गोरखपुरः मैनेजर हत्याकांड में बड़ा खुलासा, सहयोगी कर्मचारी ही निकला हत्यारा

खुलासे के मुताबिक मृतक के सहयोगी कर्मचारी संजीत यादव ने हत्याकांड को अंजाम दिया है. हत्यारोपी कर्मचारी ने पुलिस के सामने अपना जुर्म कुबूल भी लिया है. बताया जाता है मैनेजर की प्रताड़ना से तंग आकर आरोपी ने मैनेजर की हत्या को अंजाम दिया

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 21, 2018, 9:17 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 21, 2018, 9:17 PM IST
गोरखपुर जिले में मंगलवार ने पुलिस ने एक मार्केटिंग कंपनी के मैनेजर बजरंग सिंह हत्याकांड में  सनसनीखेज खुलासा किया है. खुलासे के मुताबिक मृतक के सहयोगी कर्मचारी संजीत यादव ने हत्याकांड को अंजाम दिया है. हत्यारोपी कर्मचारी ने पुलिस के सामने अपना जुर्म कुबूल भी लिया है. बताया जाता है मैनेजर की प्रताड़ना से तंग आकर आरोपी ने मैनेजर की हत्या को अंजाम दिया.

यह भी पढ़ें-गोरखपुर: प्रॉपर्टी डीलर हत्याकांड का खुलासा, इनामी बदमाश गिरफ्तार

हत्यारोपी संजीत यादव ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि मृतक मैनेजर बजरंग सिंह आए दिन उसके साथ मारपीट किया करता था, जिससे तंग आकर उसने सोते समय सिर पर डंडा मारकर मैनेजर की निर्ममता से हत्या कर दी.

बताया जाता है हत्याकोपी ने उसी डंडे से मैनेजर का कत्ल किया था, जिस डंडे से मैनेजर उसकी पिटाई किया करता था. हत्यारोपी युवक बिहार निवासी है और वारदात के बाद वह बिहार भाग गया था. हालांकि मुस्तैदी दिखाते हुए पुलिस ने उसे सीवान जिले से गिरफ्तार कर लिया.

यह भी पढ़ें-गोरखपुर: चर्चित इमरान हत्याकांड का खुलासा, सगे भाई निकले कातिल

मामला शाहपुर थाना के आवास विकास कालोनी का है, जहां गत 17 अगस्त की सुबह संदिग्ध हालत में मार्केटिंग कंपनी के मैनेजर बजरंग सिंह की लाश कमरे में पड़ी हुई मिली थी. मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने के बाद पुलिस ने मृतक के परिजनों की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया और मामले की तफ्तीश में जुट गई.

यह भी पढ़ें-VIDEO - गोरखपुर : इमरान हत्याकांड में खुलासा : सगे भाइयों ने रची थी साज़िश
Loading...
जांच के दौरान पता चला कि मैनेजर का सहयोगी संजीत यादव हत्याकांड के दिन से मौके से फरार था. शक के आधार पर पुलिस संजीत यादव की खोजबीन में लग गई और सीवान से उसकी गिरफ्तारी के बाद मैनेजर बजरंग सिंह हत्याकांड का खुलासा हो गया.

सीओ गोरखनाथ प्रवीण सिंह ने बताया कि मृतक अक्सर आरोपी संजीत यादव की पिटाई किया करता था, जिससे तंग आकर ही उसने हत्या को अंजाम दिया. सीओ ने बताया कि कंपनी में चार और लोग कार्यरत थे, लेकिन हत्याकांड में किसी और की भूमिका नहीं पाई गई.

(रिपोर्ट-अनिल सिंह, गोरखपुर)
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर