अपना शहर चुनें

States

CM योगी ने गोरखपुर में फहराया प्रदेश का सबसे ऊंचा तिरंगा, दिखेगा 15 KM दूर से

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर से रामगढ़ताल में 246 फुट ऊंचा तिरंगा झंडा फहराया है
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर से रामगढ़ताल में 246 फुट ऊंचा तिरंगा झंडा फहराया है

गोरखपुर के रामगढ़ताल में फहराया गया तिरंगा (Tallest Tricolour Flag In Gorakhpur) 246 फीट ऊंचा है जो इससे भी 35 फीट ज्यादा है. यहां फहराए गए तिरंगे का क्षेत्रफल 540 वर्ग फुट है. साथ ही यह देश में सातवां सबसे ऊंचा फहराया गया तिरंगा झंडा है

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 13, 2021, 10:12 PM IST
  • Share this:
गोरखपुर. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने एक और इतिहास रचा है. बुधवार को उन्होंने गोरखपुर (Gorakhpur) के रामगढ़ताल में प्रदेश का सबसे ऊंचा तिरंगा झंडा (National Flag) फहराया है. अभी तक गाजियाबाद (Ghaziabad) के मुखर्जी पार्क में प्रदेश का सबसे ऊंचा 211 फीट का राष्ट्रीय ध्वज फहराया हुआ है. गोरखपुर में फहराया गया तिरंगा (Tallest Tricolour Flag In Gorakhpur) 246 फीट ऊंचा है जो इससे भी 35 फीट ज्यादा है. यहां फहराए गए तिरंगे का क्षेत्रफल 540 वर्ग फुट है. साथ ही यह देश में सातवां सबसे ऊंचा फहराया गया तिरंगा झंडा है.

यदि देश के सबसे ऊंचे तिरंगे की बात करें तो पहले नंबर पर अमृतसर के बाघा बॉर्डर पर 360 फुट पर फहराया हुआ झंडा आता है. इसके बाद- पुणे में 310 फुट पर, गुरदासपुर में 300 फुट पर, हैदराबाद में 296 फुट पर, फरीदाबाद में 276 फुट पर राष्ट्रीय ध्वज लहरा रहा है. इनके बाद अब गोरखपुर में 246 फुट की ऊंचाई पर तिरंगा लहराएगा.

दिसंबर 2017 में एक स्थानीय युवा व्यापारी अमर तुलस्यान के मन में यह बात आई कि क्यों न गोरखपुर में प्रदेश का सबसे ऊंचा तिरंगा लहराया जाए. जिसके बाद उनकी टीम ने इस दिशा में योजना बनाते हुए जिला प्रशासन की अनुमति लेकर काम शुरू किया. शुरू में कुछ अड़चनें आई पर समय के साथ वो सभी बाधाएं दूर हुईं और आज गोरखपुर के रामगढ़ताल में प्रदेश का सबसे ऊंचा तिरंगा आसमान में लहरा रहा है. खास बात है कि इस राष्ट्रीय ध्वज को 15 किलोमीटर की परिधि से देखा जा सकेगा.



गोरखपुर के जिलाधिकारी (डीएम) के विजयेन्द्र पाण्डियन का कहना है कि यह गर्व की बात है कि प्रदेश का सबसे ऊंचा तिरंगा यहां लहरा रहा है. उन्होंने कहा कि इससे रामगढ़ताल की सुंदरता में, और इतिहास जुड़ गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज