• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • CM योगी आदित्यनाथ ने बताया आखिर क्यों वे 72 घंटे के बैन के दौरान मंदिर-मंदिर घूमे

CM योगी आदित्यनाथ ने बताया आखिर क्यों वे 72 घंटे के बैन के दौरान मंदिर-मंदिर घूमे

अयोध्या में साधु-संतों के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

अयोध्या में साधु-संतों के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

चुनाव आयोग ने मुख्यमंत्री आदित्यनाथ और बसपा सुप्रीमो मायावती पर आचार संहिता उल्लंघन के मामले में 72 और 48 घंटे का बैन लगाया था.

  • Share this:
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चुनाव आयोग द्वारा लगाए गए 72 घंटे के प्रतिबंध के दौरान हनुमान मंदिर जाने की वजह का खुलासा किया है. उन्होंने कहा कि जब बजरंगबली के बयान को लेकर चुनाव आयोग ने मुझे प्रतिबंधित किया था, तभी मैंने निर्णय लिया कि प्रदेश भर के बजरंगबली के मंदिरों में मैं जाऊंगा.

गोरखपुर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने न्यूज18 से बताया कि बैन के बाद वह लखनऊ के हनुमान मंदिर में दर्शन करने गए. उन्होंने बताया इसी कड़ी में उनका अयोध्या के हनुमानगढ़ी आने का प्रोग्राम बना. उसी दौरान एक हरिजन परिवार का निमंत्रण उनके पास आया कि अयोध्या आने पर उनके घर भी आएं. सीएम योगी ने बताया कि जब उन्‍होंने परिवार के बारे में जानकारी ली तो पता चला कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत उनका मकान बना था और वह चाहते थे कि जब मैं जाऊं तो वहां पर गृहप्रवेश का भोज भी हो जाए. जब मैं उनके घर गया तो मैंने उनसे पूछा कि मुझे क्यों बुलाया? इस पर परिवार ने बताया कि उनकी और मोदी जी की सरकार के कारण उनका मकान बन पाया है.

चुनाव आयोग ने लगाई थी रोक

गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने मुख्यमंत्री आदित्यनाथ और बसपा सुप्रीमो मायावती पर आचार संहिता उल्लंघन के मामले में 72 और 48 घंटे का बैन लगाया था. दरअसल, सहारनपुर के देवबंद में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए मायावती ने मुस्लिम मतदातों से अपील की थी कि एक भी वोट बंटने न पाए. सभी वोट गठबंधन को जाना चाहिए. इसके बाद मुख्यमंत्री ने अपनी चुनावी जनसभाओं में बजरंगबली बनाम अली का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि अगर अली उनके हैं तो हमारे बजरंगबली हैं. हिन्‍दुओं का सभी वोट हमें दे दो और बाकी का उन्हें ले लेने दो.

इन दोनों बयानों का संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग ने प्रथम दूसरे चरण के मतदान से पहले दोनों ही नेताओं पर प्रतिबंध लगा दिया था. इस दौरान मायावती घर से ही चुनावी रणनीति बनाने में जुटी रहीं तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंदिर-मंदिर भ्रमण करके मीडिया की सुर्खियां बटोरते रहे. उन्होंने बैन के पहले दिन लखनऊ के हनुमान सेतु मंदिर में पूजा अर्चना की थी. इसके बाद वह अयोध्या के हनुमानगढ़ी में दर्शन करने पहुंचे. इससे पहले उन्‍होंने एक हरिजन परिवार के घर जाकर वहां भोजन किया था. इस दौरान वह अयोध्या के साधु-संतों से भी मिले और ऐतिहासिक हनुमानगढ़ी मंदिर में पूजा अर्चना की.

प्रतिबंध के आखिरी दिन अयोध्या से सीएम योगी आदित्‍यनाथ देवीपाटन स्थित शक्तिपीठ पहुंचे और वहां पूजा की थी. वहां से मुख्यमंत्री सीधे वाराणसी पहुंचे. यहां भी उन्होंने संकटमोचन मंदिर में दर्शन-पूजन किया. अपने 72 घंटे के बैन के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंदिर दर्शन से सुर्ख़ियों में बने रहे. उन्होंने कहा था कि बजरंगबली उनके लिए आस्था का विषय हैं. चुनाव आयोग उन्हें बजरंगबली के दर्शन करने से नहीं रोक सकता.

ये भी पढ़ें:

कैंसर पीड़ित गधे के लिए आगे आईं बीजेपी प्रत्याशी मेनका गांधी, इलाज के लिए भेजा बरेली  

वीडियो वायरल करने के पीछे BJP की साजिश, जांच की मांग: तेज बहादुर यादव

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsAppअपडेट्स

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज