• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • गोरखपुर सीट: कभी रवि किशन के पास 'मां' को साड़ी दिलाने के लिए नहीं थे पैसे...

गोरखपुर सीट: कभी रवि किशन के पास 'मां' को साड़ी दिलाने के लिए नहीं थे पैसे...

सुपरस्टार रवि किशन

सुपरस्टार रवि किशन

17 वर्ष की उम्र में उनकी मां ने उन्हें 500 रुपए दिए थे, जिसे लेकर वह उत्तर प्रदेश से मुंबई आ गए थे. वह रामलीला में भी कार्य करते थे, जहां वह सीता की भूमिका निभाते थे.

  • Share this:
बहुत तलाशने के बाद उत्तर प्रदेश की गोरखपुर सीट पर भारतीय जनता पार्टी ने भोजपुरी सुपरस्टार रवि किशन को लड़ाई में उतार दिया. सीट मिलने के बाद रवि किशन लगातार चुनाव प्रचार में व्यस्त हैं और अपनी जीत को लेकर आश्ववस्त नजर आ रहे हैं. लेकिन एक समय था जब वह पैसों की तंगी से जूझ रहे थे और फिल्मों में रोल के लिए दर-दर भटक रहे थे. न्यूज18 से बातचीत में रवि किशन अपने स्ट्रगल के दौरान अपनी जिंदगी के बुरे वक्त के बारे में बताया कि हम लोग बहुत गरीब थे. भोजपुरी सुपरस्टार कहते हैं कि एक वक्त ऐसा था कि जब दीवाली पर मां के लिए एक नई साड़ी भी नहीं खरीद सकते थे.

रवि किशन का जन्म मुंबई में सांताक्रूज़ की एक चॉल में हुआ था. जब उनकी उम्र 10 साल की थी तब उनका परिवार डेयरी कारोबार विवाद के कारण मुंबई से उत्तर प्रदेश के जौनपुर में स्थानांतरित हो गया. 17 वर्ष की उम्र में उनकी मां ने उन्हें 500 रुपए दिए थे, जिसे लेकर वह उत्तर प्रदेश से मुंबई आ गए थे. वह रामलीला में भी कार्य करते थे, जहां वह सीता की भूमिका निभाते थे.

रवि किशन के माता-पिता


उनकी डेब्यू फिल्म “पीताम्बर” एक बी ग्रेड फिल्म थी, जिसके लिए उन्हें 5000 रुपए मिले थे. वह सलमान खान की फिल्म “तेरे नाम” 2003 से बहुत प्रसिद्ध हुए. जिसमें उन्होंने “रामेश्वर” नामक पुजारी की भूमिका अदा की थी.

रवि किशन अपने प्रसिद्ध संवाद “जिंदगी झंडबा … फिर भी घमंडबा” के लिए जाने जाते हैं. 2006 में, बिग बॉस 1 में वह फाइनल प्रतियोगी भी थे. वर्ष 2012 में उन्होंने 'झलक दिखला जा- 5' कार्यक्रम में भाग भी लिया था. वर्ष 2007 में, उन्होंने स्पाइडर-मैन फिल्म के अभिनेता पीटर पार्कर की आवाज को भोजपुरी में डब किया.

चुनाव प्रचार करते रवि किशन


रवि किशन ने बताया कि उन्हें बॉलिवुड में रोल नहीं मिल रहे थे. तब उन्हें एक भोजपुरी फिल्म मिली. इसके लिए उन्होंने अपनी मां से पूछा तो उन्होंने कहा कि अपने गांव के लोगों के लिए तुम यह काम करो. इस तरह भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में उनकी एंट्री हुई जिसके बाद उनकी जिंदगी ही बदल गई. बता दें कि 51 साल के भोजपुरी स्टार रवि किशन शुक्ला उर्फ रवीन्‍द्र श्‍याम नारायण शुक्‍ला लग्जरी गाड़ियों के शौकीन हैं. गोरखपुर सदर सीट से नामांकन के दौरान उन्होंने अपनी और पत्नी के नाम कुल चल-अचल संपत्ति करीब 21 करोड़ बताई है.

अब ये देखना दिलचस्प होगा कि लाखों की तादाद में फैन फॉलोइंग रखने वाले रवि किशन उसे वोट में कैसे बदल पाते हैं? वहीं बीजेपी की सबसे सुरक्षित सीटों की बात की जाए तो उनमें से गोरखपुर एक है. इस सीट पर अब तक 18 बार लोकसभा चुनाव हुए हैं, जिसमें से 8 बार गोरक्षपीठ का ही कब्जा रहा है.

ये भी पढ़ें:

सुप्रीम कोर्ट से याचिका खारिज होने के बाद तेज बहादुर ने बनाया ये नया 'प्‍लान'

मिर्जापुर: नॉर्थ ईस्‍ट ट्रेन के इंजन में लगी भीषण आग, बाल-बाल बचे यात्री

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

 

 

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज