CM सिटी में नकली असलहा और फर्जी लाइसेंस का खेल, रडार पर 40 से ज्यादा सफेदपोश

गोरखपुर के जिलाधिकारी के. विजयेन्‍द्र पाण्डियन ने बताया कि शिकायत और स्‍कैनिंग के दौरान ये मामला प्रकाश में आया. उन्होंने बताया कि मामला सामने आने के बाद प्रशासनिक और पुलिस के आलाधिकारियों ने शहर की सभी दुकानों के रजिस्‍टर को चेक किया.

News18Hindi
Updated: August 24, 2019, 7:07 AM IST
CM सिटी में नकली असलहा और फर्जी लाइसेंस का खेल, रडार पर 40 से ज्यादा सफेदपोश
CM सिटी में नकली असलहों और लाइसेंस का खेल
News18Hindi
Updated: August 24, 2019, 7:07 AM IST
भारत-नेपाल सीमा से सटे गोरखपुर में फर्जी तरीके से शस्‍त्र लाइसेंस बनाने और नकली असलहा बेचने धंधा जोरों पर चल रहा है. जांच के दौरान ऐसे 40 सफेदपोश रडार पर हैं, जिन्‍होंने फर्जी लाइसेंस पर नकली असलहा खरीदा है. अब पुलिस सभी लाइसेंस का सत्‍यापन करा रही है. बताया जा रहा है कि फर्जी लाइसेंस बनाने वाला दलाल गोपी उन लोगों को अपने जांल में फांसता था, जो लोग लाइसेंस के लिए आवेदन कर चुके हैं और इसके लिए काफी परेशान हैं.

स्‍कैनिंग के दौरान हुआ खुलासा

गोरखपुर के जिलाधिकारी के. विजयेन्‍द्र पाण्डियन ने बताया कि सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर 23 हजार बंदूकों के लाइसेंस की जांच के दौरान ये मामला प्रकाश में आया. उन्होंने बताया कि मामला सामने आने के बाद प्रशासनिक और पुलिस के आलाधिकारियों ने शहर की सभी दुकानों के रजिस्‍टर को चेक किया.

गोरखपुर के जिलाधिकारी के. विजयेन्‍द्र पाण्डियन
गोरखपुर के जिलाधिकारी के. विजयेन्‍द्र पाण्डियन


डीएम कहते हैं कि कोतवाली इलाके के टाउनहाल पर स्थित रवि गन हाउस संदेह के घेरे में हैं. उनके निर्देश पर पुलिस ने इसके पहले ही जालसाज गोरखनाथ इलाके के युवक तनवीर खान को गिरफ्तार कर लिया. डीएम की मानें तो पुलिस को उसके पास से फर्जी लाइसेंस पर खरीदा गया नकली यानी अवैध पिस्‍टल भी मिला है, जिसे जब्त कर लिया गया है. रवि गन हाउस के मालिक जो पीजीआई लखनऊ में भर्ती होने की सूचना मिली हैं. पुलिस बल के साथ मेडिकल टीम लखनऊ भेजा जाएगा.

गोरखपुर में स्थित रवि गन हाउस
गोरखपुर में स्थित रवि गन हाउस


रवि गन हाउस के मालिक की तलाश
Loading...

गोरखपुर के एसएसपी डा. सुनील कुमार गुप्‍ता ने बताया कि फर्जी लाइसेंस पर नकली असलहा बिक्री का मामला सामने आया है. जांच के दौरान दो आरोपी को गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने बताया कि फर्जी लाइसेंस पर नकली असलहा रखने वाले राप्‍तीनगर के रहने वाले विकास तिवारी, शिवम मिश्र और रवि गन हाउस के प्रोपराइटर की भी जल्द गिरफ्तारी की जाएगी. वहीं फर्जी लाइसेंस बनाने वाले दलाल गोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है.

फर्जी लाइसेंस का सारा सामान बरामद

एसएसपी की मानें तो गोपी ने अपने घर ही फर्जी लाइसेंस बनाने का सारा सामान रखा हुआ था. वहीं छापेमारी के दौरान लाइसेंस की किताब, मजिस्ट्रेट की मुहर, कई रंग के पेन, और खूब सारी फाइलें बरामद हुई हैं. डा. सुनील कुमार गुप्‍ता ने बताया कि फर्जी लाइसेंस की संख्‍या ज्‍यादा होने के कारण इसमें समय लग सकता है. लेकिन, जो भी लोग इसमें शामिल होंगे, उनमें से कोई बच नहीं पाएगा.

गोरखपुर के एसएसपी डा. सुनील कुमार गुप्‍ता
गोरखपुर के एसएसपी डा. सुनील कुमार गुप्‍ता


जानकारी के मुताबिक आरोपित तनवीर खान से पुलिस की पूछताछ में पता चला है कि 34 फर्जी लाइसेंस जारी किए गए हैं. फर्जीवाड़े के खेल में फिलहाल पांच नाम फर्जी असलहा लाइसेंस के खेल में जो नाम सामने आ रहे हैं, उसमें फर्जी असलहा लाइसेंस धारक हुमायूंपुर उत्तरी का तनवीर खान, राप्तीनगर का विकास तिवारी, खजनी का शिवम मिश्रा, लाइसेंस दलाल जमुनहिया का गोपी और गन हाउस का मालिक शामिल हैं.

एफएसएल की रिपोर्ट का इंतजार

गुप्ता ने बताया कि एएसपी के नेतृत्व में एक टीम बनाई गई है. एफएसएल की रिपोर्ट का इंतजार हैं. फिलहाल पुलिस इस सनसनीखेज मामले की जांच पड़ताल में जुटी है. पुलिस सूत्रों का दावा है कि आने वाले वक्त में इस गोरखधंधे में कई बड़े नामों पर जांच की आंच गिर सकती है.

ये भी पढ़ें:

भीम आर्मी की चेतावनी: 10 दिनों में रविदास मंदिर मुद्दा नहीं सुलझा तो करेंगे भारत बंद

धमकियों से सपा-बसपा हुईं खामोश, चिदंबरम नहीं झुके तो यह दिन देख रहे हैं: पुनिया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गोरखपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 24, 2019, 7:06 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...