लाइव टीवी

देश के अंदर कुछ लोग पाकिस्तान की भाषा बोल रहे हैं: सीएम योगी
Gorakhpur News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 30, 2020, 6:28 PM IST
देश के अंदर कुछ लोग पाकिस्तान की भाषा बोल रहे हैं: सीएम योगी
सीएम योगी ने 'बापू' के सिद्धांतों पर चलने की दी नसीहत

सीएम योगी (CM Yogi) ने अपने भाषण में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी (Mahatma Ganadhi) के सिद्धांतों का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा 'आज बापू की पुण्यतिथि है उन स्थितियों में हम सब का दायित्व बनता है कि उन्होंने जो बातें कही थीं उसे अंगीकार करें, स्वीकार करें'....

  • Share this:
गोरखपुर. नागरिकता संशोधन अधिनियम (Citizenship Amendment Act) की खिलाफत करने वाले लोगों पर सीएम योगी (CM Yogi Adityanath) ने जमकर निशाना साधा. साथ ही उन्होंने लोगों को महात्मा गांधी के दिखाए रास्ते पर चलने की नसीहत भी दी. सीएम का कहना था कि 'कुछ लोग खुद को प्रबुद्ध वर्ग का मानते हैं, जिनका मानना है कि देश की बौद्धिक सम्पदा पर उनका ही अधिकार है'. इंडिया गेट पर धरना दे रहे लोगों पर तंज कसते हुए कहा कि जब उनसे CAA के बारे में और धरना क्यों दे रहे हैं पूछा गया तो उन्हे पता ही नहीं था कि वो क्यों विरोध कर रहे हैं.

देश को गुमराह कर रहे!
सीएम योगी ने आगे बोलते हुए कहा, आप एक तरफ देश की बौद्धिक सम्पदा पर अधिकार जताना चाहते हैं वहीं दूसरी तरफ देश को गुमराह कर रहे हैं. देश के अंदर विकास और एक भारत श्रेष्ठ भारत के इस वर्तमान अभियान में बाधा पैदा करना चाहते हैं. उन्होंने आगे कहा 'मैं समझता हूं कि सभ्य समाज को ऐसी भ्रम की स्थिति में न रहना चाहिए न कि ही ऐसा भ्रम पैदा करने की इजाजत देनी चाहिए. समाज स्वस्थ रूप से आगे बढ़े ये हम सबकी सामूहिक जिम्मेदारी बनती है और हम सब मिलकर आगे बढ़ें. हर एक योजना में जो लोक कल्याणकारी हो मानवता के कल्याण के लिए हो तो सबकी जम्मेदारी है. वो देश के बारे में सोचे और देश के बारे में सोच ही भारत माता के प्रति सोच है'.

महात्मा गांधी के सिद्धांतों को अपनाने की दी सीख

गोरखपुर. नागरिकता संशोधन अधिनियम की खिलाफत करने वाले लोगों पर सीएम योगी ने जमकर निशाना साधा साथ ही उन्होंने लोगों को महात्मा गांधी के दिखाए रास्ते पर चलने की नसीहत भी दी. 1947 में जब देश का दुर्भाग्यपूर्ण विभाजन हुआ तब महात्मा गांधी ने सितम्बर 1947 में कहा था कि जो लोग पाकिस्तान में रह गये हैं हिंदू हैं, सिख हैं, जैन हैं, पारसी हैं ये लोग भारत आना चाहते हैं तो इनके लिए भारत के दरवाजे हमेशा खुले रहेंगे.

यही नहीं सीएम योगी ने यह भी कहा, 'बापू की इसी प्रेरणा से 1950 में नेहरू और लियाकत अली के बीच एक समझौता हुआ था जिसमें एक-दूसरे के देश के अंदर अल्पसंख्यकों की रक्षा करना भी शामिल है, भारत ने अपने देश में हर नागरिक को सुरक्षा दी है यहां पर कोई भी भेद नहीं है. भारत के अंदर राष्ट्रपति भी और सुप्रीम कोर्ट का मुख्य न्यायधीश भी मुस्लिम हुआ है. हर संवैधानिक पद पर भारत का जन्मा हुआ कोई भी व्यक्ति जा सकता है लेकिन पाकिस्तान में वहां का राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, सुप्रीमकोर्ट का जज कोई अल्पसंख्यक नहीं बन सकता है, यही पाकिस्तान की हकीकत है, विपक्ष को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कुछ लोग पाकिस्तान की भाषा बोलने का प्रयास कर रहे हैं, इसलिए भारत के प्रत्येक नागरिक का दायित्व बनता है कि हम वर्तमान में जो भ्रम की स्थिति है उस से समाज को अवगत करायें कि देश के साथ धोखा हो रहा है कुछ लोग जगह-जगह बैठकर अनावश्यक रूप से माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं, वो लोग देश के साथ धोखा कर रहे हैं और प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से पाकिस्तान की भाषा बोल रहे हैं. हमे पाकिस्तान मंशा को सफल नहीं होने देना है क्योंकि अगर पाकिस्तान की मंशा सफल होगी तो न सिर्फ भारत के लिए बल्कि विश्व मानवता की अपूर्णीय क्षति होगी.​

ये भी पढ़ें- डिफेंस एक्सपो-2020: दुनिया देखेगी भारत की सैन्य शक्ति...जामिया फायरिंग: प्रियंका ने PM मोदी पर साधा निशाना, पूछा- वह हिंसा के साथ खड़े हैं या अहिंसा के साथ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोरखपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2020, 6:28 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर