UP : सीएम योगी ने कोरोना और इंसेफ्लाइटिस जैसी बीमारियों से निपटने का प्रजेंटेशन देखा, बोले- तय है हमारी जीत
Gorakhpur News in Hindi

UP : सीएम योगी ने कोरोना और इंसेफ्लाइटिस जैसी बीमारियों से निपटने का प्रजेंटेशन देखा, बोले- तय है हमारी जीत
बीआरडी मेडिकल कॉलेज में मरीजों े फीडबैक लेते सीएम योगी आदित्यनाथ.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने यूपी के सातों जिलों में कोरोना और इंसेफ्लाइटिस को लेकर क्या तैयारी है, डेंगू से निपटने को लेकर क्या प्लान है, साथ अन्य संचारी रोग होने पर क्या करेंगे- सबका प्रजेंटेशन तीन घंटे से अधिक समय तक देखा, जिन जिलों में कमियां मिलीं उन्हें दूर करने के निर्देश दिए.

  • Share this:
गोरखपुर. पूर्वांचल में कोरोना वायरस (Coronavirus) के साथ-साथ इंसेफ्लाइटिस (Encephalitis) के खात्मे के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने खुद कमान संभाल ली है. सोमवार को बीआरडी मेडिकल कॉलेज (BRD Medical Collage) में सीएम योगी आदित्यनाथ क्साल रूम के प्रिसिंपल की तरह बैठे रहे हैं और गोरखपुर बस्ती मंडल के 7 जिलों के कमिश्नर और डीएम बारी-बारी से इन बीमारियों से निपटने के लिए अपनी तैयारियों के बारे में बताते रहे. सातों जिलों में कोरोना को लेकर क्या तैयारी है, इंसेफ्लाइटिस को लेकर क्या तैयारी है, डेंगू से निपटने को लेकर क्या प्लान है, साथ अन्य संचारी रोग होने पर क्या करेंगे - सबका प्रजेंटेशन तीन घंटे से अधिक समय तक देखा, जिन जिलों में कमियां मिलीं उन्हें दूर करने के भी निर्देश दिए.

योगी ने की तैयारियों की समीक्षा

साथ ही सीएम ने निर्देश दिया कि कोरोना के इस संकट काल में इंसेफ्लाइटिस को बढ़ने नहीं देना है. इसका अधिकारी विशेष प्रबंध करें. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बैठक के बाद कहा कि कोरोना के साथ-साथ जेई, एईएस, डेंगू जैसी बीमारी को रोकने के लिए व्यापक कार्ययोजना तैयार की है. हालाकि ये कार्ययोजना एक जुलाई से ही चल रही है, पर मैंने आज इसकी समीक्षा की है. क्योंकि जेई, एईएस के 90 फीसदी मामले गोरखपुर और बस्ती मंडल में ही पाए जाते हैं, और इनसे मौतें भी इन्ही दो मंडलों में होती थीं.



योगी का दावा, तीन साल में बीमारियों पर पाया काबू
पिछले तीन सालों में विभागों के तालमेल से हमलोगों ने बीमारी में 60 फीसदी और मौतों पर 90 फीसदी नियंत्रण करने में सफलता प्राप्त की थी. इस बार चैलेंज ज्यादा है क्योंकि कोरोना भी है. साथ-साथ जेई, एईएस और डेंगू भी है. मॉनसून 15 दिन पहले आ गया है. जगह-जगह जलजमाव के कारण ये समस्या गहरा सकती है. साथ ही सीएम ने कहा कि 6 जुलाई से पूरे प्रदेश में हर ग्राम पंचायत स्तर और वार्ड स्तर पर सर्विलांस की टीम सक्रिय की है. ये टीम दो तरह से काम करेगी. एक तरफ कोविड-19 की स्क्रीनिंग होगी, साथ-साथ कोई भी ऐसा लक्षण पाया जाता है तो संचारी लोगों को भी डिटेक्ट किया जाएगा. पिछले तीन सालों के अंदर गोरखपुर और बस्ती मंडल में बेहतर रिजल्ट मिला है. इस बार और बेहतर देंगे, सभी की तैयारियां पूरी हैं. इस बार चैलेंज ज्यादा है. मुझे विश्वास है कि कोरोना पर भी नियंत्रण होगा. साथ ही जेई, एईएस और डेंगू पर प्रभावी नियंत्रण होगा.

सीएम ने मरीजों से लिया फीडबैक

बैठक के पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीआरडी मेडिकल कॉलेज में स्थित इंसेफ्लाइटिस वार्ड का निरीक्षण किया. साथ मेडिकल कॉलेज इंसेफ्लाइटिस के इलाज के लिए कितना तैयार है, इसका जायजा भी लिया. मरीजों के पास जाकर उनका फीडबैक भी सीएम ने लिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading