UP के हर मोहल्ले में गठित होनी चाहिए कीर्तन कमेटियां, तनाव से मिलेगी मुक्ति: CM योगी
Gorakhpur News in Hindi

UP के हर मोहल्ले में गठित होनी चाहिए कीर्तन कमेटियां, तनाव से मिलेगी मुक्ति: CM योगी
गोरखपुर में मानसरोवर मंदिर के जीर्णोद्धार कार्यक्रम के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ

गोरखपुर (Gorakhpur) पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कहा कि मोहल्ले में कीर्तन कमेटियां गठित होनी चाहिए, इससे तनाव से मुक्ति मिलेगी. तनाव से मुक्ति के लिए हरि भजन से दूसरा कोई सशक्त माध्यम हो नहीं सकता. जो लोग दूसरे की शिकायत करते हैं, उन लोगों से इससे मुक्ति मिल जाएगी. लोग अच्छी दिशा में सोचने लगेंगे

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
गोरखपुर. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने गुरुवार को मानसरोवर मंदिर के जीर्णोद्धार और तीन नये बने मंदिरों में मूर्तियों के प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम में शिरकत की. इस मौके पर सीएम योगी ने जहां सभी मंदिरों में पूजा-अर्चना किया, वहीं कार्यक्रम में मौजूद छोटे-छोटे बच्चों को भी दुलारा-पुचकारा. उन्होंने कहा कि उजाड़ देना बहुत आसान होता है लेकिन बनाना बहुत मुश्किल, हम निर्माण की प्रक्रिया से जुड़ रहे हैं.

इस दौरान लोगों से मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि मोहल्ले में कीर्तन कमेटियां गठित होनी चाहिए, इससे तनाव से मुक्ति मिलेगी. तनाव से मुक्ति के लिए हरि भजन से दूसरा कोई सशक्त माध्यम हो नहीं सकता. जो लोग दूसरे की शिकायत करते हैं, उन लोगों से इससे मुक्ति मिल जाएगी. लोग अच्छी दिशा में सोचने लगेंगे. इंसान के अंदर एक सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होगा. हमारा प्रयास होना चाहिए कि गोरखपुर के अंदर जितने भी जीर्ण-शीर्ण हो चुके देवस्थल हैं, उन सभी को जन सहयोग के माध्यम से एक पवित्र माहौल बनाने का कार्य किया जाए. सीएम योगी ने कहा कि व्यक्ति को सकारात्मक ऊर्जा हमेशा आगे बढ़ाती है और नकारात्मक ऊर्जा पीछे करती है.

मंदिरों में प्लास्टिक का उपयोग न करने की अपील
इस मौके पर सीएम योगी ने कहा कि सरकार ने प्लास्टिक को प्रतिबंधित किया है. सरकार ने इस काम को इसलिए किया है कि समाज में इससे होने वाले हानि से बचाया जा सके, पर हम लोग आज भी प्लास्टिक की पन्नी (पॉलीथिन) का उपयोग कर रहे हैं. हम मंदिरों में जाते हैं प्लास्टिक में सामान लेकर जाते हैं. सामान चढ़ाने के बाद प्लास्टिक को फेंक देते हैं, जिससे परिसर गंदा होता है. प्लास्टिक नाली में जाता है जिससे नाली चोक (जाम) हो जाता है. जिसके बाद समस्या उत्पन्न होती है. प्लास्टिक में कूड़ा फेंकते हैं अगर उसे गाय ने खाया तो पन्नी उसकी आंत में फंस जाती है, जिसके कारण जानवर की मौत हो जाती है. इसलिए हम लोग प्लास्टिक का उपयोग कभी ना करें, मंदिर आस्था का प्रतीक है और उसी श्रद्धा भाव से वहां जाएं.



yogi latest1
गोरखपुर में कार्यक्रम को संबोधित करते मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ




सफाई के लिए कर्मी का इंतजार न करें
सीएम योगी ने लोगों से कहा कि सार्वजनिक संपत्ति का संरक्षण समाज का दायित्व बनता है, सामाजिक संपत्ति तभी सुरक्षित होती है जब समाज जागरूक होता है. स्वार्थी समाज से देश का विकास नहीं हो सकता है. हमारा प्रयास होना चाहिए कि मंदिर में कहीं गंदगी न हो, अगर कहीं गंदगी हो तो उसे हमें खुद साफ कर देना चाहिए, सफाईकर्मी का इंतजार नहीं करना चाहिए. यहां पर राम मंदिर का निर्माण पूरा हुआ है. अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण शुरू होने जा रहा है. बरसाने के होली का त्यौहार विश्व विख्यात है. यहां पर भी राधा-कृष्ण का मंदिर बन गया है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि सैकड़ों वर्षों से जो काम अधूरा था, वो पूरा हुआ. यहां की जनभावनाओं के अनुरूप मूर्तियों की प्राण-प्रतिष्ठा हुई है. इसके लिए हम चारों दानकर्ता, जिन्होंने मंदिर का निर्माण कराया है, उनको हृदय से शुभकामनाएं देते हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि मानसरोवर एक पवित्र मंदिर है. सैकड़ों वर्षों से गोरखपुर के लोगों का प्रमुख मंदिर रहा है. लोगों के इस तरफ ध्यान नहीं देने से धीरे-धीरे ये मंदिर जीर्ण-शीर्ण हो गया. मूर्तियां पुरानी और खंडित होने लगीं. हम लोगों ने 10 साल पहले यहां मौजूद तालाब के सौंदर्यीकरण के कुछ काम को आगे बढ़ाया था पर आज ये मंदिर जितना सुंदर है, उतना तब नहीं हो पाया था.

दुर्व्यवस्था के कारण घट गए थे श्रद्धालु
सीएम योगी ने कहा कि आज पर्यटन विभाग ने तालाब के सौंदर्यीकरण का काम अपने हाथ में लिया है और चार दानदाताओं ने मंदिर बनावा दिया. जिसके बाद ये स्थान अत्यन्त सुंदर हो गया है. बीच के कालखंड में यहां पर बहुत दुर्व्यवस्था हो गयी थी. श्रद्धालुओं की संख्या घट गयी थी. इन सारी बातों को लेकर मेरे मन में ये बात आती थी कि कहीं ये मंदिर गिर न जाए. इसके बाद इसके सौंदर्यीकरण कराने का जिम्मा उठाया तो चार दानदाता आगे आये.

CM In GKP1
कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने गुरु महंत अवैद्यनाथ को भी याद किया


सीएम योगी ने किया अपने गुरु को याद
उन्होंने कहा कि पूर्वांचल के साथ ही प्रदेश के अंदर, देश के अंदर बहुत सारे प्राचीन पड़ चुके देव मंदिर हैं. जनसहयोग से यदि हम इन मंदिरों के जीर्णोद्धार के लिए आगे आएं तो सभी मंदिर चमकते हुए नजर आएंगे. योगी ने कहा कि इस स्थान पर रहे महंत दिग्विजय नाथ जी महाराज वर्ष 1917 से लेकर 1923 तक रहे हैं. सौ वर्षों से ये स्थान जीर्णोद्धार की राह देख रहा था. चार दानदाताओं ने मंदिर निर्माण की जिम्मेदारी ली और बाकी जिम्मेदारी मुझे दे दी. उन्होंने कहा कि मेरे गुरूदेव महंत अवैद्यनाथ जब यहां पूजा करने आते थे तो कहते थे कि इस मंदिर का पुनरूद्धार क्यों नहीं करा देते हो. आज उनकी आत्मा को शांति मिली होगी.

ये भी पढ़ें:

रामपुर: आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी की दीवार पर चला बुलडोजर

सोना के साथ सोनभद्र में ये खनिज भी मिले, देश की तरक्की में देंगे अहम योगदान
First published: February 20, 2020, 4:17 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading