यूपी पुलिस की दबंगई, टैक्स नहीं दिया तो ले ली दलित की जान

यूपी पुलिस की घिनौनी करतूत एक बाद फिर से सामने आई है. अबकी बार भी निशाने पर निर्दोष और हाशिये पर यूपी पुलिस की साख है. मामला गोंडा से जुड़ा है,जहां शराब के कारोबार में हिस्सा न मिलने पर पुलिस की पिटाई से एक निर्दोष को अपनी जान गंवानी पड़ी है. कच्ची शराब के कारोबारियों से महीना वसूलने गए दरोगा ने सिपाहियों के साथ मिलकर त्रिलोकपुर गांव के एक दलित युवक रामबचन को लाठियों से पीट-पीटकर घायल कर दिया,जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई.

यूपी पुलिस की घिनौनी करतूत एक बाद फिर से सामने आई है. अबकी बार भी निशाने पर निर्दोष और हाशिये पर यूपी पुलिस की साख है. मामला गोंडा से जुड़ा है,जहां शराब के कारोबार में हिस्सा न मिलने पर पुलिस की पिटाई से एक निर्दोष को अपनी जान गंवानी पड़ी है. कच्ची शराब के कारोबारियों से महीना वसूलने गए दरोगा ने सिपाहियों के साथ मिलकर त्रिलोकपुर गांव के एक दलित युवक रामबचन को लाठियों से पीट-पीटकर घायल कर दिया,जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई.

यूपी पुलिस की घिनौनी करतूत एक बाद फिर से सामने आई है. अबकी बार भी निशाने पर निर्दोष और हाशिये पर यूपी पुलिस की साख है. मामला गोंडा से जुड़ा है,जहां शराब के कारोबार में हिस्सा न मिलने पर पुलिस की पिटाई से एक निर्दोष को अपनी जान गंवानी पड़ी है. कच्ची शराब के कारोबारियों से महीना वसूलने गए दरोगा ने सिपाहियों के साथ मिलकर त्रिलोकपुर गांव के एक दलित युवक रामबचन को लाठियों से पीट-पीटकर घायल कर दिया,जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई.

  • Last Updated: July 19, 2015, 3:37 PM IST
  • Share this:
यूपी पुलिस की घिनौनी करतूत एक बाद फिर से सामने आई है. अबकी बार भी निशाने पर निर्दोष और हाशिये पर यूपी पुलिस की साख है. मामला गोंडा से जुड़ा है,जहां शराब के कारोबार में हिस्सा न मिलने पर पुलिस की पिटाई से एक निर्दोष को अपनी जान गंवानी पड़ी है. कच्ची शराब के कारोबारियों से महीना वसूलने गए दरोगा ने सिपाहियों के साथ मिलकर त्रिलोकपुर गांव के एक दलित युवक रामबचन को लाठियों से पीट-पीटकर घायल कर दिया,जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई.



मृतक की पत्नी ने थाना धानेपुर में आरोपी दारोगा व सिपाहियों के खिलाफ हत्या व लूट की रिपोर्ट दर्ज कराई है. मृतक की पत्नी के मुताबिक दलित युवक रामबचन खेत से लौट रहा था,तभी उपनिरीक्षक रवीन्द्र यादव व सिपाही राजरोशन कनौजिया और राममिलन यादव ने कच्ची शराब बनाने का आरोप लगाते हुए माहवारी मांगी.



मृतक की पत्नी केवला ने बताया कि उसके पति ने शराब बनाने की बात से इंकार किया तो दरोगा व सिपाहियों ने उसे लाठियों से पीटकर मरणासन्न कर दिया. उसने आरोप लगाया है कि दरोगा व सिपाहियों ने रामबचन की जेब से 15 सौ रुपये भी निकाल लिए. मौत के बाद गुस्‍साए ग्रामीणों ने इंदिरानगर तिराहे पर युवक का शव रखकर प्रदर्शन किया. एसडीएम सदर नरेन्द्र सिंह ने पीड़ित परिवारीजनों को तीन बीघा भूमि का पट्टा व 30 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने का आश्वासन दिया, तब जाकर पांच घंटे बाद जाम समाप्त हो सका.





मामले में केवला देवी ने थाना धानेपुर में आरोपी दरोगा रवीन्द्र सिंह, सिपाही राजरोशन कनौजिया व रामममिलन यादव के खिलाफ हत्या, छिनैती व एससीएसटी एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज कराई है.पुलिस अधीक्षक आरपीएस यादव ने बताया कि रिपोर्ट दर्ज कर हत्या की धारा गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर घटना की तफ्तीश जारी है. आरोपी दारोगा व सिपाहियों को एसपी ने लाइन हाजिर कर दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज