यूज18 को सबसे बड़ा राजनीतिक इंटरव्यू दिया. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath News) आखिर योगी कब बने और उन्होंने कब दीक्षा ली थी, Network18 के एमडी और ग्रुप एडिटर-इन-चीफ राहुल जोशी के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में सबकुछ बता दिया. सीएम योगी ने इंटरव्यू के दौरान एक सवाल के जवाब में बताया कि उनकी दीक्षा 1994 में हुई थी और बसंत पंचमी के दिन ही वह योगी बने थे.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में होने जा रहे विधानसभा चुनाव (UP Chunav) से ठीक पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने न्यूज18 को सबसे बड़ा राजनीतिक इंटरव्यू दिया है. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath News) आखिर योगी कब बने और उन्होंने कब दीक्षा ली थी, Network18 के एमडी और ग्रुप एडिटर-इन-चीफ राहुल जोशी के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में सबकुछ बता दिया. गोरखपुर से नामांकन भरने के बाद सीएम योगी (CM Yogi Adityanath Interview) ने इंटरव्यू के दौरान एक सवाल के जवाब में बताया कि उनकी दीक्षा 1994 में हुई थी और बसंत पंचमी के दिन ही वह योगी बने थे.

यूपी चुनाव को लेकर न्यूज18 के साथ एक्सक्लूसिव बातचीत में अपनी दीक्षा के बारे में सीएम योगी ने बताया कि मेरी दीक्षा 1994 की बसंत पंचमी को हुई थी, लेकिन एक साल पहले ही गोरखपुर आ गया था. 1989 में पूज्य महंत अवैद्यनाथ के साथ मेरा संपर्क हो गया था. 1993 में मैं गोरखपुर आ गया था और फिर 1994 में मेरी विधिवत दीक्षा हुई. मैं हमेशा उनको पूज्य आराध्य और गुरुदेव मानता रहा हूं.

वहीं, पीएम मोदी के साथ अपनी केमिस्ट्री के सवाल पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पीएम मोदी देश के नेता हैं. पार्टी के सर्वोच्च नेता हैं. अभिभावक हैं. उनसे मतभेद का सवाल ही नहीं है. गृहमंत्री अमित शाह के साथ अपने संबंधों के बारे में उन्होंने कहा कि उन्होंने जो कार्य किए हैं यूपी में, उसे हर व्यक्ति ने स्वीकारा है. जो यूपी में संभव था, गांव-गांव जाकर बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं के साथ संबंध बनाकर स्वाभाविक तौर पर उन्होंने ये किया है. हमने उनकी कार्यशैली बहुत करीब से देखी है. लोक कल्याण पत्र जब बना था, तो उसे अमित शाह जी ने ड्राफ्ट कराया था. एक जिला एक उत्पाद के पीछे पीएम मोदी और गृहमंत्री का ही आइडिया था. और जब कोई नेता करेगा तो हम बोलेंगे ही. हमें बोलना ही चाहिए कि हमारे नेता ये किया है.

सोशल मीडिया पर मीडिया सलाहकार की ओर जारी तस्वीर के बारे में सीएम योगी ने कहा कि हम सब एक हैं. और कोई भी भारतीय देश के अंदर हो या भारत के बाहर हो. ये सब जानते ही हैं कि यशस्वी नेतृत्व ही भारत को आगे बढ़ाएगा. वहीं, चुनाव में पार्टी की ओर चेहरा होने के सवाल पर सीएम योगी ने कहा कि हम सभी कार्यकर्ता हैं और जो कुछ भी किया है, वो इसलिए नहीं किया है कि हम वोट मांगें. हमने जवाबदेही निभाई है. अब चुनाव में हमने जो किया है, ये अनवरत चलते रहना चाहिए इसके लिए बीजेपी हरसंभव प्रयास करेगी. हमारे लिए सत्ता सुख भोगने या प्रतिष्ठा प्राप्त करने का माध्यम नहीं है.

Tags: Assembly elections, CM Yogi Adityanath, Uttar Pradesh Assembly Elections, ​​Uttar Pradesh News

अगली ख़बर