गोरखपुर: तीसरी लहर से निपटने की तैयारी, हर 5 KM पर होगी कोविड केयर की सुविधा

तीसरी लहर से निपटने तैयार हो रही योगी सरकार, हर पांच किलोमीटर पर होगी कोविड केयर की सुविधा.

तीसरी लहर से निपटने तैयार हो रही योगी सरकार, हर पांच किलोमीटर पर होगी कोविड केयर की सुविधा.

योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर गोरखपुर जिला प्रशासन जून मध्य तक जिले में हर पांच किलोमीटर पर कोविड केयर की सुविधा उपलब्ध कराने की तैयारी में जुट गया है. कोविड की दूसरी लहर में संक्रमण की रफ्तार पहली लहर से 30 से 50 गुना अधिक रही.

  • Share this:

गोरखपुर. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के निर्देश पर गोरखपुर ( Gorakhpur) जिला प्रशासन जून मध्य तक जिले में हर पांच किलोमीटर पर कोविड केयर की सुविधा उपलब्ध कराने की तैयारी में जुट गया है. कोविड (Covid 19) की दूसरी लहर में संक्रमण की रफ्तार पहली लहर से 30 से 50 गुना अधिक रही. इसे इस आंकड़े से समझा जा सकता है कि पहली लहर में जिले में एक दिन के संक्रमित मिले लोगों की सर्वाधिक संख्या 420 थी, जबकि दूसरी लहर में 1440 लोग एक दिन (25 अप्रैल) को मिले हैं. इसी को देखकर योगी सरकार अब तीसरी लहर को लेकर अभी से स्वास्थ्य इंतजामों में जुट गई है.

सीएम योगी के आदेश पर कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए गोरखपुर में डेडिकेटेड कोविड अस्पतालों की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही है. जल्द ही जिले में कोविड मरीजों के इलाज हेतु 700 से अधिक बेड और उपलब्ध हो जाएंगे. विमान निर्माता कंपनी बोइंग के सहयोग से यूपी सरकार एम्स और गोरखनाथ आयुर्वेदिक कॉलेज में 200-200 बेड का डेडिकेटेड कोविड अस्पताल बना रही है तो वीर बहादुर सिंह स्पोर्ट्स कॉलेज में बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन के सहयोग से 100 बेड का हॉस्पिटल बनेगा. सरकार बड़हलगंज के होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज में 150 बेड, चौरीचौरा सीएचसी पर 50 और हरनही सीएचसी पर 50 बेड का कोविड अस्पताल बनने की प्रक्रिया चल रही है.

दूसरी लहर में बढ़ी थी ऑक्सीजन की मांग

कोविड के सेकंड वेव में संक्रमण की रफ्तार तेज होने से ऑक्सीजन को मांग अचानक काफी बढ़ गई थी. अप्रैल माह के शुरुआती दिनों में गोरखपुर के गीडा में मोदी केमिकल्स और आरके ऑक्सीजन के प्लांटों में औसतन 2000 सिलेंडर ऑक्सीजन का उत्पादन हो रहा था. सरकार की पहल के बाद अब यहां ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता 8000 सिलेंडर प्रतिदिन की हो गई है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पहल पर ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन से शनिवार को 40 मीट्रिक टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति मिली. सरकार के निर्देश के बाद जिला प्रशासन 20 स्थानों पर ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट लगवाने की तैयारी में जुटे हैं ताकि आने वाले दिनों में ब्लॉक स्तर पर ही ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा सके. जितने भी नए कोविड अस्पताल बन रहे हैं, वहां उनका खुद का ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट तैयार कराया जा रहा है.
विशेषज्ञ इस बात की आशंका जता रहे हैं कि कोविड का तीसरा वेव जुलाई अगस्त तक दस्तक दे सकता है. इसे देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे प्रदेश में समय पूर्व तैयारी का आदेश दे रखा है. प्रशासन ने जून मध्य तक हर ब्लॉक में कम से कम 50 बेड के सभी सुविधाओं से युक्त डेडिकेटेड कोविड अस्पताल का लक्ष्य तय किया है. गोरखपुर के जिलाधिकारी के विजयेंद्र पांडियन का मानना है कि 15 जून तक हम इस स्थिति में होंगे कि शहर हो या देहात हर पांच किलोमीटर पर कोविड केयर की सुविधा उपलब्ध करा सकेंगे. तीसरे  वेव में बच्चों और महिलाओं को लेकर इंतजामों पर खासा जोर दिया जा रहा है. जून मध्य तक जिले में पांच हजार कोविड बेड की सुविधा सुनिश्चित होने की संभावना है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज