सीएम योगी से आशीर्वाद लेकर रवि किशन ने विपक्ष के लिए कही ये बात...

गोरखपुर रवाना होने से पहले रवि किशन ने आज लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलकात की और उनका आशीर्वाद लिया.

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 17, 2019, 1:02 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: April 17, 2019, 1:02 PM IST
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सीट से बीजेपी प्रत्याशी रवि किशन शुक्ला बुधवार से गोरखपुर में चुनाव प्रचार की शुरुआत करेंगे. रवि किशन आज गोरखपुर पहुंचेंगे. वे किसी होटल की जगह गोरक्षनाथ मंदिर के किसी कमरे में ही ठहरेंगे और अपना कैंप ऑफिस बनाएंगे.

गोरखपुर रवाना होने से पहले रवि किशन ने लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलकात की और उनका आशीर्वाद लिया. मुलाकात के बाद उन्होंने कहा कि वे मुख्यमंत्री के साथ ही गोरखपुर जाना चाहते थे. लेकिन उनका कार्यक्रम आज अयोध्या और देवीपाटन में है. वे गुरुवार को गोरखपुर पहुंचेंगे.



मीडिया से बातचीत में भोजपुरी फिल्म स्टार रवि किशन ने कहा कि यह चुनाव देश का चुनाव है. आतंकवाद के खिलाफ चुनाव है. देश प्रेम के लिए चुनाव है. हर घर जाऊंगा, हर दरवाजा खटखटाऊंगा. योगी जी का मंत्र लेकर जा रहा हूं, विरोधियों का पता नहीं चलेगा. सपा-बसपा गठबंधन पर रवि किशन ने कहा गठबंधन एक  फ्लॉप सो है. कांग्रेस पर रवि किशन ने कहा "कांग्रेस अपना पता ढूंढ़ रही है. बीजेपी जीतेगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए चुनाव हो रहा है. प्रधानमंत्री के पास कोई बैंक बैलेंस नहीं है. 1 एकड़ जमीन नहीं है. उनका भाई किराने की दुकान पर रहता है. उनकी मां एक छोटे से कमरे में रहती हैं. यह चुनाव देश की अस्मिता का चुनाव है. देश की सुरक्षा का चुनाव है." रवि किशन ने कहा कि विपक्ष के लिए एक ही बात कहूंगा 'जिंदगी झंडबा... फिर भी घमंड बा.'

दरअसल, रवि किशन भले ही बीजेपी के सिंबल पर चुनाव लड़ रहे हों, लेकिन वह दिखाना चाहते हैं कि वे गोरक्षनाथ मंदिर के प्रत्याशी हैं. इसके पीछे की वजह इस मंदिर को लेकर लोगों की आस्था भी है. 1989 से इस सीट पर गोरखनाथ मंदिर का कब्ज़ा रहा. 2018 के उपचुनाव में बीजेपी ने उपेन्द्र शुक्ला को मैदान में उतारा था, लेकिन सपा के सिंबल पर लड़ने वाले निषाद पार्टी के प्रवीण निषाद से वह हार गए थे. जिसके बाद कहा जा रहा था कि मंदिर का कैंडिडेट न होने की वजह से यह सीट बीजेपी हारी.

लिहाजा एक बार फिर बीजेपी ने मंदिर पर दांव खेलते हुए योगी आदित्यनाथ की पसंद पर रवि किशन को मैदान में उतारा है. रवि किशन भी यह जता रहे हैं कि वह योगी और मंदिर के कैंडिडेट हैं. साथ ही खुद को बाहरी की जगह बढ़हलगंज के शुक्ला बता रहे हैं.

दरअसल, उनका मुकाबला सपा के रामभुआल निषाद से है. रवि किशन को उम्मीद है कि बीजेपी की प्रचंड लहर में वह इस सीट से जीत जरूर दर्ज करेंगे. इससे पहले वे मंगलवार देर शाम लखनऊ पहुंचे थे, जहां कार्यकर्ताओं ने उका जोरदार स्वागत किया था. मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा था कि गठबंधन से उनकी कोई टक्कर नहीं है और वे जीत रहे हैं.

ये भी पढ़ें:76 की उम्र में 17वीं बार फिर मैदान में मथुरा के फक्कड़ बाबा, 16 बार हो चुकी है जमानत जब्त

आजम के बयान पर आगे आएं अखिलेश यादव और मायावती: केशव प्रसाद मौर्य

नेताओं की बदजुबानी जारी, BSP प्रत्याशी गुड्डू पंडित ने राज बब्बर को जूतों से मारने की खाई कसम

जया प्रदा का आजम खान पर हमला, बोलीं -भाई को भाई कहना गुनाह है तो मैं गुनहगार हूं

क क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार