लाइव टीवी

गोरखपुर में तीन कार वाली 'लाइट मेट्रो' चलाने की तैयारी, CM योगी ने देखा प्रजेंटेशन
Gorakhpur News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 4, 2020, 6:11 AM IST
गोरखपुर में तीन कार वाली 'लाइट मेट्रो' चलाने की तैयारी, CM योगी ने देखा प्रजेंटेशन
गोरखपुर में 'लाइट मेट्रो' चलाने की तैयारी (file photo)

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि यहां तीन कार वाले मेट्रो पर आधारित प्रस्ताव तैयार किए जाएं, जिससे भविष्य में यात्रियों की संख्या बढ़ने पर कोई समस्या न आए.

  • Share this:
गोरखपुर. गोरखपुर (Gorakhpur) मेट्रो रेल परियोजना को लेकर योगी सरकार की कोशिशें तेज हो गई हैं. इसी क्रम में शुक्रवार शाम लखनऊ में सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi AdityaNath) ने लोकभवन में मेट्रो से संबंधित कार्यों की प्रस्तुतीकरण देखा. प्रजेंटेशन देखने के बाद सीएम ने कहा कि गोरखपुर में लाइट मेट्रो (एलआरटी) ज्यादा सफल होगी. उन्होंने उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कारपोरेशन के एमडी को निर्देश दिया कि गोरखपुर रेलवे स्टेशन के पास ही मेट्रो का स्टेशन बनाएं, जिससे यात्रियों को मेट्रो से उतर कर रेलवे स्टेशन जाने में सुविधा हो.

लाइट मेट्रो के बनेंगे दो कॉरिडोर

बता दें कि गोरखपुर में लाइट मेट्रो के दो कॉरिडोर बनाए जाएंगे. जो सभी स्टेशन एलिवेटिड होंगे. इस पर करीब 4589 करोड़ रुपए खर्च होगा. पहला कारीडोर श्याम नगर से सेवई बाजार (मदन मोहन इंजीनियरिंग कॉलेज)  तक 15.14 किमी लंबा होगा, इसमें 14 स्टेशन बनाए जाएंगे. प्रस्ताव तैयार करने में ये अनुमान लगाया गया है कि वर्ष 2024 में 1.55 लाख लोग इसमें रोजाना सफर करेंगे. ये संख्या वर्ष 2031 में बढ़कर 2.05 लाख होगी, जबकि अगले दस साल यानि वर्ष 2041 तक इसमें 2.73 लाख लोग रोजाना सफर कर सकेंगे.



दूसरा कॉरिडोर बीआरडी मेडिकल कॉलेज से नौसड़ के बीच बनेगा, जो 12.70 किमी लंबा होगा, इसमें 12 स्टेशन प्रस्तावित हैं. अनुमान है कि वर्ष 2024 में 1.24 लाख लोग इसमें रोजाना सफर करेंगे. ये संख्या वर्ष 2031 में बढ़कर 1.73 लाख होगी, जबकि अगले दस साल यानि वर्ष 2041 तक इसमें 2.19 लाख लोग रोजाना सफर कर सकेंगे.

काशी, मेरठ, प्रयागराज और आगरा पर मंथन

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि यहां तीन कार वाले मेट्रो पर आधारित प्रस्ताव तैयार किए जाएं, जिससे भविष्य में यात्रियों की संख्या बढ़ने पर कोई समस्या न आए. इसके साथ ही उन्होंने वाराणसी में यातायात को लेकर मेट्रो समेत अन्य विकल्पों पर कार्य करते हुए फिजिबिलिटी रिपोर्ट तैयार करने के भी निर्देश दिए. उन्होंने मेरठ, आगरा और प्रयागराज में मेट्रो समेत अऩ्य यातायात विकल्पों पर कार्य करने में तेजी लाने के लिए कहा है.

ये भी पढ़ें:

बीमार पति को ठेले पर लेकर भटकती रही पत्नी, अस्पताल स्टाफ ने भर्ती कराने के नाम पर मांगे पैसे!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोरखपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 4, 2020, 6:11 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर