Assembly Banner 2021

राम जन्मभूमि विवाद: CM योगी ने दिया संकेत, जल्द ही मिल सकती है खुशखबरी

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर मामले (Ayodhya dispute) पर हो रही सुनवाई पर इशारों- इशारों में कहा कि हम सबका विश्वास है कि भगवान राम की शक्ति से आने वाले समय में हम लोगों को बहुत अच्छी खुशखबरी सुनने को मिल सकती है

  • Share this:
गोरखपुर.  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister of Uttar Pradesh Yogi Adityanath) ने शनिवार को गोरखपुर के चंपा देवी पार्क में आयोजित संत मोरारी बापू ( Morari Bapu) की रामकथा का शुभारंभ  किया. इस अवसर पर योगी आदित्यनाथ ने सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर मामले (Ayodhya dispute) पर हो रही सुनवाई पर इशारों- इशारों में कहा कि हम सबका विश्वास है कि भगवान राम की शक्ति से आने वाले समय में हम लोगों को बहुत अच्छी खुशखबरी सुनने को मिल सकती है. सीएम योगी ने कहा प्रभु श्री राम मर्यादा के आदर्श हैं, जीवन में जब भी कोई कष्ट आता है तो हमे भगवान राम के जीवन से जुड़ी प्रसंग से प्रेरणा मिलती है. साथ ही सीएम ने कहा कि राम प्रत्येक व्यक्ति के घर-घर और सांस- सांस में बसे हैं.

सीएम ने कहा कि प्रभु राम हर एक घर और सांस में बसे हैं. 1990 के दशक में जब दूरदर्शन पर रामायण धारावाहिक का प्रसारण हुआ था, वह बहुत लोकप्रिय हुआ था. ऐसा लगता था कि भक्ति ही राष्ट्र की शक्ति बनी है. इसी भक्ति को प्रचारित करने के लिए संत मोरारी बापू फ्रांस गए थे. वहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मोरारी बापू की कथा सुनने गए. दुनिया के ज्यादातर भारतवंशी बापू की पावन कथा सुनते हैं.

इससे पहले सीएम योगी ने कथावाचक संत मोरारी बापू का सम्मान किया, फिर दीप प्रज्ज्वलित करके रामकथा की शुरुआत की. सीएम ने मोरारी बापू के मंच से ही रामनवमी की अग्रिम शुभकामनाएं दीं और जय श्रीराम के नारे के साथ अपना संबोधन खत्म किया.



बता दें कि रामजन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद (Ram Janm Bhoomi Babri Masjid) की सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में सुनवाई जारी है. इससे पहले मुस्लिम पक्ष अपने दिए उस बयान से पीछे हट गया कि अयोध्या (Ayodhya) के विवादित स्थल के बाहरी हिस्से में स्थित ‘राम चबूतरा’ ही भगवान राम का जन्मस्थल है. साथ ही उसने भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) की उस रिपोर्ट पर सवाल उठाए जिसमें संकेत दिया गया है कि यह ढांचा बाबरी मस्जिद (Babri Masjid) से पहले स्थित था.
(रिपोर्ट: रामगोपाल द्विवेदी)

ये भी पढ़ें:

मुजफ्फरनगर: आरोपियों का नाम हाथ पर लिख फांसी पर झूली रेप पीड़िता
झांसी: बदमाशों ने SO को मारी गोली, एनकाउंटर में मारा गया आरोपी खनन माफिया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज