गोरखपुर: पूर्व सपा विधायक का ब्‍लॉक प्रमुख बेटा कारबाइन के साथ गिरफ्तार

हालांकि ब्लाक प्रमुख के तीन साथी अभी भी फरार हैं. ऐसे में एसएसपी शलभ माथुर ने फरार आरोपियों के खिलाफ 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है.

Anil Singh | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 25, 2018, 1:52 PM IST
गोरखपुर: पूर्व सपा विधायक का ब्‍लॉक प्रमुख बेटा कारबाइन के साथ गिरफ्तार
आरोपियों की फोटो
Anil Singh | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 25, 2018, 1:52 PM IST
गोरखपुर पुलिस ने शनिवार को रंगदारी को लेकर कैंट इलाके में ताबड़तोड़ फायरिंग की घटना का खुलासा किया है. दिलचस्प है कि हॉस्पिटल के धंधे को लेकर आपसी वर्चस्व कायम करने को लेकर ब्लॉक प्रमुख प्रिंस अगम सिंह ने अपने साथियों के साथ विरोध गुट पर ताबड़तोड़ फायरिंग की वारदात को अंजाम दिया था. पुलिस ने सपा के पूर्व विधायक राजेन्द्र सिंह उर्फ पहलवान सिंह के ब्लाक प्रमुख बेटे को असलहे के जखीरे के साथ गिरफ्तार किया है. पूर्व विधायक के बेटे के पास से एक कारबाइन, नाइन एमएम की एक पिस्टल तथा भारी मात्रा में कारतूस बरामद किया है.

हालांकि ब्लाक प्रमुख के तीन साथी अभी भी फरार हैं. ऐसे में एसएसपी शलभ माथुर ने फरार आरोपियों के खिलाफ 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है. दरअसल संतकबीरनगर जिले के धनघटा थाना क्षेत्र के भैंसही गांव के मूल निवासी राजेन्द्र सिंह उर्फ पहलवान सिंह धुरियापार से विधायक रह चुके हैं. वह महेवा न्यू कालोनी टीपीनगर में रहते हैं. उनका बेटा प्रिंस उर्फ अगम सिंह संतकबीरनगर के हैसर ब्लॉक का प्रमुख है. 22 अगस्त की रात में कमिश्नर आवास के पास हुई तोबड़तोड़ फायरिंग के बाद कैंट पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम उसकी तलाश कर रही थी.

पूर्व विधायक का बेटा


एसएसपी शलभ माथुर ने प्रिंस उर्फ अगम सिंह की गिरफ्तारी के बारे में जानकारी देते हुए बताया है कि पुलिस को सूचना मिली कि कमिश्नर आवास के पास फायरिंग करने वाले अभियुक्त बिना नंबर की स्विफ्ट डिजायर से नौकायन की तरफ जा रहे हैं. जिस पर पुलिस ने मुस्तैदी दिखाते आरोपी को गिरफ्तार कर लिया.

कार की तलाशी ली गई तो उसमें कारबाइन और पिस्टल देखकर पुलिस हैरान रह गई. अगम के पास से 32 बोर की कारबाइन, मैगजीन तथा 10 कारतूस, नाइन एमएम की एक पिस्टल चार कारतूस, दो मैगजीन, 303 बोर की रायफल के दो कारतूस, 5.56 बोर रायफल के पांच कारतूस तथा एक स्विफ्ट डिजायर कार भी बरामद हुई है.

गौरतलब है कि वादी बेतियाहाता निवासी रमन सिंह और उसके चार साथियों संदीप चौहान, शुभम सिंह, राकेश उर्फ गुड्डू, सूर्य प्रकाश पर कमिश्नर आवास के सामने तीन बाइक सवार बदमाशों ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई थीं. फायरिंग में संदीप के कमर और पेट में गोली लगी थी.

यह भी पढ़ें:

बलिया की वोटर बनीं बॉलीवुड एक्ट्रेस सनी लियोनी, ऑपरेटर के खिलाफ FIR दर्ज

लखनऊ की सड़क पर दिखा UP पुलिस का ‘थर्ड डिग्री’ टॉर्चर, वीडियो वायरल

शामली: दो पक्षों में जमकर हुआ खूनी संघर्ष, गोली लगने से 4 लोग घायल
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर